उत्तराखंड 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी पहाडों में सक्रिय

देहरादून: उत्तराखंड में होने वाले 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी पहाडों में सक्रिय हो गई है.

  • दिल्ली की तर्ज पर अब उत्तराखंड की तस्वीर बदलने का दम भरने वाली आम आदमी पार्टी खुद को उत्तराखंड की हितैषी बताकर सरकार पर हमलावर है.
  • सरकार पर सियासी वार करते हुए ‘आप’ पार्टी अपना जनाधार बढ़ाने के प्रयास में जुट गई है.

सरकार पर किए जुबानी हमले

  • पार्टी में नए संगठन को किस तरह से मजबूती दी जाए, ये जिम्मेदारी समझाने के लिए पार्टी के प्रदेश सह प्रभारी राजीव चौधरी पौड़ी पहुंचे.
  • यहां उन्होंने जिले की तीन विधानसभा पौड़ी, चैब्ट्टाखाल और श्रीनगर विधानसभाओं का जिम्मा संभाले पार्टी कार्याकर्ताओं के साथ बैठक की. 
  • बैठक के दौरान राजीव चौधरी ने सरकार पर जुबानी हमले भी किए.

जनता को बताएं दिल्ली सरकार की उपलब्धियां

  • राजीव चौधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आखिर इन तीन सालों में कितने जनहित मुद्दों पर कार्य किया इसका हिसाब मिलना चाहिए.
  • चौधरी ने कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया कि वो 2022 विधानसभा चुनाव में पार्टी का जनाधार बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार की उपलब्धियों को जनता के समक्ष रखें जिससे उत्तराखंड में सियासत बदली जा सके.

जनता संतुष्ट नहीं

  • बैठक में पार्टी के लोकसभा प्रभारी शिशुपाल ने बताया कि प्रदेश सरकार के कार्य से जब उनके विधायक तक संतुष्ट नहीं हैं तो जनता कितनी संतुष्ट होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है.
  • उन्होंने कहा कि छात्रवृति घोटाले की जांच भी बीजेपी सरकार के कार्यकाल में ठंडे बस्ते में डाल दी गई है. बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां नाकामियों को छिपा रही हैं.
  • उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में बिजली उत्पादन होने के बाद भी जनता को फ्री बिजली नहीं मिल पाई है. जबकि, दिल्ली सरकार में बिजली, स्वास्थ जैसी सुविधाएं जनता के लिए निशुल्क हैं.