उच्च शिक्षण संस्थान खोलने का निर्णय हो सकता 18 नवंबर की कैबिनेट बैठक में

उत्तराखंड में डिग्री कॉलेज खोलने का निर्णय 18 नवंबर की मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक में हो सकता है।

  • पहले चरण में यूजीसी की गाइडलाइन के तहत, सिर्फ प्रैक्टिकल के लिए ही कॉलेज खोले जाएंगे। हालांकि, निजी कॉलेज संचालक सभी कक्षाओं को खोलने की मांग कर रहे हैं। 
  • राज्य में 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए तो स्कूल खुल गए हैं, लेकिन डिग्री कॉलेज सहित बाकी उच्च शिक्षण संस्थान खोलने पर निर्णय नहीं हो पाया है। अब नवंबर की गाइडलाइन में केंद्र सरकार ने उच्च शिक्षण संस्थान खोलने का निर्णय राज्यों पर छोड़ दिया है।
  • इसी क्रम में राज्य सरकार भी डिग्री कॉलेज सहित सभी उच्च शिक्षण संस्थान खोलने की तैयारी कर रही है। लेकिन, इस पर अंतिम निर्णय कैबिनेट बैठक में होगा। गौरतलब है कि उत्तराखंड सरकार ने बोर्ड क्लासेज को खोल दिया है। 
  • उच्च शिक्षा क्षेत्रीय कार्यालय में संयुक्त निदेशक डॉ. पीके पाठक के मुताबिक, यूजीसी की गाइडलाइन में सभी कक्षाओं के छात्रों के लिए कक्षाएं खोले जाने की बजाय, पहले चरण में सिर्फ प्रैक्टिकल वाले छात्रों को ही कॉलेज आने देने की अनुमति दी गई है।
  • इसी क्रम में उत्तराखंड में कॉलेज खोले जाएंगे। उन्होंने बताया कि बाकी कक्षाओं की पढ़ाई फिलहाल ऑनलाइन ही कराई जाएगी।

सभी कक्षाओं की मंजूरी मिले

  • एसोसिएशन ऑफ सेल्फ फाइनेंस इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष सुनील अग्रवाल ने कहा कि निजी कॉलेजों के लिए सिर्फ प्रैक्टिकल को कॉलेज खोलना मुश्किल है।
  • कॉलेजों के ज्यादातर छात्र हॉस्टल में रहते हैं। कम छात्रों के लिए संचालक हॉस्टल खोलने पर सहमत नहीं होंगे।
  • शिक्षण गतिविधि की शुरुआत कॉलेजों से ही होनी चाहिए। लेकिन, सरकार स्कूलों को पहले खोल रही है।