रविवार को सबसे ज्यादा करीब 13 सौ पर्यटक टिहरी झील की सैर करने को पहुंचे

  • टिहरी झील में बोटिग के लिए इन दिनों पर्यटकों की भीड़ लगी है।
  • एक अक्टूबर से लगातार पर्यटक झील में बोट का लुत्फ उठाने के लिए यहां पहुंच रहे हैं।
  • अवकाश का दिन होने के चलते बीती शनिवार व रविवार को सुबह से लेकर दोपहर बाद तक बोटिग प्वाइंट पर बाहर से आने वाले पर्यटकों की लाइन लगी रही।

उत्तराखंड पर्यटन का अब टिहरी झील की रौनक आजकल देखते ही बनती है। अनलॉक में कुछ छूट मिलने के बाद पिछले कुछ माह से बंद पड़ी पर्यटन गतिविधि अब जोर पकड़ने लगी है। दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, गाजियाबाद के अलावा देहरादून, ऋषिकेश से कार व बाइक से सबसे ज्यादा पर्यटक यहां पहुंच रहे हैं।

  • पिछले दस दिनों से बाहर से आने वाले पर्यटकों के वाहनों की झील के समीप कोटीकालोनी में लंबी लाइन लगी है।
  • बीती शनिवार व रविवार को अवकाश का दिन होने के चलते दिनभर झील में पर्यटकों का तांता लगा रहा।
  • शनिवार को जहां एक हजार पर्यटक पहुंचे वहीं रविवार को सबसे ज्यादा करीब 13 सौ पर्यटकों ने झील में बोटिग का लुत्फ उठाया।
  • पिछले पांच दिनों में यहां पर पांच हजार से अधिक पर्यटक पहुंच चुके हैं। 42 वर्ग किमी टिहरी झील इन दिनों लबालब है।
  • यहां पर बड़ी संख्या में पर्यटकों के पहुंचने से पिछले छह माह से आर्थिक संकट झेल रहे बोट संचालकों के चेहरे भी खिले हैं।
  • बच्चों से लेकर युवा, बुजुर्ग झील में बोटिग का लुत्फ उठा रहे हैं।
  • बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग तोताघाटी में बाधित होने के चलते यात्री भी इन दिनों टिहरी झील से होकर निकल रहे हैं। वे भी व्यू प्वांइटों से झील का दीदार कर रहे हैं।
  • झील में पर्यटकों के आने से नई टिहरी, काणाताल, चंबा आदि जगहों पर रौनक बढ़ी है।
  • जिला पर्यटन अधिकारी एसएस यादव का कहना है कि इन दिनों काफी संख्या में पर्यटक यहां पहुंच रहे हैं। दो दिन अवकाश होने के चलते पर्यटकों की भीड़ बढ़ी है।