व्यंग्य : पप्पूगिरी

ललित शौर्य, पिथौरागढ़ चिंटू, पिंटू, मिंटू, सबकी जयजय होय। पर बेचारे पप्पू को, पूछत नाही कोय।। उपरोक्त दुमदार पंक्तियाँ पप्पू

Read more