सिंचाई विभाग की भूमि चढ़ रही अवैध कब्जों की भेंट

sinchayi-bhoomiविकासनगर। सिंचाई विभाग की भूमि लगातार अवैध कब्जों की भेंट चढ़ रही है। विकासनगर में शक्तिनहर के किनारे स्थित सिंचाई विभाग की जमीन पर जगह-जगह अवैध कब्जे किए गए हैं। डाकपत्थर से कुल्हाल तक विभाग की जमीन पर करीब साढ़े तीन सौ कब्जे हो रखे हैं। सबसे अधिक अवैध कब्जे ढकरानी व डाकपत्थर में किए गए हैं।

डाकपत्थर में सिंचाई विभाग की भूमि पर 125 कब्जे, ढकरानी में 150, ढालीपुर में 16, कुंजाग्रांट में 24 व कुल्हाल में 27 अवैध कब्जे किए हुए हैं, इसके अलावा अन्य स्थानों पर भी अवैध कब्जे हो रखे हैं। अवैध कब्जा करने वालों द्वारा पहले झोपडि़यां बनाई जा रही हैं और फिर पक्के मकानों का निर्माण किया जा रहा है। पक्के मकान बनाने का कार्य धड़ल्ले से चल रहा है। डाकपत्थर में तीन दर्जन से अधिक पक्के मकान बनाए जा चुके हैं।

अवैध कब्जे शक्तिनहर के दोनों किनारे की जमीन पर किए गए हैं। अवैध कब्जा करने वालों को स्थानीय नेताओं का संरक्षण प्राप्त होने से विभाग कार्रवाई करने में असहाय नजर आ रहा है। यहां सिंचाई विभाग की भूमि पर 50 से 60 हेक्टेयर क्षेत्रफल में अवैध कब्जे हो रखे हैं। कब्जा करने वालों ने पांच बिस्वा से दो बीघा तक जमीन कब्जाई हुई है, कुछ लोग तो कब्जाई हुई जमीन को बेच भी चुके हैं।