सभी महाविद्यालयों में शौर्य दिवारो का निर्माण

अल्मोड़ा। देश के लिए जिन वीर सपूतो, सैनिको ने अपने प्राणों की शहादत दी है ऐसे लोगो के बारे में युवा पीढ़ी को बताना हमारी जिम्मेदारी होगी ताकि आने वाले समय में उनके बलिदान से युवा पे्ररणा ले सकें यह बात प्रदेश के मा0 उच्च शिक्षा, सहकारिता एवं दुग्ध विकास मंत्री डा0 धन सिंह रावत ने आज स्व0 जयदत्त बेला स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी राजकीय महाविद्यालय रानीखेत में परमवीर चक्र विजेताओं के शौर्य दिवार में लगे फोटो के अनावरण के अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सभी महाविद्यालयों में शौर्य दिवारो का निर्माण किया जा रहा है ताकि जो युवा इन वीर विजेताओं को नहीं जानते है उनके बलिदान को जान सकें। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अभी तक 250 से ज्यादा शौर्य दिवारों का निर्माण किया जा चुका है जो अपने आप में गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि इस कार्य में क्षेत्रीय विधायक, सांसद भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है।

उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश मंे 877 असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति कर दी गयी हैं और तीन महीने के अन्तर्गत प्रोफेसरों की नियुक्ति कर दी जायेगी। उन्होंने कहा कि महाविद्यालयों हेतु शैक्षिक कलैण्डर तैयार कर दिया गया है साथ ही 180 दिन सभी महाविद्यालयों में पढ़ाई अनिवार्य कर दी गयी है। डा0 रावत ने कहा कि अगले वर्ष शौर्य दिवार 02 का भी शुभारम्भ किया जायेगा जिसमें कारगिल शहीदो व वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की फोटो होगी जिसमें सभी उल्लेख हिन्दी में होंगे।