भारत बंद को लेकर अखिल भारतीय व्यापारियों का परिसंघ-CAIT का बयान

भारत बंद के ऐलान के बाद 15 डिस्ट्रिक्ट की पुलिस को अलर्ट

  • सरकार भी इसमें सहयोग दे यह भी जरूरी है. उन्होंने कहा की किसान संगठनों को इस बारे में पहल करते हुए कृषि से जुड़े सभी वर्गों के साथ बातचीत का सिलसिला शुरू करना चाहिए.
  • बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से बुलाए गए बंद में लोगों से शामिल होने की अपील की है. किसानों के भारत बंद का कांग्रेस आम आदमी पार्टी ने भी समर्थन किया है.
  • संयुक्त किसान मोर्चा ने दावा किया है कि 40 किसान संगठनों ने भारत बंद का समर्थन किया है. दिल्ली पुलिस ने भारत बंद के ऐलान के बाद 15 डिस्ट्रिक्ट की पुलिस को अलर्ट पर रखा है.

व्यापारियों द्वारा किसानों के मुद्दे पर व्यापार बंद करने का कोई मन है : प्रवीन खंडेलवाल

  • विभिन्न किसान संगठनों द्वारा आज देश भर में भारत बंद के आह्वान के बाद भी दिल्ली सहित देशभर के बाज़ारों में कोई असर नहीं हुआ. दिल्ली सहित सारे बाजार पूरी तरह खुले रहें बाज़ारों में कारोबारी गतिविधियां सामान्य रूप से चलीं.
  • Confederation of All India Traders-CAIT के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने किसान नेताओं को सलाह दी है की वो संघर्ष का रास्ता छोड़कर सरकार से बातचीत के रास्ते तलाशें.
  • भारतीय एवं खंडेलवाल ने बताया की भारत बंद को लेकर किसी भी किसान संगठन ने न तो हमसे संपर्क किया एवं न ही व्यापारियों द्वारा किसानों के मुद्दे पर व्यापार बंद करने का कोई मन है.
  • उन्होंने कहा की अड़ियल रूख से किसी भी समस्या का समाधान संभव नहीं है. यह सत्य है की किसान आंदोलन अब अप्रासंगिक हो गया है इसके कथित रूप से लम्बे चलने से देश के किसानों का बड़ा नुकसान हो रहा है.
  • भरतिया एवं खंडेलवाल ने कहा की इसमें कोई शक नहीं है की आजादी के 75 वर्ष बाद भी देश का किसान नुकसान की खेती कर रहा है. कृषि से जुड़े सभी वर्गों को एक साथ बैठकर किसान की खेती लाभ की खेती में कैसे बदले, यह प्रयास करना आवश्यक है.