केजरीवाल ने अन्ना हज़ारे के साथ मिलकर काले धन के विरुद्ध आंदोलन क्यों किया था?

RBL Nigamआर.बी.एल निगम, दिल्ली ब्यूरो चीफ

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की आज जमकर फजीहत हो रही है, आज केजरीवाल दिल्ली की आजादपुर मंडी में नोटबंदी के खिलाफ एक रैली को संबोधित करने वाले हैं लेकिन उस रैली में हजारों लोग उनके विरोध में नारे लगा रहे हैं। उन लोगों का कहना है कि दरअसल केजरीवाल ही सबसे बड़ा चोर और सबसे बड़ा बेईमान है, लगता है कि उन्हें पास ही सबसे अधिक कालाधन है इसलिए वे कालाधन रखने वालों को बचाने में लगे हैं।

xw86f6qjवहां आये लोगों ने कहा कि हम इमानदार लोग हैं, हमने लाइन में लगकर अपने नोट बदलवा लिए, हमें तो कोई परेशानी नहीं हुई, आखिर केजरीवाल को क्यों परेशानी हो रही है, वे जनता को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं, और बेईमानों को बचाने में लगे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल जी आप नोटबंदी के बाद इतना टेंशन में क्यों आ गए हैं मेरी समझ से परे है, आप ही बताए आप भी तो अन्ना हजारे जी के आंदोलन में कालेधन पर खुब गला फाड़ फाड़ कर चिल्लाते थे और अन्ना जी के आंदोलन की वजह से ही आप मुख्यमंत्री बन गए.केजरीवाल साहब आपसे एक सवाल है आप बताएं कालेधन पर रोक लगाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेँद्र मोदी जी के इस ऐतेहासिक फैसले से देश की गरीब जनता को कहां नुकसान हुआ है अगर आपकी नजर में नुकसान हुआ है तो कैसे हुआ. आपसे आम जनता सवाल पुछती है, खासकर आपको कालेधन पर रोक लगने के बाद देश की तमाम जनता इस ऐतेहासिक फैसले से प्रधानमंत्री जी से खुश हैं. सिर्फ एक शख्स आप हैं जो देश के अंदर इस फैसले से तिलमिला रहे हैं क्यों तिलमिला रहे हैं कहीं ऐसा तो नहीँ सबसे ज्यादा आपके पास ही धन पङा है.अगर आपके पास कालाधन पड़ा है तो परेशानी तो होगा ही अगर नहीं है तो क्यों परेशान हैं आप. याद रखिए केजरीवाल साहब आपके बयान हजार, पाँच सौ के नोट को पुन: चालु करने की बात सुनकर देश मेँ कालेधन जमा वाले भले खुश होकर चुपचाप आपकी तारीफ करे पर देश की गरीब मजदुर लाचार बेबस आम जनता आपकी तारीफ कभी नहीँ कर सकती है. पुरा देश कालेधन के फैसले का समर्थन कर चुकी है. जिस तरह से देश को आजादी दिलाने मेँ देश की जनता ने अंग्रेजोँ को खदेड़ कर भगाया था अब वक्त आ गया है कालेधन वाले को भी गरीब मजदुर जनता सबक सिखाएगी.

q2qyj998अब आप ही बताएँ एक तरफ कितना शांति से देश के अंदर देश की जनता बैँक मेँ पुरे दिन भुखे प्यासे रहकर लाईन मेँ खड़े रहकर कालेधन के खिलाफ अपनी आवाज़ बुलंद कर रहा है. वहीँ दुसरी तरफ गरीब की पार्टी कहलाने वाली आपकी आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल जी को इस फैसले से देश के अंदर सबसे ज्यादा पेट मेँ दर्द हो रहा है. अब आप ही बताएँ केजरीवाल जी आप आम आदमी के हितैषी हुए या खास के शुभचिन्तक.

