ग्राम उदय से भारत उदय अभियान

CS Bhattसमूचे भारत में इस बार की चौदह अप्रैल की तारीख अविस्मरीण बन गयी है। इस दिन देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश की सभी ग्राम पंचायतों को सम्बोधित किया। देश के अन्य प्रदेश की तरह उत्तराखण्ड में भी लोगों ने अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों में एकत्र होकर कहीं टीवी और कहीं रेडियो पर श्री मोदी की बात को सुना। इधर सीमान्त जनपद पिथौरागढ़ में भी जिलाधिकारी के निर्देश पर तमाम विभागीय उच्चाधिकारी ने गांवों में पहुंचकर पंचायतों की मीटिंग में भाग लिया। कुल मिलाकर पिथौरागढ़ जनपद में ‘‘ग्राम उदय से भारत उदय’’ कार्यक्रम में अधिकारियों के साथ ग्रामीणों ने बढ़-चढ़कर शिरकत की। इसी विषय पर आधारित है यह रिपोर्ट…

gu-2 गाँवों के समग्र विकास के लिये भारतरत्न डाॅ. भीमराव अंबेडकर की 125वीं वर्षगाँठ के अवसर पर माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 14 अप्रैल, 2016 को प्रारंभ किये गये ‘ग्राम उदय से भारत उदय अभियान’ के अंतर्गत जनपद पिथौरागढ़ में 14 अप्रैल से 24 अप्रैल, 2016 तक सभी ग्राम सभाओं में तीन चरणों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हुए।

ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के अंतर्गत प्रथम चरण के अंतर्गत सामाजिक समरसता कार्यक्रम दिनांक 14 से 16 अप्रैल 2016 तक जनपद की सभी 685 ग्राम पंचायतों में संचालित किया गया। जिसमें डाॅ. भीमराव अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला गया तथा उपस्थित जनप्रतिनिधियों, ग्रामवासियों तथा राजकीय कर्मियों ने सामाजिक समरसता एवं राष्ट्रीय एकता को सुदृढ़ करने के लिये शपथ ली गई। ग्राम पंचायतों में इस अवधि में समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं पर चर्चा करते हुए एतद् विषयक साहित्य का वितरण भी किया गया।

प्रथम चरण के पहले दिन जनपद के शहरी क्षेत्रों, समस्त कार्यालयों व विद्यालयों में डाॅ. बीआर अंबेडकर की जयंती उल्लासपूर्वक मनाई गई। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 9.00 बजे स्थानीय अम्बेडकर पार्क में जिलाधिकारी श्री एचसी सेमवाल, पुलिस अधीक्षक श्री आरएल शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी श्री विनोद गोस्वामी, क्षेत्रीय विधायक श्री मयूख महर, नगर पालिका अध्यक्ष श्री जगत सिंह खाती, भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष श्री वीरेन्द्र सिंह वल्दिया एवं श्री जीआर सिरौला, श्री महेश मुरारी, श्री डीआर राज सहित अनेक संगठनों तथा जिलास्तरीय अधिकारियों द्वारा डाॅ. अम्बेडकर की मूर्ति में माल्यार्पण करते हुए पुष्प अर्पित किये गये।

gb1इसके पश्चात् डाॅ. बीआरअम्बेडकर जयंती संयोजन समिति के तत्वावधान में अपटैक तिराहे से कोतवाली होते हुए ढोल-नगाड़ों के साथ मुख्य समारोह स्थल नगरपालिका परिषद पिथौरागढ़ के सभागार तक पहुंची। जहाँ जिलाधिकारी श्री सेमवाल ने दीप प्रज्ज्वलन व डाॅ. अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर समारोह का शुभारंभ किया। नगरपालिका सभागार में सांस्ड्डतिक कार्यक्रम व गोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसमें वक्ताओं डाॅ. अंबेडकर के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके योगदान चर्चा की गई। वहाँ पर समाज कल्याण एवं स्वास्थ्य शिविर आयोजित हुए तथा ग्राम्य विकास-पंचायती राज, कृषि एवं अन्य विभागों द्वारा स्टाॅल भी लगाये गये।  संयोजन समिति की ओर से सामूहिक भोज का आयोजन किया गया, जिसमें काफी संख्या में लोग सम्मिलित हुए। इस कार्यक्रम के दौरान शैक्षिक तथा अन्य सामाजिक गतिविधियों में सराहनीय कार्य करने वाले व्यक्तियों को सम्मानित भी किया गया।

