मौजमस्ती के लिए लुटेरे एेसे फंसाते थे शिकार

नोएडा। शहर में अपने महंगे शौक पूरे करने के लिए बडे़ कॉलेजों में पढ़ रहे छात्र ही लुटेरे बनते जा रहे हैं। सोमवार को पुलिस ने एक ऐसे ही गिरोह को दबोचा, जो अब तक लूट की दर्जन से भी ज्यादा वारदातों को अंजाम दे चुका है। इनमें कॉलेज स्टूडेंट समेत कार चालक और कंपनी कर्मी भी शामिल था। कोतवाली कासना पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से तमंचा, चाकू, लूट के मोबाइल, रुपये और वारदात को अंजाम देने में उपयोग में लार्इ जाने वाली कार बरामद की है।

ऐसे करते थे लूट

आरोपी कॉलेज से निकलने के बाद अपने दोस्त के साथ उसकी गाडी से सेक्टर-37 और एक्सप्रेसवे पर पहुंचते थे। कार सवार तीन आरोपियों में दो खुद सवारी बनकर बैठ जाते थे आैर सड़क किनारे खडे़ लोगों को लिफ्ट आॅफर करते थे। किसी भी युवक के गाड़ी में बैठते ही आरोपी नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे और यमुना एक्सप्रेसवे पर चलती कार में युवक के साथ लूटपाट करते थे। आरोपी चलती कार में आरोपी के साथ लूटपाट कर उसे फेंक कर फरार हो जाते थे। सोमवार को पुलिस ने आरोपी बदमाशों को गिरफ्तार किया।

रात में लूट और दिन में करता था ड्राइवरी

इस गिरोह में शामिल आरोपी जेवर के इमलिया गांव निवासी सचिन अपनी एटियोस कार एक ट्रैवल एजेंसी पर चलाता है। दिन में आरोपी अपनी गाड़ी ट्रैवल एजेंसी के लिए चलाता था आैर रात होते ही आरोपी कोई बुकिंग नहीं लेता था। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि वह अपने दोस्त अरविंद और बबली के साथ रात के समय लूट के लिए निकलता था।

फार्मेसी का छात्र निकला लुटेरा

ग्रेटर नोएडा के नामी कॉलेज से गिरोह का सदस्य अरविंद फार्मेसी का कोर्स कर रहा है। उसने बताया कि उसे घर से पढ़ाई और आने जाने के रुपये मिलते थे। कॉलेज टाइम में मौजमस्ती और एेय्याशी के लिए रुपये की व्यवस्था करने के लिए आरोपी इस गिरोह में शामिल हुआ।