पंचायत चुनाव में नये विचारों से समाज को दिशा देता युवा हरीश

टिहरी/नरेंद्र नगर /फकोट: श्रिस्तरीय चुनाव के अन्तिम चरण जैसे जैसे नजदीक आ रहे हैं, गावों में हलचल तेज होती जा रही हैं। दिलों की धड़कन भी तेज होती जा रही है। नरेंद्रनगर के फकोट ब्लॉक के रौन्देली वार्ड से क्षेत्र पंचायत के लिए ऐसे ही एक उम्मीदवार है हरीश जोशी जो की अपनी युवा जीवन को दांव पर लगा कर राजनीति जीवन में  जाने की इच्छा रखते हैं।

रोंदेली वार्ड से क्षेत्र पंचायत के एक युवा ने क्षेत्र पंचायत में अपने दावेदारी सिर्फ गाँव के विकास के लिए की है। यह युवा पेशे से इंजीनियर व नवाचार के क्षेत्र में कार्य करने वाला युवा है।

चुनाव चिन्ह कडाही के बूते चुनाव में उतरे हैं

इंजीनियर हरीश जोशी ने सरस्वती शिशु विद्या मंदिर से से प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की। बाद में पंजाब से इंजीनियर में व ग्राफ़िक एरा देहरादून से MTECH की डिग्री प्राप्त की। ये इंजीनियर एवं वैज्ञानिक की भूमिका में भी दिखाई देते हैं। इन्होने कई पेटेंट भी अपने नाम से भर रखे हैं ! अपनी सोसाइटी टेक्नोलॉजी रिसर्च एंड इनोवेशन डेवलपमेंट सोसाइटी के अध्यक्ष पद रहते हुए ये युवा पीढ़ी को नए अविष्कारों हेतु निरंतर प्रोत्शाहित करते रहते हैं। ताकि समाज के विकास में तकनीकी एवं नई शौच का सहयोग लिया जाए।

इंजीनियर हरीश जोशी एक आईटी के अच्छे तकनीकी जानकर हैं। गाऊं को आईटी के माध्यम से कैसे विकसित किया जाना चाहिए इस दिशा में हरीश जोशी लगातार कार्य करते रहते हैं । आईटी क्षेत्र में नए नए बदलाव आ रहे हैं. यही बदलाव गाऊं के सभी वर्गो तक पहुंचे इस दिशा में कार्य कर रहे हैं .
आईटी के अच्छे तकनीकी जानकर होने के कारण इसके द्वारा कमाई के नए जरियों को गाऊं के बेरोजगार युवाओ को बताने के लिए प्रयासरत हैं। इसी दिशा में उनके द्वारा गाऊँ के बच्चौंं को फ्री में कंप्यूटर क्लास की शुुुरूवात भी कर चुके हैं .

आईटी क्षेत्र को बारीकी से समझने वाले व गाऊँ के विकास के लिए ऐसा जज्बा रखना तारीफ के काबिल है। आज हरीश जोशी नाम यंग जनरेशन और पुरानी जनरेशन का चहेता बना हुआ है। पहली बार ऐसा हो रहा कि हरीश जोशी को दिल्ली, पंजाब, देहरादून, या अन्य शहरों से सभी मिलकर आगे आने को कह रहे हैं।

जीत सुनिश्चित करने के लिए हर शहरों से खास करके प्रदेशो में रह रहे यंगस्टर्स चुनाव के दरम्यान घर आके इस चुनाव में अपने भागीदारी बनाने के लिए संकल्पबध है। हो भी क्यों नहीं एक लड़का अपना भविष्य दांव पर लगाकर अपने गाँव को समर्पित कर रहा है जबकि हरीश के पास डिग्रियां है। उसके पास नौकरियों की कमी नहीं है। वे खुद IT की कंपनी को चलाते हैं  उन्होंने इच्छा जताई है कि वो अपने गांव के जीवन स्तर को नई बुंलदियों तक पहुंचाऐगें।

उन्होंने अपने गांव क्षेत्र को समृद्ध और आदर्श ग्राम सभा बनाने का संकल्प लिया हुआ है। उन्हें जल, जंगल, शिक्षा, स्वास्थ्य, संस्कृति , रोजगार , पलायन के साथ खेतों में जंगली जानवरों द्वारा नुकसान की भारी चिन्ता रहती है। पशु पक्षी प्रेमी होने के साथ-साथ गरीबों की चिंता करने वाले इस युवा ने पहले भी कई लोगों की बिना स्वार्थ के सेवा की है। इनका सरल स्वभाव ही युवाओं को अपने और खींच लाया है। उन्हें अग्रिम शुभकामनाएं।

Leave a Reply