टिहरी झील की ओर बॉलीवुड व बाहरी पर्यटकों को आकर्षित करने को लेकर डॉक्यूमेंट्री फिल्म

Documentary film: टिहरी बांध के ऊपर बनने वाला देश का पहला सस्पेंशन पुल व टिहरी झील की ओर बॉलीवुड व बाहरी पर्यटकों को आकर्षित करने को लेकर डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनाई जा रही है, जिसमें इन स्थलों की खूबियों एवं तकनीक के बारे में जानकारी दी जाएगी।उम्मीद जताई जा रही है कि 9 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस पर इसे प्रदशिर्त किया जाएगा।

  • लोनिवि की ओर से यह डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनाई जा रही है, जिसमें हिदी फिल्म रागिनी एमएम-2 की अभिनेत्री आरती क्षेत्रपाल इस डॉक्यूमेट्री फिल्म को शूट करने के लिए यहां पहुंची है।
  • शूट के दौरान वह डोबरा-चांठी पुल व झील की खूबियों के बारे में बताया गया। शाम को डोबरा-चांठी पुल पर रंग-बिरंगी लाइटों में फिल्मांकन किया गया।
  • डॉक्यूमेंट्री फिल्म के निर्देशक मोहमद सलील सैफी ने बताया कि लोनिवि की ओर से यह डॉक्यूमेंट्री तैयार की जा रही है।
  • डॉक्यूमेंटी के जरिये पुल की विशेषता व इसकी तकनीक के बारे में बताया जा रहा है, जिससे देशवासी इस पुल के बारे में जान सकें।
  • उन्होंने बताया टिहरी झील के ऊपर बनने वाला डोबरा-चांठी पुल देश का पहला सस्पेंशन पुल है, जिसकी तकनीक बेजोड़ है। इसे पहचान दिलाने व बॉलीवुड का इस ओर आकर्षित हो, इसके लिए यह फिल्म तैयार की जा रही है।
  • अभिनेत्री आरती भी पुल की तकनीक की प्रशंसा की। सोमवार को टिहरी झील में बोटिग पर व डोबरा-चांठी पुल के पास ट्रैक्टर पर बैठकर फिल्मांकन किया गया। उन्होंने बताया कि राज्य स्थापना दिवस पर फिल्म के प्रदर्शन की उम्मीद जताई जा रही है।
  • फिल्मांकन के समय यहां पर काफी संख्या में स्थानीय निवासी पहुंचे थे। बोट संचालन समिति के संरक्षक कुलदीप पंवार ने बताया कि इससे झील व पुल को नई पहचान मिलेगी और फिल्म की शूटिग के लिए निर्देशक यहां का रूख करेंगे।