व्यवस्थाओं पर समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश

9 पिथौरागढ़।  उत्तराखण्ड के महामहिम राज्यपाल के सलाहकार रवीन्द्र सिंह तथा प्रकाश मिश्रा द्वारा अपने जनपद पिथौरागढ़ के दो दिवसीय भ्रमण के दौरान आज द्वितीय दिवस को प्रातः मुनस्यारी से प्रस्थान कर हैलीकाॅप्टर द्वारा गुंजी पहुंचकर गुंजी में आई0टी0बी0पी0, बी0आर0ओ0 के साथ ही क्षेत्रीय ग्रामीणों से मुलाकात की उन्होंने गुंजी में सीमा सड़क संगठन द्वारा सीमा क्षेत्र में बनाई जा रही सड़क निर्माण की प्रगति के संबंध में अधिकारियों से जानकारी ली तथा उन्हें सड़क निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये इस दौरान बी0आर0ओ0 से आये अधिकारियों द्वारा अवगत कराया कि 2018 तक उक्त सड़क का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाना है इस हेतु कार्य तेजी से कराये जाने हेतु निजी कम्पनी से भी कार्य कराये जाने की कार्यवाही की जा रही है। दोनों सलाहकारों द्वारा सीमान्त क्षेत्र में निर्माणाधीन सड़कांे का भी निरीक्षण किया गया उन्होंने क्षेत्र में जितने भी मोटरपुल बनने है उनका कार्य शीघ्र पूर्ण करने के भी निर्देश दिये इस दौरान उन्होंने गुंजी में स्थित आई0टी0बी0पी0 कैंप में आई0टी0बी0पी0 के अधिकारियों से भी विभिन्न सुरक्षा आदि संबंध में जानकारी ली।गुंजी भ्रमण के पश्चात् दोनों सलाहकारों द्वारा धारचूला तहसील मुख्यालय पहुंचकर स्थानीय लोक निर्माण विभाग निरीक्षण भवन में आगामी जून माह से प्रारम्भ होने वाली कैलाश मानसरोवर यात्रा की तैयारियों के संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक निर्देश दिये उन्होंने कहा कि यात्रा से संबंधित समस्त तैयारियां आगामी 15 मई तक अवश्य पूर्ण कर ली जाय बैठक में उन्होंने यात्रा मार्ग यात्रा पड़ावों में आवश्यक सुविधाओं, संचार व्यवस्था, पेयजल, स्वास्थ्य सुविधाएॅ, खाद्यान्न व्यवस्था, पुलिस सुरक्षा व्यवस्था समेत अन्य व्यवस्थाओं पर समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिये।

बैठक में कैलाश मानसरोवर यात्रा की तैयारियों के संबंध में जिलाधिकारी एच0सी0सेमवाल ने अवगत कराया कि उक्त यात्रा कु0म0वि0नि0 द्वारा आयोजित की जाती है। यात्रा मार्ग में पैदलमार्ग की मरम्मत हेतु लो0नि0वि0 की एक टीम यात्रा मार्ग में भेज दी गयी है तथा यात्रा पड़ावों में आवश्यक सुविधाओं के निरीक्षण हेतु कु0म0वि0नि0 की एक अग्रिम टीम क्षेत्र में गयी है। इसके अतिरिक्त गुंजी में बैंक की शाखा खोले जाने, पुलिस सुरक्षा व्यवस्था, स्वास्थ्य सुवधिाएॅ, खाद्यान्न, पेयजल व्यवस्था, आदि हेतु संबंधित विभाग द्वारा अपने अपने विभागीय स्तर पर कार्यवाही की जा रही है।

बैठक मंे कुमाऊं मण्डल विकास निगम से आये प्रबन्ध निदेशक डी0एस0गर्बियाल ने अवगत कराया कि इस वर्ष की कैलाश मानसरोवर  यात्रा 18 दलों में संपन्न होगी इस हेतु वर्तमान में भारत सरकार विदेश मंत्रालय स्तर पर रजिस्ट्रेशन की कार्यवाही चल रही है वर्तमान तक लगभग 2700 व्यक्तियों द्वारा पंजीकरण कराया गया है, उन्होंने अवगत कराया कि प्रथम दल 12 जून को प्रस्थान करेगा। प्रत्येक चार दिन के अन्तराल में दूसरा दल प्रस्थान करेगा अन्तिम दल 9 सितम्बर को जागेश्वर से वापस लौटेगा। यात्रा हेतु कुल 7 कैंप बनाये गये है जिसमें अल्मोड़ा, धारचूला, सिरखा, गाला, बूॅदी, गुंजी तथा नभीढाॅग है। उन्होंने अवगत कराया कि गुंजी तक की यात्रा के0एम0मी0एन0 द्वारा तथा उससे आगे लीपूपास तक की यात्रा का संचालन आई0टी0बी0पी0 द्वारा किया जाता है यात्रियों का अन्तिम स्वास्थ्य परीक्षण गुंजी में किया जाता है श्री गर्बियाल ने अवगत कराया कि सभी यात्री पड़ावों में भोजन रहने समेत अन्य समस्त व्यवस्थाएॅ सुनिश्चित किये जाने हेतु निगम द्वारा अग्रिम टीम क्षेत्र में भेज दी गयी है इसके अतिरिक्त यात्रियों को गुंजी से कालापानी से आगे तक वाहन द्वारा यात्रियों को ले जाने हेतु निगम द्वारा चार वाहन क्रय कर लिये गये है जिनको हेलीकाॅप्टर द्वारा वहां तक पहुंचाने हेतु विदेश मंत्रालय स्तर पर पत्राचार किया जा रहा है।

