किसानों की आय दोगुनी किये जाने के लिये गंभीरता से मंथन

रूद्रपुर। वर्श 2022 तक किसानों की आय दोगुनी किये जाने के लिये आज कलक्टेट सभागार में जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल ने कृृशि विभाग समेत किसाना हितों से जुडे रेखीय विभागों के अधिकारियों के साथ गंभीरता से मंथन किया। जिलाधिकारी ने किसान हितों से जुडे अधिकारियों को निर्देष दिये कि वह फील्ड स्टाफ की एक पायलट टीम गठित करें जिसमें कृशि वैज्ञानिकों के साथ ही अन्य सम्बन्धित विभागों के कार्मिक भी षामिल हो यह टीम ब्लाकवार विभिन्न क्षेत्रों में जाकर किसानों को उनकी आय बढाने हेतु कृशि योजनाओं की जानकारी देंगे तथा विभागीय अधिकरियों द्वारा उस टीम के कार्यो का अनुश्रवण कर उपलब्धि से अवगत कराया जायेगा।

जिलाधिकारी ने डाटा प्रेजेन्टषन के जरिये विभिन्न विभागों की द्वारा दर्षाये गये आंकडों की प्रगति को देखा। उन्होने अधिकारियो को निर्देष दिये कि आकडो में वास्तविक उपलब्धि ही दर्षायी जाय। उन्होंने कृशि व उद्यान विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि फ्लोरीकल्चर को बढावा देने से किसानों की आय में बृद्धि की जा सकती है लिहाजा अधिकारी इस और ठोस प्रयास करें।

उन्होंने डेयरी विभाग के अधिकाारियों को निर्देष दिये समितियों की संख्या के साथ ही उनमें सदस्य संख्या भी बढाने के प्रयास किये जाय तथा किसान हित के कार्यो में तेजी लाने पर जोर दिया। डीएम ने रेषम विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये रेषम किसान की आय बृृद्धि का अच्छा श्रोत है इसलिये रेषम उत्पादन का लक्ष्य एक हजार परिवार से बढाकर से 5 हजार परिवार किया जाय तथा प्लान्टेषन का लक्ष एक लाख से बढाकर 10 लाख पौध रोपड किया जाय।

उन्होंने गन्ना विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये कि वह गन्ना विकास की तीन साल की कार्ययोजना तैयार करें। रूद्रपुर 13 नवम्बर- वर्श 2022 तक किसानों की आय दोगुनी किये जाने के लिये आज कलक्टेªट सभागार में जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल ने कृृशि विभाग समेत किसाना हितों से जुडे रेखीय विभागों के अधिकारियों के साथ गंभीरता से मंथन किया। जिलाधिकारी ने किसान हितों से जुडे अधिकारियों को निर्देष दिये कि वह फील्ड स्टाफ की एक पायलट टीम गठित करें जिसमें कृशि वैज्ञानिकों के साथ ही अन्य सम्बन्धित विभागों के कार्मिक भी षामिल हो यह टीम ब्लाकवार विभिन्न क्षेत्रों में जाकर किसानों को उनकी आय बढाने हेतु कृशि योजनाओं की जानकारी देंगे तथा विभागीय अधिकरियों द्वारा उस टीम के कार्यो का अनुश्रवण कर उपलब्धि से अवगत कराया जायेगा।

जिलाधिकारी ने डाटा प्रेजेन्टषन के जरिये विभिन्न विभागों की द्वारा दर्षाये गये आंकडों की प्रगति को देखा। उन्होने अधिकारियो को निर्देष दिये कि आकडो में वास्तविक उपलब्धि ही दर्षायी जाय। उन्होंने कृशि व उद्यान विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि फ्लोरीकल्चर को बढावा देने से किसानों की आय में बृद्धि की जा सकती है लिहाजा अधिकारी इस और ठोस प्रयास करें। उन्होंने डेयरी विभाग के अधिकाारियों को निर्देष दिये समितियों की संख्या के साथ ही उनमें सदस्य संख्या भी बढाने के प्रयास किये जाय तथा किसान हित के कार्यो में तेजी लाने पर जोर दिया।

डीएम ने रेषम विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये रेषम किसान की आय बृृद्धि का अच्छा श्रोत है इसलिये रेषम उत्पादन का लक्ष्य एक हजार परिवार से बढाकर से 5 हजार परिवार किया जाय तथा प्लान्टेषन का लक्ष एक लाख से बढाकर 10 लाख पौध रोपड किया जाय। उन्होंने गन्ना विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये कि वह गन्ना विकास की तीन साल की कार्ययोजना तैयार करें।  जिलाधिकारी ने किसानों से आग्रह किया कि वह अपनी आय बढाने के लिये निर्धारित फसल चक्र को अपनायें तथा फसलों के साथ ही सब्जियों,फलों,दुग्ध उत्पादन,मत्स्य पालन,पशुपालन,मुर्गी पालन को वेहतर तरीके से अपनायें। सीडीओ आलोक कुमार पाण्डेय ने अधिकारियो को निर्देष दिये कि वह किसानो की आय दोगुनी करने के लिये प्रगतिकारक विषेश योजना तैयार करें।

उन्होने किसानो से आग्रह किया कि वह अपनी आय में इजाफा करने के लिये सब्जी हाॅट बाजार विकसित करें इसके साथ ही सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं को कृशि वैज्ञानिको की सलाह से उचित फसलचक्र को अपनाये। उन्होने अधिकारियों को निर्देष दिये कि मृदा परीक्षण हेतु बनाये गये लैब का समय-समय पर किसानो को भ्रमण करवाया जाय।

Leave a Reply