oSAA Counselling 2020: आज से काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू

oSAA Counselling 2020 : देश भर के 23 आईआईटी, 31 एनआईटी, 23 ट्रिपल आईटी सहित अन्य गवर्नमेंट फंडेड इंस्टीट्यूट (जीएफटीआई) की 36 हजार सीटों पर एडमिशन के लिए आज से काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होगा।

  • ज्वॉइंट सीट एलोकेशन अथॉरिटी (जोसा) की ओर से यह प्रक्रिया शुरू की जायेगी। जोसा की वेबसाइट josaa.nic.in पर सीट मैट्रिक्स किया जाएगा।
  • आज 12 बजे के करीब रजिस्ट्रेशन के लिए विंडो ओपन हो जायेगा। वेबसाइट पर ही सारी जानकारी उपलब्ध रहेगी।
  • इसके बाद जेईई एडवांस क्वालिफाई छात्र आईआईटी और जेईई मेन में क्वालीफाई छात्र एनआईटी व गवर्नमेंट फंडेड इंस्टीट्यूट में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन तथा च्वॉइस फिलिंग कर सकेंगे।
  • जोसा के अनुसार इस बार छह राउंड में काउंसलिंग होगी। सीटें खाली रहने पर स्पॉट राउंड का आयोजन किया जायेगा। 17 अक्टूबर से सात नवंबर के बीच सीट आवंटन किया जाएगा। 

महत्वपूर्ण तिथियां 

  1. रजिस्ट्रेशन : छह से 15 अक्टूबर
  2. पहला मॉक सीट आवंटन : 11 अक्टूबर
  3. दूसरा मॉक सीट : 13 अक्टूबर
  4. प्रथम सीट आवंटन: 17 अक्टूबर
  5. ऑनलाइन रिपोर्टिंग व शुल्क भुगतान :17 से 19 अक्टूबर
  6. द्वितीय सीट आवंटन: 21 अक्टूबर
  7. ऑनलाइन रिपोर्टिंग व शुल्क भुगतान: 22 से 23 अक्टूबर
  8. तृतीय सीट आवंटन: 26 अक्टूबर
  9. ऑनलाइन रिपोर्टिंग व शुल्क भुगतान : 27 से 28 अक्टूबर
  10. चतुर्थ सीट आवंटन: 30 अक्टूबर  ऑनलाइन रिपोर्टिंग व शुल्क भुगतान : 31 से नौ नवंबर 
  11. पांचवां सीट आवंटन : 3 नवंबर 
  12. ऑनलाइन रिपोर्टिंग व शुल्क भुगतान: 4 नवंबर से 5 नवंबर 
  13. छठा सीट आवंटन: सात नवंबर 
  14. ऑनलाइन रिपोर्टिंग व शुल्क भुगतान: आठ नवंबर

काउंसलिंग में हुए बदलाव

इस वर्ष सीट अलॉटमेंट के केवल छह राउंड होंगे जबकि पिछले तीन वर्षों से सीट अलॉटमेंट के सात-सात राउंड हो रहे हैं।

  • जेईई एडवांस्ड, आईआईटी दिल्ली के चेयरमैन प्रोफेसर सिद्धार्थ पांडे ने कहा, ‘दिवाली से पहले एडमिशन प्रक्रिया खत्म करने और ठीक उसके तुरंत बाद नया एकेडमिक सत्र शुरू करने के लिए JoSAA ने इस वर्ष एडमिशन छह राउंड तक सीमित करने का सुझाव दिया था।
  • ‘ JoSAA देश के 23 आईआईटी संस्थानों, 31 एनआईटी, आईआईईएसटी शिबपुर, 26 आईआईआईटी और अन्य सरकारी वित्त पोषित संस्थानों में दाखिले व काउंसलिंग की प्रक्रिया का संचालन करती है। 
  • सिद्धार्थ पांडे ने कहा, ‘इस वर्ष एक बड़ा बदलाव यह भी है कि स्टूडेंट्स को आवंटित संस्थान में अपना एडमिशन कंफर्म करने के लिए फिजिकली रिपोर्ट नहीं करना होगा।
  • कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर JoSAA ने ही यह सुझाव दिया था।
  • इस वर्ष स्टूडेंट्स ऑनलाइन मोड से अपने डॉक्यूमेंट्स सब्मिट कर अपना एडमिशन कन्फर्म कर सकते हैं।’
  • 2015 तक JoSAA सीट अलॉटमेंट के तीन राउंड करवाता था जिसे खाली सीटें भरने के मकसद से 2016 में बढ़ाकर छह कर दिया गया था।
  • हालांकि 2017, 2018 और 2019 में एडमिशन के लिए सात-सात राउंड हुए लेकिन कॉमन एडमिशन राउंड के बाद किसी न किसी आईआईटी में एक या उससे अधिक सीट खाली रह गई।
  • 2019 में 23 आईआईटी संस्थानों में छह राउंड की काउंसलिंग के बाद भी करीब 300 सीटें खाली गई थीं जिसे सातवें राउंड में अलॉट किया गया था।