सड़क किनारे न हो अतिक्रमण

अल्मोड़ा। जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने समस्त उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिये है कि वे सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी के साथ समन्वय बनाकर अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत सड़क सुरक्षा समिति का गठन अनिवार्य रूप से करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि यदि कोई नबालिग बाईक या स्कूटर व अन्य वाहन चला रहा है तो मौके पर ही उसका चालान पुलिस विभाग के अधिकारी व उपजिलाधिकारी करना सुनिश्चित करेंगे।

जिलाधिकारी ने बताया कि सड़क सुरक्षा के बारे में स्वयं स्कूलों में जागरूकता अभियान चलाया जायेगा इस अभियान में सभी सड़क सुरक्षा समिति से जुड़े अधिकारी उपस्थित रहेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि आम आदमियों व बच्चों को सड़क सुरक्षा के बारे में जागरूक करने के लिए स्थान-स्थान स्लोगन व वाल पेटिंग की जायेगी। इसके लिए जिला योजना में धनराशि का प्राविधान किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग व सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिये कि जहाॅ पर दुर्घटनाओं की सम्भावना बनी रहती है उन स्थानों को चिन्हित कर लें ताकि वहाॅ पर रेडियम मार्क लगाये जाय। जिलाधिकारी ने इस बात पर नाराजगी व्यक्त कि विभिन्न एजेन्सियों द्वारा केबल बिछाया जा रहा है लेकिन अनुबन्ध के अनुसार उसे ढॅकने की व्यवस्था प्रभावी ढ़ग से नहीं की जा रही है जिससे सड़क दुर्घटनाओं की सम्भावना बनी रह रही है।

इस पर जिलाधिकारी लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि ऐसे सभी एजेन्सियों को चिन्हित कर लिया जाय और उन्हें आगाह कर दिया जाय कि वे सड़क खोदने के बाद उसका समतलीकरण करना भी प्राथमिकता से करें। इसके बावजूद भी यदि किसी स्तर पर लापरवाही बरती जायेगी तो उसे गम्भीरता से लिया जायेगा। जिलाधिकारी ने नगरपालिका के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिससे सड़क सुरक्षा में असुविधा हो ऐसे फड़ो को चिन्हित कर उन्हें हटाने की व्यवस्था की जाय साथ ही सड़क किनारे में किसी भी तरह से अतिक्रमण न हो इसका ध्यान रखा जाय।

जिलाधिकारी ने इस अवसर पर कहा कि विद्यालयों में सड़क सुरक्षा के साथ-साथ बढ़ती हुई नशा प्रवृत्ति को रोकने के लिए छात्र-छात्राओं को जागरूक करने का कार्यक्रम चलाया जायेगा जिससे कि दुर्घटनाओं से बचा जा सके। उन्होंने बताया कि सड़क सुरक्षा से सम्बन्घित बैठक का आयोजन प्रत्येक माह करने के निर्देश शासन से प्राप्त हुए है। इस जनपद में निर्णय लिया गया है कि अब आगामी माह के अन्तिम शुक्रवार को इस बैठक का आयोजन किया जायेगा। इस बैठक में मुख्य शिक्षाधिकारी के उपस्थित न रहने पर भी जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की और कहा कि सड़क दुर्घटनाओं के अधिकतर मामले छात्र-छात्राओं के प्रकाश में आते है।

इस सम्बन्ध में उन्होंने शिक्षा विभाग के उपस्थित प्रतिनिधि को निर्देश दिये कि वे मुख्य शिक्षाधिकारी, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी से मिलकर एक कार्यक्रम तय कर लें। इस महत्वपूर्ण बैठक में अनेक समाजिक लोग भी उपस्थित थे उन्होंने लाला बाजार सहित अन्य स्थानों पर अनियन्त्रित ढ़ंग से वाहन खड़े करने सहित अनेक बातो पर प्रकाश डाला। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि उप पुलिस अधीक्षक ऐसे स्थलो को चिन्हित कर समस्या का समाधान करना सुनिश्चित करेंगे। इस बैठक में कोसी-मटेला मार्ग में जहाॅ पर दुर्घटनाओं की सम्भावना है उसे सही करने, चितई में स्पीड बे्रकर लगाने, आकाशवाणी के समीप जहाॅ रोड़ जहाॅ कम चैड़ी उसे चैड़ीकरण करने सहित जहाॅ पर माल रोड में रोड कम चैड़ी है वहाॅ पर नाली के ऊॅपर स्लैब डालकर यदि सम्भव हो सके तो उसकी व्यवस्था करना सुनिश्चित किया जाय इसके लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारी कार्य करेंगे।

इस बैठक में सहायक संभागीय अधिकारी पूजा नयाल ने शासन से प्राप्त निर्देशों पर प्रकाश डाला और समय-समय पर परिवहन विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों के बारे में भी बताया। इस बैठक में श्रीमती रीता दुर्गापाल, आनन्द सिंह बगड़वाल, गिरीश मल्होत्रा सहित अन्य ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने भी अनेक सुझाव रखे और आश्वस्त किया कि निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जायेगा। इस महत्वपूर्ण बैठक में प्रभारी अधिकारी रजा अब्बास, पुलिस उपाधीक्षक आर0एस0 टोलिया सहित अनेक सड़क सुरक्षा समिति से जुड़े अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply