बिजली के टूटे तारों ने, तोड़ी किसान की कमर

25udnp201
आग से राख हुए खेत में जली पड़ी गेहूं की बालियां।

पंतनगर। गेहूं के कटे खेत में टूटकर गिरे बिजली के तारों से भड़की आग ने पास के पच्चीस एकड़ खेत में खड़ी गेहूं की फसल को राख कर किसान के अरमानों पर पानी फेर दिया। किसान के अनुसार लगभग चार लाख के नुकसान का अनुमान है।

सोमवार की दोपहर परिसर के ’टी’ ब्लाक स्थित विवि फार्म के गेहूं के कटे खेत में बिजली के तार टूटकर गिरने से आग लग गई। स्थानीय निवासियों की सूचना पर पहुंची अग्निशमन विभाग एवं टाटा फैक्टरी के दमकल वाहनों के भरपूर प्रयास के बावजूद आग ने देखते ही देखते लीज होल्डर हल्द्वानी निवासी हरपाल सिंह के पच्चीस एकड़ खेत में खड़ी फसल को राख कर दिया।

वह तो अच्छा हुआ कि आगे के खेतों में गन्ने की फसल खड़ी थी वरना आग पर काबू पाना मुश्किल था। स्थानीय निवासियों के अनुसार टाटा की दमकल ने घटनास्थल पर पहुंच आग बुझाने का कार्य प्रारम्भ कर दिया, लेकिन अग्निशमन की दमकल कशमकश में रही कि वहां तक कैसे पहुंचंे। काफी देर बाद पहुंचने पर बचाव कार्य शुरू किया।


पूर्व में विवि प्रशासन को झूलते तारों से कराया था अवगत

लीज होल्डर हरपाल सिंह ने बताया कि उसने पूर्व में विवि प्रशासन को बिजली के झूलते तारों से अवगत कराया था, तथा मरम्मत की गुहार लगाई थी। परन्तु विवि प्रशासन उदासीन बना रहा, जिसका खामियाजा आज उसे भुगतना पड़ा।


हादसा होते ही शुरू हुआ मरम्मत कार्य

25udnp203हादसा होते ही विवि का विद्युत विभाग सक्रिय हुआ और आनन फानन में मरम्मत कार्य युद्धस्तर पर प्रारम्भ कर दिया गया। मात्र एक घण्टे में सारे तार दुरूस्त कर दिए गए।

//तारों को दुरूस्त करते विवि के विद्युत विभाग कर्मी//


पुलिस ने नहीं दर्ज किया लापरवाही का मामला

लीज होल्डर किसान हरपाल सिंह ने पंतनगर थाने में विवि प्रशासन के खिलाफ लापरवाही की तहरीर दी लेकिन पुलिस ने कानूनों का हवाला देते हुए तहरीर लेने से मना कर दिया गया कि ऐसा कोई कानून नहीं है। किसान अब विवि प्रशासन के चक्कर लगा रहा है।