RSS की तीन दिवसीय बैठक गुरुग्राम में आयोजित होगी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के उत्तर क्षेत्र कार्यकारी परिषद की तीन दिवसीय बैठक में ‘लव जिहाद (Love Jihad), कोविड-19 (Covid-19) के कारण आजीविका पर पड़े प्रभाव और किसानों द्वारा नए कृषि कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन’ जैसे कुछ मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है.

वार्षिक दिवाली बैठक और अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल

  • उत्तर क्षेत्र कार्यकारी परिषद की ये बैठक 11 नवंबर से 13 नवंबर तक गुरुग्राम में आयोजित होगी.
  • इस साल कोरोना महामारी के चलते आरएसएस ने अपने वार्षिक प्रथागत ‘अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल’ और ‘वार्षिक दिवाली बैठक’ को दो क्षेत्रों में विभाजित किया है.
  • ये बैठक गुरुग्राम के सेक्टर -9 स्थित एसएन सिद्धेश्वर स्कूल में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और भैयाजी जोशी जैसे वरिष्ठ पदाधिकारियों की मौजूदगी में आयोजित होगी.
  •  इस बैठक में हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात करने की संभावना है.

आरएसएस के एक अधिकारी ने बताया, ‘बैठक में खासतौर पर हरियाणा में बढ़ते लव जिहाद और धर्मांतरण जैसे गंभीर मुद्दों पर चर्चा हो सकती है. हरियाणा सरकार भी प्रदेश में बढ़ते लव जिहाद और जबरन धर्मांतरण के मामलों को लेकर चिंतित है’.

हालांकि, हरियाणा के आरएसएस प्रमुख पवन जिंदल ने इस बात से साफ इनकार किया कि ‘लव जिहाद’ का मुद्दा बैठक में चर्चा के लिए आएगा.

जिंदल ने कहा, ‘बैठक में, RSS द्वारा लॉकडाउन की अवधि के दौरान प्रदान की गई सेवाओं के विषय पर चर्चा होगी. इसके अलावा, हम पिछले साल किए गए कार्यों की समीक्षा भी करेंगे और अगले साल के लिए एक योजना भी बनाएंगे’.