क्या इतने निर्दयी हैं केजरीवाल, देखें केजरीवाल का सबसे घिनौना सच

आर.बी.एल.निगम

RBL Nigamदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल किसी को भी भ्रष्टाचारी बोल देते हैं, किसी को भी चोर बोल देते हैं और किसी को भी हत्यारा बोल देते हैं। अक्सर छोटी मोटी बातों को लेकर वे सीबीआई जांच की मांग करते रहते हैं लेकिन उनके साथ 12 साल तक काम करने वाली संतोष कोली की अचानक ऐसे समय कार हादसे में मौत हो गयी जब वह केजरीवाल से टिकेट की मांग कर रही थी और केजरीवाल उसे टिकेट देने से आनाकानी कर रहे थे। संतोष कोली की हत्या के बाद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री बन गए, वे चाहते तो उनकी मौत की जांच करवा सकते थे लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद ना तो संतोष कोली की सुध ली और ना ही उनकी हत्या की सीबीआई जांच की सिफारिश की।

कुछ लोग शक कर रहे थे कि कहीं संतोष कोली केजरीवाल के कुछ ऐसे राज तो नहीं जानती थी जिसकी वजह से उसे रास्ते से हटवा दिया गया हो।

अब एक ऐसा वीडियो सामने आया है जिसमे संतोष कोली की माँ अरविन्द केजरीवाल के बारे में ऐसे खुलासे कर रही हैं जो केजरीवाल के अन्दर छिपे मतलबी इंसान की पोल खोल कर रख देती है।

क्या है वीडियो में:

see-vdo-click-here इस वीडियो में सतोष कोली की माँ केजरीवाल की पोल खोल रही हैं, उन्होंने बताया कि केजरीवाल के साथ उनकी बेटी संतोष कोली ने 12 साल काम किया था, केजरीवाल उनके घर पर हमेशा आते थे और उनकी बेटी के साथ बातें करते थे, उन्होंने पार्टी बनाने से पहेल उनसे बात की थी और उनकी बेटी संतोष कोली को अपनी सहयोगी बनाने का वादा किया था। संतोष कोली चुनाव से पहले टिकट की मांग कर रही थीं लेकिन अचानक चार एक्सीडेंट में उसकी मौत हो गयी।

बेटी की मौत के बाद संतोष कोली की माँ ने अपने बेटे धरमेंदर कोली के लिए टिकेट की मांग की तो केजरीवाल ने उन्हें भी टिकेट देने से आनाकानी की। जब संतोष कोली की माँ को यह बात पता चली तो वे केजरीवाल के पास पहुंची।

संतोष कोली की माँ ने बताया कि केजरीवाल के घर पहुँचने के बाद केजरीवाल ने उन्हें भिखारियों की तरह प्लास्टिक की गन्दी गिलास में पानी दिया। इसके बाद संतोष कोली की माँ ने केजरीवाल से पूछा – मेरे बेटे की टिकेट क्यों काटी जा रही है।

इसके बाद केजरीवाल ने जवाब दिया कि ‘तुम्हारा बेटा गंस्तियों के पास और कोठे पर जाता है, क्या तुम्हे उसके बारे में पता नहीं है।

इसके बाद संतोष कोली की बड़ी बहन ने केजरीवाल से कहा – मेरी बहन संतोष कोली का आप क्या कर रहे हो? इतना सुनते ही केजरीवाल ने संतोष कोली की बहन ऊषा को बहुत तेजी से डांटते हुए कहा – खबरदार जो आज के बाद संतोष कोली का नाम लिया तो। केजरीवाल ने संतोष कोली की माँ और उनके पिताजी को भी डांटा।

इसके बाद केजरीवाल ने धमकी देते हुए कहा – मेरे घर से जाओ, जो मर्जी कर लो, मै डरने वाला नहीं हूँ।

संतोष कोली ने कहा – केजरीवाल मेरे घर पर 15 दिन रुके थे, मेरी बेटी के साथ 12 साल काम किया था, उस वक्त उन्होने क्यों नहीं बोला कि मै अपनी बेटी का नाम ना लूँ। पार्टी बनने से पहले केजरीवाल मुझसे यह कहकर गए थे कि संतोष कोली को सहयोगी बनायेंगे, इसलिए मैंने अपनी बेटी को उनके साथ काम करने की इजाजत दी थी।

उन्होंने कहा कि आज मेरी लड़ाई पार्टी से नहीं है बल्कि अरविन्द से है, मुझे जवाब दें कि मै अपनी बेटे का नाम क्यों ना लूँ।