भारत माता के मुकुट में प्रधानमंत्री ने एक रत्न और जड़ दिया है – रक्षा मंत्री

  • आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने मनाली-लेह मार्ग (Manali-Leh Road) पर 9.02 किलोमीटर लंबी अटल टनल (Atal Tunnel) उद्घाटन किया।
  • इस दौरान वहां पर पीएम मोदी के साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath singh) भी मौजूद थे। 
  • रक्षा मंत्री ने इस टनल के लेकर कहा कि हमारे प्रधानमंत्री ने अटल टनल, रोहतांग के रूप में भारत माता के मुकुट में एक रत्न और जड़ दिया है।
  • इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सीमा सड़क संगठन ने निर्माण की अनुमानित लागत के भीतर अटल सुरंग का निर्माण पूरा किया।
  • यह सुरंग हमारी सीमाओं की रक्षा करने वाले सैनिकों और सीमावर्ती क्षेत्रों के आसपास रहने वालों को समर्पित है।

समुद्र तल से 10,000 फीट की ऊंचाई पर है ये टनल

  • मनाली को लाहौल-स्पीति घाटी से जोड़ने वाली 9.02 किलोमीटर लंबी अटल सुरंग दुनिया की सबसे लंबी राजमार्ग सुरंग है।
  • सामरिक रूप से महत्वपूर्ण यह सुरंग हिमालय की पीर पंजाल श्रृंखला में औसत समुद्र तल से 10,000 फीट की ऊंचाई पर अति-आधुनिक विशिष्टताओं के साथ बनाई गई है।
  • अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने रोहतांग दर्रे के नीचे सामरिक रूप से महत्वपूर्ण इस सुरंग का निर्माण कराने का निर्णय किया था और सुरंग के दक्षिणी पोर्टल पर संपर्क मार्ग की आधारशिला 26 मई 2002 को रखी गई थी।

आसानी से पहुंचेंगे लद्दाख और पाकिस्तान सीमा पर

  • बता दें कि ये टनल पीरपंजाल की पहाड़ी को भेद कर 3300 करोड़ की लागत से बनी है और ये दुनिया की सबसे ऊंचाई पर हाईवे पर बनी है।
  • टनल शुरू होने से अब लाहौल के लोग सर्दियों में बर्फबारी के चलते छह माह तक शेष दुनिया से नहीं कटेंगे।
  • सेना इस मार्ग से चीन से सटी सीमा लद्दाख और पाकिस्तान से सटे कारगिल तक आसानी से पहुंच जाएगी।