पर्यावरण-नदियों की सुरक्षा अत्यंत आवश्यक है : शुभा

डोईवाला : आज दिनांक 10 दिसम्बर 2017 को, ISBT से 3 किमी० दूर चंद्रवदनी मे गौतम कुंड व ऋषि गौतम की तपस्थली जहां से आसन नदी प्रकट होती है, इस नदी के अस्तित्व को बचाने हेतु विभिन्न सामाजिक संस्थाएँ व स्थानीय लोग एकजुट हो कर संकल्प ले रहे है । यह एक जीवित नही है परंतु इसकी पवित्रता व स्वच्छता गंदे नाले, नाली से प्रदूषित हो रही है ।

दीन दयाल सेवा प्रतिष्ठान की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमति शुभा वर्मा ने इस अवसर पर कहा कि पर्यावरण नदियों की सुरक्षा अत्यंत आवश्यक है । व प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री का भी यही स्वपन है।

राष्ट्र सेविका समिति की उत्तराखंड की प्रान्त कार्यवाहिका डॉ० अंजलि वर्मा ने इस अवसर पर कहा कि यह स्थान पौराणिक,ऐतिहासिक व पर्यावरण से जुड़ा है । जीवंत नही को बचाना हमारा प्रथम दायित्व है । पूर्व पंचायत सदस्य श्री राजेश जी ने कहा कि स्थानीय लोग भी इस दिशा मे प्रयास करना चाहते है। तन मन से इस प्रकल्प से जुड़ने मे तैयार है ।इस संदर्भ मैं एक शपथ ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम मे मुख रूप से पंडित दीन दयाल सेवा प्रतिष्ठान की प्रदेश अध्यक्ष श्री मति शुभा वर्मा जी,सेविका समिति उत्तराखंड की प्रान्त कार्यवाहिका डॉ० अंजलि वर्मा जी, शिवानी कक्कड़,नम्रता,रितिका गोयल,शिवरानी जी,रजनी नेगी,माधुरी उपाध्याय,प्रगति शर्मा,सुधा शर्मा,प्रदीप वर्मा,सूरज क्षेत्री,मयंक गौड़, श्री कोठारी,कुलदीप थपलियाल,रमेश जी,सुमन बुटोला,ग्राम प्रधान सविता देवी जी,श्री प्रताप जी आदि उपस्तिथ थे ।

Leave a Reply