एक बछड़े को निकालने के लिए कुएं में जहरीली गैस की चपेट में आने से 5 की मौत

गोंडा/लखनऊ: उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के शहर कोतवाली इलाके में मंगलवार को एक बछड़े को निकालने के लिए कुएं में उतरे पांच लोगों की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत हो गई.

गोंडा के अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार ने बताया कि कोतवाली नगर क्षेत्र के महाराजगंज मोहल्ले में एक कुएं में गाय का एक बछड़ा गिर गया था. उसे निकालने के दौरान यह हादसा हुआ.

सूचना पाकर मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस, दमकलकर्मियों तथा नगरपालिका की टीम ने काफी प्रयास के बाद सभी को बाहर निकालकर जिला चिकित्सालय भिजवाया जहां चिकित्सकों ने उन सभी को मृत घोषित कर दिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार एसएचओ ने बताया, ‘सबसे पहले बछड़े को निकालने के लिए 30 वर्षीय वैभव बारी गए तो कुएं में फिसलकर गिर गए, जिसमें चार फीट तक पानी भरा हुआ. वहां मौजूद लोगों ने कुएं में गिरे वैभव को आवाज दी, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया.’

उनके मुताबिक, इसके बाद उनके चचरे भाई 40 वर्षीय रिंकू कुएं में उतरे तो वह भी बाहर नहीं आए तो उनके छोटे भाई 22 वर्षीय छोटू कुएं में गए और वह भी काफी देर तक बाहर नहीं आए, तब उनके 40 वर्षीय चचेरे भाई विष्णु कुएं के अंदर गए.

एसएचओ ने बताया, ‘इस बीच मन्नु सैनी नाम के एक राहगीर ने कहा कि वह मदद कर सकते हैं. मन्नु भी कुएं में गए, लेकिन वह भी बाहर नहीं निकल सके.’

उन्होंने बताया कि सभी की मौत हो गई तो पुलिस को खबर की गई. हमने शवों को कुएं से बाहर निकाला. कुएं में गिरे बछड़े की भी मौत हो गई थी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जहरीली गैस से लोगों की मृत्यु पर गहरा दुख और शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. मुख्यमंत्री ने इस घटना पर दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की सहायता का ऐलान किया है.