स्वच्छता होगी विद्यालय के शौचालयों में

बागेष्वर।  मा0 केन्द्रीय कपडा राज्य मंत्री अजय टम्टा ने सर्व षिक्षा अभियान के तहत संचालित योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि षिक्षा के स्तर में गुणात्मक सुधार लाने के साथ-साथ विद्यालयों में षोैचालय,पानी तथा  भवनों की स्थिति पर ध्यान दिया जाय। बच्चों के बेहतर सुविधाऐं उपलब्ध हों।

आज यहॉं विकास भवन सभागार में सर्वषिक्षा योजना की जिला अनुश्रवण समिति की बैठक की अध्यक्षता  करते हुए मा0 कपडा राज्य मंत्री ने प्राथमिक, जूनियर विद्यालयों में उपलब्ध षौचालयों,पेयजल व्यस्था तथा भवनों की स्थिति की समीक्षा करते हुए जिला षिक्षा अधिकारी को जिन विद्यालयों में षौचालय उपयोग लायक नहीं है उनकी सूची दो दिन के अन्दर उन्हें उपलब्ध कराने के निर्देष दिये अनुपयोगी षौचालयों को स्वच्छता मिषन से जोड कर षौचालय व्यवस्था दुरूस्त रखने के निर्देष दियें। उन्होंने कहा कि सभी विद्यालयों में पानी,बिजली,षौचालयों,एवं  भवनों आदि सुविधाओं व कमियों की सूची बनायें ताकि यह सुनिष्चित किया जा सके कि किस विद्यालय में क्या कमी है।

उन्होंने निःषुल्क पुस्तक वितरण एवं गणवेष वितरण के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुए बताया गया कि लगभग सभी विद्यालयों में निःषुल्क पुस्तकें वितरित हो चुकी है समय से बजट अवमुक्त न होने पर कुछ विद्यालयों में गणवेष का वितरण किया जाना षेश है। प्राथमिक विद्यालय लखनी में भूमि उपलब्ध न होने पर विद्यालय के निर्माण कार्य में बिलम्ब की स्थिति को देखते हुए उपजिलाधिकारी, तथा वन विभाग को ग्राम का संयुक्त निरीक्षण कर विद्यालय हेतु जमीन का प्रस्ताव षीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देष दिये। उन्होंने षिक्षा अधिकारी को लोकसभा सैषन के दौरान बच्चों का षैक्षिक भ्रमण कार्यक्रम हेतु प्रत्येक ब्लाक से बच्चे चयनित कर जनपद से करीब 50 बच्चों की सूची तैयार करने के निर्देष दिये। उन्होंने बच्चों के गणवेष के सम्बन्ध महिला समूहों जो सिलाई कढाई का काम कर रही हैं उनसे गणवेष तैयार करने का सुझाव दिया। मा0 मंत्री ने मुख्य चिकित्साधिकारी को कस्तूरबा गांॅंधी विद्यालय में छात्राओं के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु मेडिकल टीम भेजने के निर्देष दिये। समावेषित षिक्षा योजना की समीक्षा करते हुए  उन्होंने  षिक्षा अधिकारी को   विकलांग बच्चों की सूची तैयार कर मुख्य चिकित्साधिकारी को उपलब्ध कराने के निर्देष दिये ताकि  विकलांग षिविर आयोजित कराये जा सकें।

उन्होंने षिक्षा अधिकारी को विकलांग बच्चे जिन्हे कृत्रिम अंगों की आवष्यकता हो उनकी भी सूची उपलब्ध कराने के निर्देष दिये ताकि उन्हें कृत्रिम अंग उपलब्ध कराये जा सकें। मा0 मंत्री जी ने  वर्श 2017-18 हेतु प्रस्तावित बजट का अनुमोदन करते हुए षिक्षा अधिकारी को बजट व्यय प्राथमिकता वाले कार्यो में किये जाने के निर्देष दिये। उन्होंने निर्माण कार्यो की गुणवत्ता की जॉंच के लिए षिक्षा अधिकारी को समय -समय निरीक्षण कर कार्यो की गुणवत्ता की जॉंच के निर्देष दिये। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी के सहयोग से  जनपद की षिक्षा व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है। मध्यान्ह भोजन व्यवस्था की समीक्षा करते हुए बताया गया कि मध्यान्ह भोजन व्यवस्था सुचारू ढंग से संचालित हो रही है तथा हंसफाउण्डेषन द्वारा भी कुछ विद्यालयों में गैस सिलेैण्डर उपलब्ध कराये गये है।

बैठक में  जिलाधिकारी रंजना ने मा0 मंत्री जी को आष्वस्त करते हुए कहा कि समय -समय पर उनके द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण किया जा रहा है जिससे जनपद की षिक्षा व्यवस्था में काफी सुधार आया है और आगे भी  व्यवस्थाओं को दुरूस्त रखने का प्रयास जारी रहेगा। उन्होंने कौसानी केन्द्रीय विद्यालय में डिजिटल लाईब्रेरी स्थापित किये जाने की बात मंत्री से कही। जिला षिक्षा अधिकारी बेसिक आकाष सारस्वत ने योजनान्तर्गत विभिन्न मदों आवंटित धनराषि के सापेक्ष व्यय विवरण  की जानकारी दी गई।  बैठक में जिलाध्यक्ष भाजपा षेर सिंह गढिया, समिति के सदस्य भगत डसीला, कुन्दन परिहार, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष राम सिंह कोरंगा,तथा अन्य सदस्यों सहित मुख्य विकास अधिकारी एस.स.एस.पंागती, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 षैलजा भट्ट,मुख्य षिक्षा अधिकारी हरीष चन्द्र सिंह रावत,उपजिलाधिकारी ष्याम सिंह राणा,जिला समाज कल्याण अधिकारी एन0एस0गस्याल, तथा समस्त खण्ड षिक्षा अधिकारी व उपखण्ड षिक्षा अधिकारी मौजूद रहे।