बेहद मनोरम पयर्टक स्थल है ऊटी

ooty23416आज हम आपको बताने जा रहे हैं क्वीन ऑफ हिल स्टेशन ऊटी के बारे में जो तमिलनाडु के नीलगिरी जिले में स्थित है। ऊटी का आधिकारिक नाम उटकमंड है जिसे देश विदेश से आने वाले पर्यटकों की सुविधा के लिए ऊटी नाम दिया है। यहां आपको चारों तरफ नीलगिरी पहाड़ियाँ देखने को मिलेंगी जो ऊटी की सुंदरता को और भी बढ़ा देती हैं, अगर आपको भी प्राकृतिक स्थलों को देखने में खास रुचि है और साथ ही प्रकृति के सौंदर्य को देखने की चाहत रखते हैं तो एक बार आपको ऊटी जरूर जाना चाहिए।

ऊटी में कई सारी ऐसी जगहें हैं जहां जाकर आप प्रकृति का आनंद उठा सकते हैं, हम आपको यहां के कुछ विशेष स्थानों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको ऊटी से नज़दीक ही पड़ते हैं। ऊटी झील- यहां का मुख्य आकर्षण ऊटी झील है जहां हर साल लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं। इस झील में आप मोटर बोट, पैडल बोट औऱ रो बोट से बोटिंग का मज़ा ले सकते हैं और साथ ही मछली पकड़ने के शौकीन हैं तो उसका आनंद भी आप यहां ले सकते हैं। बच्चों के लिए खिलौना गाड़ी भी आपको यहां देखने को मिलेगी।

बोटनिकल गार्डन- ये खूबसूरत गार्डन 22 एकड़ में फैला हुआ है। प्रकृति प्रेमियों के बीच ये गार्डन काफी प्रसिद्ध है। यहां पर आपको कई किस्म के दुर्लभ पेड़ पौधे, रंग बिरंगे लिली के फूल और एक पेड़ के जीवाश्म देखने को मिलेंगे। इस पेड़ के बारे में कहा जाता है कि ये पेड़ 2 करोड़ साल पुराना है, मई के महीने में इस गार्डन में ग्रीष्मोत्सव मनाया जाता है। दोड्डाबेट्टा पीक- इस चोटी को नीलगिरी की सबसे ऊंची चोटी माना जाता है जो ऊटी से केवल 10 किमी दूर पड़ती है, यहां आप दूरबीन की सहायता से पूरे ऊटी के मनमोहक नज़ारे देख सकते हैं।

कोलहट्टी वॉटरपार्क- ऊटी जाकर इस वॉटरपार्क जाना ना भूलें, जो कि ऊटी से केवल 13 किमी दूर पड़ता है। ये वॉटरपार्क 100 फीट ऊंचा है। साथ ही आपको यहां कुछ वन्य प्राणियों की प्रजातियां भी देखने को मिलेंगी जैसे कि पैंथर, सांभर और जंगली भैंसा। कोटागिरी- ऊटी का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है कोटागिरी जो कि एक बहुत ही खूबसूरत घूमने की जगह है। कोटागिरी ऊटी से महज़ 28 किमी की दूरी पर पड़ता है जहां मौसम पूरे साल खुशनुमा बना रहता है। आपको यहां सुंदर सुंदर चाय के बागान और रिजोर्ट भी देखने को मिलेंगे। कोटागीरी नीलगिरी के तीन हिल स्टेशनों में से सबसे पुराना हिल स्टेशन है।  रोज़ गार्डन- रोज़ गार्डन 10 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है जहां अलग अलग तरह के 20,000 गुलाब के फूल देखने को मिलते हैं जो कि अलग अलग रंगों व आकार में पाए जाते हैं, इसके अलावा यहां पर कई मनोरम टनल्स औऱ अन्य कलाकृतियां भी हैं।