इसके अतिरिक्त दिनांक 14 अप्रैल, 2016 को शहरी क्षेत्रांें में भी अंबेडकर जयंती धूमधाम से मनाई गई। कलैक्ट्रेट, विकास भवन, पुलिस अधीक्षक कार्यालय सहित जनपद के सभी विभागों में अंबेडकर जयंती राष्ट्रीय समरसता दिवस के रूप में मनाई गई। विकास भवन में आयोजित कार्यक्रम में सर्वप्रथम मुख्य विकास अधिकारी श्री विनोद गोस्वामी ने डाॅ. अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण तथा पुष्प अर्पित किये। इसके बाद बारी-बारी से अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा माल्यार्पण एवं पुष्पार्पण किया गया। जिला विकास अधिकारी श्री गोपाल गिरी के संचालन में हुई विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने डाॅ0 अंबेडकर के समतामूलक समाज की संकल्पना को साकार करने हेतु अपनी ओर से प्रयास करने पर विशेष बल दिया।  शपथ लेकर कार्यक्रम का समापन हुआ।

ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के द्वितीय चरण में दिनांक 17 से 20 अप्रैल, 2016 तक न्याय पंचायत स्तर पर किसान गोष्ठियों का आयोजन किया गया। जिसमें निर्धारित रोस्टर के अनुसार जनपद की सभी 64 न्याय पंचायतों में प्रधानमंत्री ड्डषि सिंचाई योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, जैविक खेती, उन्नत बीजों के प्रयोग, ड्डषि यंत्रों, वर्मी कम्पोस्ट, नीम कोटेड यूरिया, फसलों व पषुओं के रोग तथा उनके बचाव के बारे में जानकारी दी गई। पशुधन बीमा व मत्स्य पालन, मुर्गी पालन के बारे में बताया गया। इसके अतिरिक्त उद्यान विभाग में चल रही विभिन्न योजनाओं के संबंध में जानकारी प्रदान की गई तथा उपस्थित किसानों को सरकार द्वारा कृषि, बागवानी, पशुपालन हेतु चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में भी बताया गया। इसके अलावा उपस्थित कृषकों को उन्नत खेती, पशुपालन को स्वरोजगार के रूप में अपनाने हेतु प्रेरित किया गया। जीपीडीपी के संबंध में भी चर्चा हुई।

विकास खण्ड विण में डाॅ. आरएस धामी मुख्य पशु चिकित्साधिकारी व डाॅ. जितेन्द्र क्वात्रा प्रभारी केवीके गैना, मूनाकोट में श्री विनोद कुमार शर्मा ड्डषि एवं भूमि संरक्षण अधिकारी पिथौरागढ़ व डाॅ. मीनाक्षी जोशी जिला उद्यान अधिकारी, कनालीछीना में श्री मठपाल परियोजना प्रबंधक आजीविका पिथौरागढ़ व श्री बीएस रावत सहायक अभियंता लघु सिंचाई पिथौरागढ़, डीडीहाट में डाॅ. अभय सक्सेना, मुख्य ड्डषि अधिकारी व श्री डीपी सिंह सहायक निदेशक,डेयरी पिथौरागढ़, धारचूला में अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग व डाॅ. केके जोशी पशु चिकित्सा अधिकारी, मुनस्यारी में श्री अनिल कुमार ड्डषि एवं भूमि संरक्षण अधिकारी पिथौरागढ़ व डाॅ. प्रजापति पशु चिकित्साधिकारी, गंगोलीहाट में श्री एमएसमर्तोलिया सहायक निबंधक सहकारी समितियां व श्री प्रशांत कुमार, सहायक अभियंता लघु सिंचाई तथा बेरीनाग में श्री डीके आर्या ड्डषि एवं भूमि संरक्षण अधिकारी व श्री बीएस कोरंगा सहायक अभियंता सिंचाई टीम लीडर थे। जिनके मार्गदर्शन में न्याय पंचायतों में किसान गोष्ठी के कार्यक्रम संपन्न हुए।

