4 सितंबर 2020 को नीट और जेईई मेन प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

NEET, JEE Main 2020: नीट और जेईई मेन प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित करने के लिए जहां छह राज्यों द्वारा दायर पुनर्विचार पर सुप्रीम कोर्ट में आज, 4 सितंबर 2020 को सुनवाई होने जा रही है, तो वहीं दूसरी और 13 सितंबर से होने वाली मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट को स्थगित करने के लिए उच्चतम न्यायालय में एक और याचिका दायर की गयी है।

याचिकाकर्ताओं द्वारा इस नई याचिका को लेकर सोशल मीडिया पर साझा की गयी जानकारी के अनुसार नीट परीक्षा स्थगित करने की याचिका को सुप्रीम कोर्ट में रजिस्टर्ड और वेरीफाइड कर लिया गया है और इस पर सोमवार, 7 सितंबर 2020 सुनवाई हो सकती है।

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन 2020 और 13 सितंबर को आयोजित की जाने वाली मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट 2020 के आयोजन को कोविड-19 महामारी के चलते स्थगित करने के मांग को लेकर छह राज्यों द्वारा मांग की जा रही है। इसी के मद्देनजर इन राज्यों द्वारा उच्चतम न्यायालय में पहले की दायर 17 अगस्त को खारिज की गयी एक याचिका पर पुनर्विचार के लिए गुहार लगायी गयी है। सुप्रीम कोर्ट में इसी याचिका पर आज, 4 सितंबर 2020 को सुनवाई होने जा रही है।

राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली इन दोनो ही प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग जिन छह राज्यों ने की है, उनमें पंजाब, झारखण्ड, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सरकारें शामिल हैं। बता दें कि इन राज्यों ने मिलकर 28 अगस्त 2020 को उच्चतम न्यायालय में पुनर्विचार याचिका दायर की थी।

इससे पहले, देश भर में महामारी और कई राज्यों में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए नीट और जेईई मेन 2020 परीक्षाएं देने जा रहे छात्रों, उनके अभिभावकों, कई छात्र संगठनों, राजनीतिक दलों और प्रभावी व्यक्तियों द्वारा परीक्षाओं को स्थगित करने की माग की गयी थी। इन सभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारत के मुख्य न्यायाधीश और देश के शिक्षा मंत्री से इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित की जाने वाली दोनो ही प्रवेश परीक्षाओं को कोविड-19 महामारी की स्थिति पर नियंत्रण होने के बाद आयोजित करने की मांग की गयी थी।

वहीं, एनटीए द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार परीक्षाओं को आयोजित करने की तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं और कई राज्यों की सरकारों ने परीक्षाओं को आयोजित करने के लिए सहमति जताई है। साथ ही, एजेंसी ने परीक्षाओं के दौरान ध्यान रखी जाने वाली सावधानियों और स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) पहले ही जारी किये जा चुके हैं।

बता दें कि 1 सितंबर से 6 सितंबर तक आयोजित होने वाली परीक्षा में और 13 सितंबर को आयोजित होने वाली परीक्षा में देश के राज्यों से लाखों परीक्षार्थियों को सम्मिलित होना है।