घटना प्रतिक्रिया प्रणाली को लेकर कार्यशाला

पौड़ी। विकास भवन सभागार में आईआरएस (घटना प्रतिक्रिया प्रणाली) को लेकर कार्यशाला के दूसरे दिन आपदा प्रबंधन विभाग देहरादून के विशेषज्ञ बीबी गणनायक ने आईआरएस के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। कार्यशाला के उपरान्त कंडोलिया मैदान में, जो कि स्टेजिंग एरिया के रूप में चिन्हित किया गया था, मॉकड्रिल का अभ्यास किया गया।

इस मौके पर उन्होंने स्टेजिंग एरिया के माध्यम से आपदा के दौरान राहत व बचाव कार्यों के लिए संचालित विभिन्न टीमों के साथ कार्य करने की जानकारियां दी। उन्होंने कहा कि आपदा के दौरान स्टेजिंग एरिया की भूमिका सबसे अहम है। स्टेजिंग एरिया से ही आपदा प्रभावित क्षेत्रों में हर संभव सहायता मुहैया करायी जा सकती है। कार्यशाला में विभिन्न घटना स्थलों पर टीमों को भेजने की कार्यवाही के साथ ही विभिन्न प्रकार को उपकरणों से लैस होकर एसडीआरएफ समेत मेडिकल व एनसीसी कैडिटों ने प्रतिभाग किया।

स्टेजिंग एरिया कंडोलिया मैदान में आपदा के दौरान प्रयोग में लाने वाले जेसीबी, ट्रक, जीप, एम्बुलैंस, अग्निशमन, कम्यूनिकेशन उपकरण के अलावा वुड कटर, आइरन कटर, स्टैचर समेत सर्च लाइटों का भी प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर इंसिडेंट कमांडर व उप जिलाधिकारी सदर के एस नेगी ने उपस्थित विभिन्न विभागों के आईआरएस से जुड़े अधिकारियों को आपदा के समय मुस्तैदी तथा समन्वय बनाकर काम करने की सलाह दी।

उन्होंने आज आयोजित मॉकड्रिल में विशेष रूप से स्टेजिंग एरिया द्वारा संचालित की जाने वाली कार्यवाहियों के प्रपत्रों को भलीभांति भरने तथा आपदा टीमों को उचित मार्ग दर्शन दिये जाने के लिए उत्तराखंड सरकार के आपदा विशेषज्ञ बीबी गणनायक का आभार जताया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के कार्यशालाओं से आपदा के दौरान आने वाली किसी भी स्थिति से निपटने में मदद मिल सकेगी। इसके अलावा प्लानिंग सेक्शन चीफ व पीडी एसएस शर्मा, सेफ्टी ऑफिसर व ईई लोनिवि वाईएस तोमर समेत स्टेजिंग एरिया कमंाडर व सीओ धन सिंह तोमर ने भी आपदा राहत टीमों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

मॉकड्रिल के उपरान्त विकास भवन में प्रशिक्षु राजस्व उपनिरीक्षकों को आईआरएस की गतिविधियों की जानकारी दी गई। द्वितीय दिवस की कार्यशाला में जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, जिला शिक्षाधिकारी माध्यमिक हरेराम यादव, सीएमओ डा. आरएस राणा समेत फैसिलिटी यूनिट, ग्राउंड सर्पोट यूनिट, कम्यूनिकेशन यूनिट, फूड यूनिट, डाक्यूमेंटेशन यूनिट, रोड व एयर कोओपरेशन, डेमोग्लाईजेशन रिर्साेस यूनिट व सिचुवेशन यूनिट से जुड़े विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply