डॉक्टर पंकज को धमकी देने वाला रिमांड पर

गया : डॉ. पंकज गुप्ता को क्लीनिक में पत्र भेजकर धमकी देने वाले चाचा-भतीजा को सिविल लाइन्स थाना की पुलिस ने सोमवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों को तीन दिनों की पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया। केस के अनुसंधानकर्ता और सिविल लाइन्स थानाध्यक्ष हरिओझा ने सूरज कुमार तिवारी और चंदन कुमार तिवारी को तीन दिनों के रिमांड पर देने का आग्रह किया, जिसे कोर्ट ने मंजूर कर लिया। अब इन दोनों से पुलिस गहन पूछताछ करेगी।

साथ ही पता लगाएगी कि आखिर किस कारण से डॉ.पंकज गुप्ता को अपहरण करने की धमकी का पत्र भेजा था। ज्ञात हो कि पिछले साल डॉ पंकज गुप्ता का अपहरण कर लिया गया था। जिन्हें लखनऊ की गोमती नगर से बरामद किया गया था। दोनों आरोपित विष्णुपद थाना क्षेत्र के नई सड़क मौलानगर का रहनेवाला है। थानाध्यक्ष ने बताया कि इन दोनों ने ही एपीआर के मालिक अविनाश कुमार सिंह को भी धमकी दी थी। इसके पास से मोबाइल का जो सिम मिला है, इससे यह साफ हो गया है। डॉ. पंकज गुप्ता के ससुर सुरेंद्र भदानी ने इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई थी, जिसके बाद उनकी सुरक्षा को लेकर पुलिस सतर्क हो गई थी

क्या है मामला:

बाराचट्टी थाना कांड संख्या 155 /15 अपहृत चिकित्सक डॉक्टर पंकज कुमार के भाई नीरज कुमार के बयान पर दर्ज किया गया था। डॉ गुप्ता शादी में गिरिडीह गए थे। एक मई 2015 को फाॅर्च्युनर गाड़ी से गया वापसी के क्रम में उनका पत्नी संग अपहरण कर लिया गया था। पुलिस ने लखनऊ के शारदा अपार्टमेंट से डॉक्टर गुप्ता दंपति को मुक्त कराते हुए वाहन को भी बरामद किया था। इस मामले में आरोपित अजय सिंह व अन्य को गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट में केस का ट्रायल चल रहा है। इस बीच डॉक्टर गुप्ता को एक बार फिर से अपहरण की धमकी का पत्र भेजा गया जिससे गया पुलिस सकते में है।

Leave a Reply