दिल्ली की जनता को अफसोस जरुर हो रहा होगा कि काश केजरीवाल की जगह कोई गरीब मजदुर का बेटा मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठा होता तो आज प्रधानमंत्री के इस ऐतिहासिक फैसले का जरुर समर्थन करता. ऐसा मेरा दावा है आपके दावे हो या ना हों केजरीवाल जी आपको तो तभी इस अच्छे फैसले का अंदाजा लग गया होगा. जब आप नोटबंदी के बाद कुछ धनकुबेर से मिलने दिल्ली के बाज़ार की तरफ गये थे और आपको आपकी जनता ने आपका विरोध कर के आपको वापस जाने को कह दिया.

h8nkt3fbजब उससे भी मन नहीँ भरा तो अब पता नहीँ क्या क्या नुसखे ढूढने मेँ आप लग गये हैँ. अंत मेँ एकबात और केजरीवाल जी कृपया कर पुरा देश नोटबंदी के खिलाफ है आप भी भारत के प्रधानमंत्री का साथ देँ ताकि देश में सबका साथ सबका विकास हो सके. मैँ देश के प्रधानमंत्री श्री नरेँद्र मोदी जी को इस ऐतिहासिक  फैसले लेने पर विशेष बधाई देता हूं. साथ ही इस फैसले का पहला समर्थन करने वाले अपने बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी का तहेदिल से आभार व्यक्त करता हूं जिन्होँने प्रधानमंत्री के फैसले का समर्थन किया।

उन लोगों ने कहा कि वे केजरीवाल से परेशान हो चुके हैं, मोदी का इतना अच्छा काम है, नोटबंदी से कालाधन ख़त्म हो रहा है, बेईमान लोग परेशान हैं और केजरीवाल उन्हें बचाने में लगे हैं। कई लोगों ने बताया कि दरअसल मंडी में कुछ आढ़ती हैं जिसके पास काफी मात्रा में कालाधन है, उन्होंने ने केजरीवाल को बुलाया है, वे परेशान हैं और उनका कालाधन नष्ट होने वाला है, केजरीवाल उन्हीं बेईमानों को बचाने के लिए रैली में आ रहे हैं।

d8he6wulनोटबंदी पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मरने मारने पर उतारू हो गयी हैं आज उन्होंने एक रैली में प्रधानमंत्री मोदी खुलेआम धमकी दे डाली कि जब तक हम जिन्दा रहेंगे तुम्हें छोड़ेंगे नहीं, उन्होने नोटबंदी के फैसले को तुरंत वापस लेने की मांग की।TMC प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को कहा कि नोटबंदी के कारण लोगों को हो रही परेशानी को तीन दिन के अंदर अगर केंद्र सरकार ने नहीं सुलझाया तो उसे तीखे विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ेगा।

आजादपुर मंडी में आयोजित एक रैली में ममता बनर्जी ने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी ने संविधानिक नियमों को तोड़ा है…आपने (मोदी) इसे लागू (नोटबंदी) करने से पहले एक उचित योजना क्यों नहीं बनाई। आम आदमी को इसके कारण परेशानी हो रही है। हम आपको तीन दिन दे रहे हैं। अगर यह समस्या नहीं सुलझती तो हम आपको छोड़ेंगे नहीं। हम अभी जिंदा हैं।”

ममता बनर्जी ने का कि देश के लोग मोदी में भरोसा खो चुके हैं। उन्होंने कहा कि उनके सांसद संसद में स्थगन प्रस्ताव लाने की कोशिश कर रहे हैं।नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष सरकार को घेरने में जुटा है, इसी कड़ी में दिल्ली के आजादपुर मंडी में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की रैली हो रही है. ममता बनर्जी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि नोटबंदी के फैसले से आम लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि घर में लोगों के पास खाने को नहीं है और एटीएम और बैंक से कैश मिल नहीं रहा. ये सब सरकार की गलती है.

