वर्तमान समय में सभी को पेयजल की समस्या

DSC_0034-copyदेहरादून। डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की 125 वीं जंयती के अवसर पर 14 अपै्रल 2016 से 24 अपै्रल 2016 तक संचालित होने वाले कार्यक्रमों के तहत ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के अन्तर्गत आज ग्राम पंचायत शेरकी में जिलाधिकारी रविनाथ रमन की अध्यक्षता में ग्राम वासियों की खुली बैठक आयोजित की गई।

इस अवसर पर जिलाधिकारी रविनाथ रमन ने ग्रामवासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि 14वें वित्त आयोग के तहत जी.पीडी.पी. योजना के अन्तर्गत 5 वर्ष के लिए कार्य योजना तैयार की जानी है। जिलाधिकारी ने कहा कि ग्राम पंचायत के समंग्र विकास के लिए कार्य योजना तैयार कर गंव की उन्नति के लिए विकास योजनाओं का चयन करें। उन्होनें कहा कि गांव में आज कल ज्यादातर योजनायें सीसी सडक एवं खड़न्जा तैयार की जा रही है।  अधिकतर पैसा इन्ही पर ही प्रस्तावित किया जाता है। उन्होने कि वर्तमान समय में गांवों में जल स्त्रोत बढाने सम्बन्धी योजना प्रस्तावित नही है जल संरक्षण की कोई ठोस कार्य योजना तैयार न होने के कारण  वर्तमान समय में सभी को पेयजल की समस्या से जूझना पड रहा है। उन्होने गंव वासियों से अपेक्षा की है कि इस बार  ग्राम पंचायत के प्रस्ताव में पहली प्राथमिकता में गांव की पेयजल योजना के लिए ठोस कार्य योजना तैयार करें तथा गांव में जो पुराने पेयजल स्त्रोत सूख गये है उनको रिचार्ज करने के लिए गांव में छोटे-छोटे तालाब व चैक डैम तैयार कर वर्षा के जल का संरक्षण करें जिससे गांव के पुराने जल संरक्षण का कार्य करें जिससे स्त्रोत रिचार्ज हो सके।

जिलाधिकारी ने कहा कि ग्राम उदय से भारत उदय योजना के अन्तर्गत ग्रामवासी अपने ग्राम की जो महत्वपूर्ण योजनाये है उन्हे सर्व प्रथम शामिल करें। उन्होने कहा कि 2 लाख तक का कार्य ग्राम पंचायत खुद कर सकती है इससे ज्यादा के जो भी कार्य है उनके प्रस्ताव उन्हे उपलब्ध करादे जिन्हे वह डी.पीसी में रखते हुए उन प्रस्ताव पर चर्चा कर पारित कराया जायेगा। जिलाधिकारी ने यह भी अवगत कराया कि इन्दिरा आवास के स्थान पर अब प्रधानमंत्री आवास योजना हो गई है जिसमें जो पात्र व्यक्ति आवासविहीन है ऐसे व्यक्तियों को ग्राम सभा की खुली बैठक में चयन किया जाये ताकि कोई भी पात्र व्यक्ति आवास से वंचित न रहे। उन्होने कहा कि इस योजना में धनराशि भी बढ गई है जिसमें शहरी क्षेत्र के लिए 1 लाख 35 हजार तथा ग्रामीण क्षेत्र हेतु 1 लाख 55 हजार रू. की धनराशि उपलब्ध कराई जायेगी। उन्होने कहा कि इस योजना के तहत जो भी आवासविहीन है उन्हे 2019 तक हर हाल में आवास उपलब्ध कराये जायेगें। उन्होने यह भी कहा कि जिन लोगों के खाद्यान योजना के तहत राशन कार्ड नही बनाये गये है ऐसे लोगों का भी चिन्हिकरण करें, ताकि राशन कार्ड से वंचित व्यक्तियों के राशन कार्ड बनाया जा सके। उन्होने कहा कि गांव में बच्चों का टीककरण एवं गर्भवती महिलाओं का नियमित टीकाकरण एवं स्वस्थ्य परीक्षण होना चाहिए। उन्होने आवासविहीन, राशनकार्ड व आवसविहीन परिवारों के नाम नोट कराएं व सम्बन्धित अधिकारियों से शीघ्र कार्य करने के निर्देश दिये।

इस अवसर पर स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वजल द्वारा आयोजित कार्यक्रम के तहत जिलाधिकारी द्वारा प्रथमिक विद्यालय की अध्यापिका को जिलाधिकारी द्वारा दो कूड़ादान उपलब्ध कराये गये। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत सभी ग्राम वासियों कों निर्मल ग्राम सभा बनाने के लिए सभी को अपने-अपने शौचालय बनाने आवश्यक है जिसके लिए स्वजल द्वारा बारह हजार रू. की सहायता भी की जाती है। जिलाधिकारी ने कहा कि खुले में शौच करने से हमारे आस-पास का वातावरण दूषित हो जाता है जिस कारण कई बीमारियां उत्पन्न हो जाती है। इससे निपटने के लिए सभी को शौचालय बनाने आवश्यक है। उन्होने कहा कि गांव में कई मजदूरी बाहर से कार्य करने आते है जो खुले में शौच करने जाते है जिससे गांव का वातावरण प्रदूषित हो जाता है जिसके लिए जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायतो में कम्यूनिटी शौचालय बनाने की अपेक्षा की है। ताकि ग्राम पंचायत का वातावरण दूषित न हों। इस अवसर पर जिलधिकारी द्वारा स्वजल विभाग द्वारा जनपद के सभी विकास खण्डों एवं ग्राम पंचायतों में खुले में शोच  न करने के लिए स्वच्छता रथ हो हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया।

इस अवसर पर प्रधान ग्राम सभा शेरकी श्रीमती सविता चैहान, जिला विकास अधिकारी सुशील मोहन डोभाल, अपर परियोजना निदेशक डी.आर.डी.ए. नालिनी घिल्डियाल, परियोजना निदेशक स्वजल एस.सी. बडोनी सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं ग्रामवासी उपस्थित थे।