आशा कर्मियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल

अशोक शर्मा, बाराचट्टी

बाराचट्टी प्रखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में आशा कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है. जिससे स्वास्थ्य विभाग पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ रहा है. जैसे कि टीकाकरण तथा संस्थागत प्रसव कराने में आम जनता  को काफी परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है. समय रहते अगर सरकार उनकी मांगों पर ठोस कदम नहीं उठाई गई तो बाराचट्टी स्वास्थ्य सेवापुरी तरह चरमरा जाएगी. वही आशा की प्रखंड अध्यक्ष गीता कुमारी सिन्हा ने बताई कि पिछले 12 वर्षों से हम सब निरंतर होकर समाज और सरकार को सेवा करते आ रहे हैं, लेकिन आज तक सरकार हम सभी आशा बहनों को नजरअंदाज करते आ रही है. जबकि दिन-रात सरकार महिला सशक्तिकरण की बात करती है, तब हम सब ऐसे में भूखे पेट कब तक सेवा देंगे हम सभी आशा बहनों मजबूत रहेंगे. तभी तो समाज और सरकार की सेवा करने का काम करेंगे, जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं हो जाती है, तब तक हम सभी आशा बहनों हड़ताल पर ही रहेंगे.

आशा बहनों की मांग इस प्रकार है.

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन को सबके लिए और प्राप्त विद्या आवंटन के साथ भारत सरकार का नियमित स्वास्थ्य कार्यक्रम बनाया जाए.
  • आशा स्वास्थ्य कर्मियों को नियमित किया जाए.
  • आशा स्वास्थ्य कर्मियों को मैं नवीन भक्तों के साथ 18000 न्यूनतम वेतन दिया जाए.
  • आशा बहनों को सेवा अवधि में दुर्घटना से मृत्यु होने पर हसीनों को पक्की नौकरी दिया जाए

Leave a Reply