वहीं नोटबंदी अरविंद केजरीवाल ने सीधे पीएम मोदी पर हमला बोला है. केजरीवाल ने नोटबंदी को आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला करार दिया. उन्होंने कहा कि सरकार जनता का दुरुपयोग करते हुए उद्योगपतियों के कर्ज माफ किए.

अरविंद केजरीवाल का नोटबंदी पर हमला:…

1. नोटबंदी के खिलाफ देश में अफरा-तफरी का माहौल है.
2. भ्रष्टाचार के खिलाफ रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ आवाज उठाई.
3. कालेधन के खिलाफ हम राजनीति नहीं करते.
4. भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम होता तो खुलकर साथ देते.
5. नोटबंदी की आड़ में घोटाला हुआ.
6. 2000 के नए नोट से कैसे कालाधन रुकेगा.
7. नोटबंदी की आड़ में 8 लाख करोड़ रुपये का घोटाला हुआ.
8. जनता के पैसे से अरबपतियों के कर्ज माफ किए गए.
9. साजिश के तहत 500 और हजार के नोट बंद किए गए.
10. विजय माल्या को मोदी जी ने विदेश भेज दिया.
ममता का केंद्र सरकार पर हमला:
1. सरकार में दिमाग की कंगाली है.
2. 2. 3 दिन के अंदर सरकार फैसले वापस ले, फैसले वापस नहीं लिए गए तो आंदोलन तेज करेंगे.
3. हम डरते नहीं, गलत के खिलाफ लड़ते हैं.
4. देश में नोटबंदी कर, पीएम मोदी विदेश भाग गए.
5. ब्लैक मनी पर सरकार के कदम के साथ, लेकिन नोटबंदी गलत है.

maldaइससे पहले, बीजेपी समर्थकों के साथ-साथ व्यापारियों ने इस सभा के विरोध में मोदी-मोदी के नारे लगाए. व्यापारियों ने केजरीवाल का विरोध करते हुए काले झंड लहराए. इन लोगों का आरोप है कि केजरीवाल केवल इस मुद्दे को लेकर राजनीति कर रहे हैं. व्यापारियों के आरोप है कि मंडी में सभा का आयोजन करना केवल राजनीति लाभ का मकसद है.विरोध कर रहे व्यापरियों का कहना है कि नोटबंदी से वो बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं. इस मुद्दे को लेकर केजरीवाल के पास कोई समाधान नहीं हैं वो केवल इसे राजनीतिक रंग देने में लगे हैं. इसलिए वो विरोध कर रहे हैं.

गौरतलब है कि ममता बनर्जी ने नोटबंदी के खिलाफ पिछले दिनों राष्ट्रपति भवन तक मार्च किया था जिसमें शिवसेना और आप भी शामिल थी. वहीं केजरीवाल ने केंद्र के निर्णय के खिलाफ विधानसभा में एक प्रस्ताव पेश किया था, उन्होंने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा था कि नोटबंदी से बीजेपी को राजनीतिक फायदा उठाना है और ये आम आदमी के साथ धोखा है.

ममता बनर्जी देहली में कोरी भाषण वाजी करने से पहिले देश को बताये कि आपने बंगाल के मालदा को देश का जाली नोटों का हब बनने से क्यों नहीं रोका ? भाजपा ममता बनर्जी की कमियों को राष्ट्रिय मुद्दा क्यों नहीं बनाती ?क्या देश इस शाश्वत सच्चाई को जानता है कि एन आई ए की रिपोर्ट के अनुसार पश्चिम बंगाल से ही देश में 80 % जाली नोट आते है? मोदी जी की कालेधन , जाली नोट , आतंकवाद के लिए फंडिंग आदि पर सर्जिकल स्ट्राइक पर मायावती , मुलायम सिंह , अरविन्द केजरीवाल ममता बनर्जी आदि क्यों अपने कपडे फाड़ रहे है ? क्यों मातम मना रहे है ?विशेषकर ममता बनर्जी क्यों पागल हो रही है ? क्या इसलिए कि 80 % जाली नोट मालदा बंगाल से देश में आते है