तीर्थनगरी घुमने आये पर्यटक गंगा को स्वीमिंग पूल समझकर बिना गहराई का अंदाजा लगाए इसमें उतर जाते हैं

तीर्थनगरी में लक्ष्मणझूला, स्वर्गाश्रम, तपोवन, मुनिकीरेती क्षेत्र में देशी-विदेशी पर्यटक घूमने आते हैं।यहां सैलानियों को गंगा अपनी ओर आकर्षित करती है और वे स्वीमिंग पूल समझकर बिना गहराई का अंदाजा लगाए इसमें उतर जाते हैं।

  • इससे पर्यटकों की जान पर बन आती है। वर्ष 2020 में अब तक 11 पर्यटक अपनी जान गंवा चुके हैं।
  • बीते दिवस हुए हादसे के बाद भी कुछ ऐसी ही तस्वीर निकलकर सामने आई, जब दिल्ली से एक महिला मित्र के साथ घूमने आए दो दोस्त ऐसी जगह नदी में उतर गए जहां पानी बहुत गहरा था।
  • गंगा में अठखेलियां करते हुए इनमें से एक युवक डूब गया।
  • मुनिकीरेती, तपोवन, नीमबीच, शिवपुरी, ब्रह्मपुरी, लक्ष्मणझूला बॉबेघाट, गोवा बीच कई ऐसे तट हैं, जहां पर्यटक जान जोखिम में डालकर स्नान करते हैं।
  • स्थानीय पुलिस ने इन जगहों को स्नान के लिए प्रतिबंधित कर रखा है। इसके बावजूद पर्यटक इनकी अनदेखी करते हैं।
  • बाहर से आने वाले खासकर दिल्ली एनसीआर, हरियाणा के पर्यटक गंगा के साथ स्वीमिंग पूल की तरह व्यवहार करते हैं।
  • वह इसकी गहराई को नहीं जान पाते और एकांत के चक्कर में वह कहीं भी डुबकी लगाना शुरू कर देते हैं। यही लापरवाही इन पर्यटकों पर भारी पड़ती है।