गूगल मैप ‘कोरना लेयर’ नाम काफीचर लॉन्च किया है

  • कोरोना वायरस के दौर में दुनिया पूरी तरह बदल गई है।
  •  कोरोना के मामले कम होते नजर नहीं आ रहे हैं ऐसे समय में गूगल ने अपना एक नया फीचर लॉन्च किया है जो कोरोना काल में लोगों के बड़ा काम आएगा। 
  • गूगल मैप ‘कोरना लेयर’ नाम का नया फीचर लेकर आया है। 
  • गूगल के अनुसार ये फीचर यूजर्स एक क्षेत्र में कोरोना के मामलों की संख्या जैसी महत्वपूर्ण जानकारी दिखाएगा जो यूजर्स को ये फैसला लेने में करेगी कि वो इस क्षेत्र में जाना चाहते हैं या नहीं।
  • इस हफ्ते गूगल अपने नए अपडेट में एंड्रॉएड और आईओएस यूजर्स के लिए इस फीचर को लेकर आएगा।

कैसे काम करेगा कोरोना लेयर फी चर?

  • गूगल ने अपने ब्लॉगपोस्ट में कहा है कि उपयोगकर्ता इसे खोलने और स्क्रीन के ऊपरी दाएँ हाथ के कोने पर लेयर के बटन पर टैप करने के बाद गूगल मानचित्र में डेटा देख सकते हैं और “कोविड -19 जानकारी” पर क्लिक कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपके द्वारा देखे जा रहे नक्शे के क्षेत्र के लिए 100,000 लोगों के लिए प्रति 100,000 लोगों पर सात-दिन के नए औसत मामलों को दिखाया जाएगा और एक लेबल जो इंगित करता है कि क्या केस ज्यादा हो रहे हैं या कम।
  • गूगल कल कोडिंग फीचर भी जोड़ेगा जो यूजर्स को क्षेत्र में नए मामलों को पहचानने में मदद करेगा।
  • गूगल अलग-अलग स्रोतों से एक विशेष क्षेत्र में कोविद -19 मामलों के लिए डेटा एकत्र करेगा जिसमें जॉन्स हॉपकिन्स, न्यूयॉर्क टाइम्स और विकिपीडिया शामिल होंगे।
  • इन स्रोतों में विश्व स्वास्थ्य संगठन, सरकारी स्वास्थ्य मंत्रालयों जैसे सार्वजनिक स्वास्थ्य संगठनों और राज्य और स्थानीय स्वास्थ्य एजेंसियों और अस्पतालों से मिलने वाले डेटा शामिल हैं।
  • जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी और ब्लूमबर्ग न्यूज के आंकड़ों के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका में कोविड -19 मामलों में मंगलवार को 6.91 मिलियन की तुलना में 0.6% की वृद्धि हुई।
  • पिछले एक सप्ताह में औसत दैनिक लाभ में वृद्धि हुई। मौतें 0.5% बढ़कर 201,319 हो गईं।