gbग्राम उदय से भारत उदय अभियान के तष्तीय चरण दिनांक 21 अप्रैल से 24 अप्रैल, 2016 तक ग्राम पंचायतों में ग्राम सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान शिक्षा विभाग द्वारा ग्राम पंचायतों में प्रभात फेरी, सांस्ड्डतिक कार्यक्रम, निबंध प्रतियोगिताएं, स्वजल द्वारा स्वच्छता कार्यक्रम तथा युवा कल्याण विभाग द्वारा ग्रामीण स्तर पर खेलकूद का आयोजन किया गया। समाज कल्याण विभाग द्वारा विभाग में संचालित योजनाओं का सामाजिक अंकेक्षण कराया गया। ग्राम सभा कार्यक्रम में दिनांक 20.04.2016 को महामहिम राज्यपाल के सलाहकार श्री रवीन्द्र सिंह व श्री प्रकाश मिश्रा द्वारा सुदूरवर्ती ग्राम पंचायत सुरिंग में ‘ग्राम उदय से भारत उदय अभियान’ की समीक्षा की गई। इस कार्यक्रम में श्री आरएल शर्मा पुलिस अधीक्षक, श्री विनोद गोस्वामी मुख्य विकास अधिकारी, श्री वैभव गुप्ता उप जिलाधिकारी, श्री नरेश कुमार परियोजना निदेशक जिला ग्राम्य विकास अभिकरण, श्री गोपाल गिरी जिला विकास अधिकारी, श्री बीएस दुग्ताल, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित सभी जनपदस्तरीय अधिकारी व राज्यपाल के अपर सचिव श्री युगल किशोर पंत भी उपस्थित रहे।

ग्राम सभाओं के बैठक कार्यक्रमों में जनपद हेतु नामित राज्य स्तरीय नोडल अधिकारी श्री विरेन्द्र भट्ट द्वारा प्रतिभाग किया गया। इन कार्यक्रमों में परियोजना प्रबंधक स्वजल श्री दीप चन्द्र पुनेठा भी उनके साथ सम्मिलित हुए। इस अवधि में ग्राम पंचायत दौला, धनौडा, गेठीगडा, मर्सोली, अठखेत, ओगला, डुंगरी, सतगढ़, ढुंगातोली, धारचूला देहात, सुरिंग, मगर, सुकना, सुन्यूडा, बाफिला तथा चैकोड़ी की जी.पी.डी.पी. भी तैयार की गई। जिसमें विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारी, न्याय पंचायत स्तरीय नोडल अधिकारी तथा विकास खण्डों के लिये नामित अधिकारियों द्वारा भाग लिया गया।

ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के तृतीय चरण के दौरान सभी ग्राम सभाओं की बैठकों में ग्राम सभा रीडर का वाचन करते हुए सभी सरकारी योजनाओं की जानकारी ग्रामवासियों को प्रदान की गई। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ तथा बच्चों का टीकाकरण किये जाने हेतु गाँव वालों को प्रेरित किया गया। जनपद की सभी ग्राम सभाओं में भी ग्रामवासियों द्वारा पंचायत के विकास, अनुसूचित जातियों, जनजातियों, दिव्यांगों व वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु संकल्प लेते हुए ग्राम पंचायत के सर्वांगीण विकास हेतु शपथ ली गई।

gu3कार्यक्रम के अंतिम दिन 24 अप्रैल, 2016 को राष्ट्रीय पंचायत दिवस को माननीय प्रधानमंत्री जी के संबोधन को सुनने के लिये ग्राम पंचायतों में रेडियो, टेलीविजन की व्यवस्था की गई। सभी ग्राम पंचायतों में माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा जमशेदपुर से समस्त ग्राम सभाओं को किये गये संबोधन को ग्रामवासियों ने श्रवण किया। विकास खण्ड कनालीछीना की ग्राम सभा ख्वांतडी में जिलाधिकारी श्री एचसी सेमवाल, प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी श्री गोपाल गिरि तथा जिला पंचायत राज अधिकारी श्री बीएस दुग्ताल व खण्ड विकास अधिकारी श्री भवानी प्रसाद  सहित अनेक अधिकारी, जनप्रतिनिधि तथा भारी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।

इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा गाँववासियों से समग्र विकास हेतु संकल्पित होकर समरसतापूर्ण समाज के निर्माण की अपील की गई। उन्होंने ग्राम सभाओं के सशक्तिकरण के लिये शपथ दिलाई। भारत गाँवों का देश है। औद्योगीकरण व शहरीकरण के इस दौर में भी देश की लगभग सत्तर फीसदी जनता ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करती है। ऐसे में गाँवों की समृद्धि व विकास से ही सही अर्थों में देश का विकास संभव हो सकता है।