परीक्षा के सफल एवं शांतिपूर्ण संचालन हो: चौहान

रूद्रप्रयाग। संस्कृत विद्यालयो की वर्ष 2016 की पूर्व मध्यमा द्वितीय वर्ष एवं उत्तर मध्यमा की द्वितीय वर्ष की परिषदीय परीक्षा  09 मई से 17 मई,2016 तक जनपद रुद्रप्रयाग के परीक्षा केन्द्र राजकीय बािलका इन्टर कालेज अगस्त्यमुनि में आयोजित की जा रही है। परीक्षा के सफल संचालन को लेकर उप जिला मजिस्टेªट रूदप्रयाग सीएस चैहान ने सब डिवीजन रूद्रप्रयाग की सीमान्तर्गत स्थित परीक्षा केन्द्र पर दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू की है। परीक्षा अवधि में कतिपय असामाजिक तत्वों द्वारा शांति भंग करने के प्रयास किये जा सकते है, जिससे परीक्षा के सफल संचालन में कठिनाईयाॅ पैदा हो सकती है।

उप जिला मजिस्टेªट ने बताया कि परिषदीय परीक्षा के सफल एवं शांतिपूर्ण संचालन हेतु सब डिवीजन रुद्रप्रयाग की सीमान्तर्गत स्थित राजकीय बालिका इन्टर कालेज अगस्त्यमुनि के परीक्षा केन्द्र से 100 मीटर की परिधि में पाॅच या पाॅच अधिक व्यक्ति एक स्थान पर एकत्रित नहीं होंगे। परीक्षार्थी और परीक्षा संचालक इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। परीक्षा केन्द्र की 500 मीटर परिधि के अन्दर सार्वजनिक सभा, जूलूस, जश्न के रूप में कोई उत्सव रैली आदि नहीं निकालेेेंगे। उन्होने बताया कि परीक्षा के दौरान कोई भी व्यक्ति सव डिवीजन रुद्रप्रयाग की सीमान्तर्गत बिना अनुमति आग्नेयास्त्र, लाठी, डण्डा, चाकू, हाकी स्टीक, खुखरी, तलवार, कोई तेज धार वाला शस्त्र, पटाखे, बम व अन्य ज्वलनशील पदार्थ किसी प्रकार की बारूद, या बिना बारूद वाला शस्त्र जिसका प्रयोग हिंसा के लिये या जन साधारण को डराने, धमकाने के लिये या कोई अपराध करने के लिये जैसे असामाजिक, अवंछनीय अपराध, कृत्य भी सम्मिलित हैं को लेकर नहीं चलेगा। साथ ही इस अवधि में कोई भी व्यक्ति या समूह किसी प्रकार भड़काने वाले तथा उत्तेजनात्मक भाषण, जूलूस प्रदर्शन, ध्वनि विस्तार यंत्र का प्रयोग नहीं करेगा। जिससे परिशांति भंग होने का खतरा हो या परीक्षा में व्यवधान हो। परीक्षा केन्द्र के आस-पास मार्गो पर, पैदल मार्गो पर न तो कोई व्यक्ति रोडा अटकायेगा न ही ऐसा करने का प्रयास करेगा। उन्होंने बताया कि आदेशों का उल्लंघन भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 के अन्तर्गत दंण्डनीय होगा। कहा कि यह आदेश 09 मई से तत्काल प्रभाव से लागू होगा एवं 17 मई, 2016 तक या परिषदीय परीक्षाओं के समाप्त होने तक प्रभावी रहेगा।