तुच्छ विषय है नीतीश कुमार ‘पीएम मेटेरियल’ बताना

पटना में आज पत्रकारों से बातचीत के दौरान पासवान से नीतीश को ‘पीएम मेटेरियल’ बताए जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘यह एक ‘वाहियात’ प्रश्न है जिसका वे जवाब देना नहीं चाहते। कौन ‘पीएम मेटेरियल’ है। ‘मेटेरियल क्या होता है? यह बहस ही फालतू है इसलिए उसका जवाब देना जरूरी नहीं है।’’

nitish111पटना। लोजपा सुप्रीमो और केंद्रीय खाद्य एवं जनवितरण मंत्री रामविलास पासवान ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ‘पीएम मेटेरियल’ बताए जाने को ‘तुच्छ विषय’ बताते हुए आज कहा कि यह ‘वाहियात’ प्रश्न है जिसका वह जवाब देना नहीं चाहते।

पासवान ने कहा कि बिहार की वर्तमान सरकार के सत्ता में आए कुछ ही महीने हुए हैं और अब तक तीन दरोगा की हत्या हो चुकी है। उन्होंने कहा कि अगर कुछ करना है तो अपराध मुक्त बिहार बनाओ। प्रधानमंत्री बनने का जब समय आएगा तो चुनाव लड़ जाना। कौन रोकता है।

गौरतलब है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भाजपा के नारे ‘कांग्रेस मुक्त’ भारत की काट के लिए ‘संघ मुक्त’ भारत का नारा देते हुए भाजपा और आरएसएस की समाज को बांटने वाली विचाराधारा के खिलाफ वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के पूर्व गैर भाजपायी दलों की अपील के बाद राजद प्रमुख लालू प्रसाद के उनकी प्रधानमंत्री पद की वकालत किए जाने का उनके छोटे पुत्र और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने समर्थन किया था।