लगातार बढ़ रहे हैं डायरिया के मरीज

extra-poisionहल्द्वानी। महानगर में डायरिया के बढ़ते प्रकोप से बेस चिकित्सालय में डायरिया के मरीजों में एकाएक इजाफा हुआ है। जिलाधिकारी दीपक रावत के आदेशों के क्रम में स्वास्थ्य महकमा सक्रिय हो चला है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एल.एम उप्रेती तथा नगर निगम के अधिकारियों द्वारा बनभूलपुरा, आजादनगर एवं इन्द्रा नगर क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था का जायजा लिया, वहीं उल्टी, दस्त, पैचीस डायरिया के रोगियों से बेस चिकित्सालय पहुंचकर उनके हो रहे इलाज की जानकारी चिकित्सा अधीक्षक से प्राप्त की।

मुख्य चिकित्साधिकारी के नेतृत्व में बनभूलपुरा, आजादनगर व इन्द्रा नगर में सफाई व्यवस्था के साथ ही बिक रहे खाद्य पदार्थों का निरीक्षण किया। जानकारी देते हुए सीएमओ डा0 उप्रेती ने बताया कि बहुत से भोजनालय बिना लाइसेन्स के चलते हुए पाये गये। उन्होनें सभी भोजनालय संचालकों से कहा कि वह दो दिन के भीतर खाद्य सुरक्षा अधिकारी से लाइसेन्स बनवाले अन्यथा कार्यवाही की जायेगी। बनभूलपुरा में दो मीट विक्रेताओं का लाइसेन्स जब्त कर उनको नोटिस जारी किया गया। गन्ने व फलों के रस में खुली बर्फ मिलाये जाने पर भी सीएमओ ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होनें रस विक्रेताओं को चेतावनी देते हुए कहा कि खुली बर्फ केवल रसो को ठण्डा करने के लिए होती है न की बर्फ का प्रयोग पीने वाले रस मे डालकर किया जाये। उन्होनें बडी मात्रा में खुली बर्फ को मौके पर ही नष्ट कराया।

निरीक्षण के दौरान बनभूलपुरा क्षेत्र में अधिकांश नालियां प्लास्टिक, पाॅलिथीन व थर्माकोल से पटी पडी थी। जिससे वहाँ से मक्खियों व बदबू का साम्राज्य था। ऐसे में मक्खी, मच्छर पनपने से मलेरिया व डायरिया जैसे संक्रामक रोग फैलने की आशंका बनी रहती है। उन्होनें नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी से कहा कि वह तत्काल चैक पडी नालियों व नालों की सफाई कराना सुनिश्चित करें। सीएमओ ने बताया कि अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 बसन्त कुमार द्वारा आईडीएसपी टीम के साथ बेस चिकित्सालय का भ्रमण किया गया। पेचिस के रोगियों के नमूने, बैक्टीरियों लाजिक्ल जांच हेतु सुशीला तिवारी मेडिकल काॅलिज को भेजे जा रहे हैं। डा0 उप्रेती ने जन साधारण से अपील की है कि वह गर्मी के मौसम में बासी भोजन न करें। गन्दगी में बेचे जा रहे पेय पदार्थों का सेवन कदापि न करें। मक्खी, मच्छर से बचाव करें। पानी हर हाल में उबालकर पीयंे तथा हल्का भोजन लें।