विधायकों को रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही सत्र में शामिल होने का मौका मिल सकेगा

Uttarakhand Assembly Monsoon Session: उत्तराखंड विधानसभा के मानसून सत्र से पहले विधायक आवास में कैंप लगाकर कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए जा रहे हैं। विधायकों को रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही सत्र में शामिल होने का मौका मिल सकेगा।

इसको देखते हुए सभी अपनी कोरोना की जांच करा रहे हैं। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के निर्देशों के बाद रेसकोर्स स्थित विधायक आवास में विधायकों के सैंपल लिए जा रहे हैं।

  • दरअसल, 23 सितंबर से विधानसभा का मानसून सत्र आयोजित होना है। इसके लिए सभी की कोविड जांच चल रही है।
  • एक ओर जहां, विधायक आवास में विधायकों के सैंपल लिए गए।
  • 61 कार्मिकों के भी कोविड-19 एंटीजन टेस्ट करवाया गया, जिसमें विधानसभा अध्यक्ष कार्यालय के तीन कार्मिक पॉजिटिव पाए गए है।
  • इसमें समीक्षा अधिकारी, एपीएस और स्टाफ गाड़ी का चालक शामिल है। वहीं, एक सचिवालय के एक चालक में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है।
  • विधानसभा सत्र से पहले सभी की कोरोना जांच इसलिए की जा रही है, जिससे मानसून सत्र के संचालन में पूरी तरह से सुरक्षा बरती जा सके और सभी कोरोना से सुरक्षित रहें। 

कैंप कार्यालय के कर्मचारियों की कोविड जांच 

  • विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनके ऋषिकेश स्थित कैंप कार्यालय के कर्मचारियों की भी कोविड जांच कराई जा रही है।
  • यहां 12 कर्मचारियों का स्टाफ है, जिनमें पांच कर्मचारी ऐसे हैं जिन्हें पिछले तीन दिन में कुछ न कुछ शिकायत रही है।
  • इनका सोमवार को एम्स ऋषिकेश में कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया। इनमें विधानसभा अध्यक्ष का गनर, एस्कॉर्ट में तैनात उपनिरीक्षक, एक सिपाही और दो अन्य स्टाफ शामिल है।
  • विधानसभा अध्यक्ष के विशेष कार्याधिकारी ताजेंद्र नेगी ने बताया कि शेष सात कर्मचारियों को होम क्वारंटाइन किया गया है। इन्हें फिलहाल कोई शिकायत नहीं है। पांच दिन बाद उनकी भी जांच की जाएगी।
  • विधानसभा अध्यक्ष के यहां आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने वाले पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को भी पांच दिन तक होम क्वारंटाइन की सलाह दी गई है।