देहरादून जिले में वनाग्नि की घटनाएं नियंत्रण मेंः डीएम

Ravinath ramanदेहरादून। जिलाधिकारी रविनाथ रमन ने बताया कि देहरादून जनपद में वनाग्नि की घटनायें पूरी तरह से नियंत्रण में हैं। वनाग्नि की घटनाओं पर निगरानी के लिए तीन कन्ट्रोल रूम बनाये गये है। उन्हांेने कहा कि वनाग्नि को रोकने के लिए राजस्व पुलिस एवं वन विभाग के नियंत्रण कक्ष कार्य कर रहे है। उन्होने निर्देश दिये है कि वनाग्नि की सूचना कन्ट्रोल रूम में प्राप्त होते ही नियत्रंण के लिए सीघे अग्नि सुरक्षा दलों को सूचित किया जा रहा है। उन्होने कहा कि राजस्व विभाग के सभी पटवारियों को अपने पटवारी क्षेत्र में तैनात रहने के निर्देश दिये गये है। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को भी अपने तहसील मुख्यालय में रहने एवं वनाग्नि की सूचना प्राप्त होने पर सम्बन्धित प्रगभागीय वनाधिकारियों से समन्वय रखते हुए तत्काल मौके पर पहुंचकर अग्नि काण्ड की घटना को रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है।

जिलाधिकारी ने यह भी अवगत कराया कि जनपद में वनाग्नि से अब तक कोई भी जनहानि एवं पशुहानि नही हुई है उन्होने कहा कि जनपद में अब तक अग्नि काण्ड के 90 प्रकरण घटित हुए है तथा वनाग्नि से अब तक लगभग 173 हेक्टेयर भूमि प्रभावित हुई है। जनपद में वनाग्नि की घटनाओं को रोकने के लिए कुल क्रू स्टाफ 103 है, नियमित तथा अस्थायी 800 की संख्या में कर्मियों को तैनात किया गया है, जिनमें वन कर्मी, पी.आर.डी., स्थानीय निकाय के कर्मी शामिल है। उन्होंने कहा कि जनपद में वनाग्नि की घटनाओं पर निंयत्रण एवं निगरानी के लिए पर्याप्त स्टाफ तथा धनराशि उपलब्ध है। उन्हांेने जनपद वासियों से अपील कि है कि वनाग्नि को रोकने के लिए अपना सक्रिय सहयोग करें।