यात्रा के दौरान संचार सुविधाओं के संबंध में अवगत कराया कि पुलिस वायरलैस संचार सुविधाओं के अतिरिक्त सैटेलाइट फोन सुविधा भी उपलब्ध करायी जा रही है। बैठक में सलाहकार रवीन्द्र सिंह द्वारा अवगत कराया कि शीघ्र ही क्षेत्र में मोबाइल सुविधाएॅ मुहैया कराये जाने हेतु दूरसंचार कम्पानियों से वार्ता कर ली गयी है शीघ्र ही क्षेत्र में मोबाइल टावर स्थापित कर लिए जायेंगे। सुरक्षा व्यव्स्था के संबंध में पुलिस अधीक्षक आर0एल0शर्मा ने अवगत कराया कि यात्रा के दौरान पुलिस थाना व अस्थायी पुलिस चैकी खोले जाने के साथ ही एस0डी0आर0एफ की टीम के साथ ही आई0टी0बी0पी0 की टीम तैनात रहती है। उक्त संबंध में सलाहकार ने कहा कि पुलिस आई0टी0बी0पी0 तथा एस0डी0आर0एफ0 का आपसी समन्वय अति आवश्यकीय है। पुलिस सुरक्षा में तैनात कर्मियों को भी यात्रा पड़ाव में भोजन आवास की व्यवस्था हेतु कु0म0वि0निगम को निर्देश दिये गये।

यात्रा मार्ग की समीक्षा के दौरान लो0नि0वि0 तथा सीमा सड़क संगठन को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने के निर्देश के साथ ही पर्याप्त संख्या में श्रमिकों आदि की तैनाती को भी कहा गया। यात्रा के दौरान माइग्रेशन के समय खाद्यान व्यवस्था की समीक्षा के दौरान जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा अवगत कराया कि यात्रा हेतु  व बी0आर0ओ0 द्वारा की गयी खाद्यान्न की मांग तथा माइग्रेशन में जाने वाली जनता हेतु 68 कुन्टल चीनी, 97 कुन्टल गेहूॅ व 73 कुन्टल चावल की अतिरिक्त मांग की गयी उक्त संबंध में सलाहकार द्वारा अवगत कराया गया कि उक्त संबंध में वह स्वंय शासन स्तर पर वार्ता करेंगे। पेयजल की समीक्षा के दौरान पेयजल निगम तथा जल संस्थान को संपूर्ण क्षेत्र में पेयजल व्यवस्था मरम्मत के साथ ही क्षेत्र में स्थाई पेयजल व्यवस्था हेतु फाइबल पाइप लाईन निर्माण के प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये।

इसके अतिरिक्त यात्रा के दौरान आपातकाल में हैलीकाॅप्टर सेवा सुविधा संचालित हेतु भी कहा गया तथा सभी दलों के साथ एक चिकित्सक, वार्डवाॅय के साथ ही आवश्यक मात्रा में दवाइयाॅ रखे जाने हेतु स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये। बैठक के उपरान्त क्षेत्र के विभिन्न जनप्रतिनिधियों, जनता द्वारा क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं से सलाहकरों को अवगत कराया जिसमें सीमान्त क्षेत्र में सड़क निर्माण, मोबाइल संचार सुविधा, पेयजल, विद्युतीकरण क्वारनटाइन, दारमा घाटी में विभिन्न स्थानों में पुलों का निर्माण, मनरेगा कर्मियों को भुगतान किये जाने संबंधित सीजन तथा वर्षा काल को देखते हेुए सड़क मार्ग को ठीक किये जाने तथा भूस्खलन संभावित क्षेत्र में मशीनी उपकरण के साथ ही कार्मिकों की तैनाती के निर्देश दिये।

बैठक में अपर सचिव उत्तराखण्ड शासन युगल किशोर पंत, जिलाधिकारी एच0सी0सेमवाल, प्रबन्ध निदेशक कु0म0वि0निगम धीराज सिंह गर्बियाल, पुलिस अधीक्षक आर0एल0शर्मा, कमाण्डेन्ट आई0टी0बी0पी0मिर्थी के0एस0रावत, अपर जिलाधिकारी मोहम्मद नासिर, मुख्य अभियंता लो0नि0वि0 सत्येन्द्र शर्मा, डी0एफ0ओ0 आई0पी0सिंह, उपजिलाधिकारी धारचूला संतोष पाण्डेय समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।