डीएम ने ट्रैन्चवियर कार्य का मौका मुआयना किया

hald_1चोरगलिया/हल्द्वानी। जिलाधिकारी दीपक रावत ने नन्धौर चोरगलिया मे सिचाई महकमे द्वारा 12 करोड की लागत से नन्धौर नदी पर बनाये जा रहे ट्रैन्चवियर कार्य का मौका मुआयना किया। गौरतलब है कि वन विभाग की आपत्ति के कारण सिचाई विभाग के इस निर्माण कार्य पर रोक लग गयी, तथा निर्माण कार्य पिछले दो माह से बन्द पडा है। निरीक्षण के दौरान बडी संख्या चोरगलिया के ग्रामवासी एवं जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे।

निरीक्षण के दौरान मौके पर मौजूद प्रभागीय वनाधिकारी चन्द्रशेखर सनवाल, अधिशासी अभियन्ता सिचाई तारादत्त काण्डपाल के विभागीय पक्षों को जिलाधिकारी द्वारा सुना गया। मौके पर मौजूद लोगो ने भी अपने तर्क जिलाधिकारी के सम्मुख रखे। सभी तथ्यों की जानकारी हासिल करने के बाद जिलाधिकारी श्री रावत ने कहा चोरगलिया क्षेत्र मे सिचाई एवं पेयजल आपूर्ति के लिए यह एक महत्वाकांक्षी योजना है। दोनो विभागों में संवादहीनता होने की वजह से यह स्थिति सामने आयी है। उन्होने कहा इस प्रोजेक्ट का नियमानुसार निर्माण जनहित में अवश्य किया जायेगा। इसके लिए दस दिन के भीतर जनपद से वन अधिनियम प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजा जायेगा, तथा वन महकमें की विधिवत एनओसी जारी होने के बाद इस कार्य को पुनः प्रारम्भ कराया जायेगा। उन्होने कहा कि चोरगलिया क्षेत्र को पेयजल तथा सिचाई के पानी की व्यवस्था करना प्रशासन की प्राथमिकता होगी। श्री रावत ने कहा कि इस नदी से क्षेत्र में बाढ जैसी आपदा भी आती है। आपदा निरोधक जो भी आदेश उनके स्तर से जारी करने होंगे वह भी जारी किये जायेंगे।

निरीक्षण के दौरान पूर्व मंत्री एवं विधायक हरीश चन्द्र दुर्गापाल, उपजिलाधिकारी पंकज उपाध्याय, तहसीलदार मोहन सिह विष्ट,भूवन पोखरियाल तथा बडी संख्या मे ग्राम वासी मौजूद रहे।