जनगणना रजिस्टर : नागरिकों को मिलेगी पुख्ता पहचान

DSCN9720रूद्रपुर। आज कलक्टेट सभागार में जनगणना 2011 के दौरान किये गये मकान सूचीकरण के आधार पर राज्य जनसंख्या रजिस्टर में डाटा बेस को अद्यतन करने और आधार नंम्बर को एन.पी.आर. डाटा बेस में सम्मिलित करने हेतु जनपद के विभिन्न हिस्सों से आये हुये तहसीलदारों, नगर निगम व नगर पालिका/नगर पंचायतों के अधिकारियों एवं अन्य कर्मचारियों को सहायक निदेशक जनगणना लक्ष्मण सिंह रावत द्वारा गहन प्रशिक्षण दिया गया। श्री रावत ने बताया कि भारत सरकार के प्रोजेक्ट के अनुसार जिला स्तर व राज्य स्तर पर अपडेट जनगणना पंजिका बनाई जायेगी तदुपरान्त राष्ट्रीय स्तर पर जनगणना रजिस्टर बनाया जायेगा। जिसके अन्तर्गत प्रत्येक अर्ह नागरिक को राष्ट्रीय जनगणना पहचान पत्र दिया जायेगा। जिससे नागरिकों के पास पुख्ता पहचान पत्र हो जायेगा। इस पहचान पत्र में डुप्लीकेसी नही की जा सकती है। श्री रावत ने अधिकारियों से कहा कि यह एक राष्ट्रीय स्तर का महत्वपूर्ण कार्य है।

उन्होंने अधिकारियों/कर्मचारियों को विस्तार से आधार नं0 को एन.पी.आर. डाटा बेस में शामिल किये जाने के टिप्श दिये। श्री रावत ने कहा कि इस कार्य में मुख्य भूमिका प्रगणकों की है अतः अधिकारी प्रगणकों को चयनित कर अपने स्तर से उन्हें अच्छी तरह से प्रशिक्षित कर लें। उन्होंने कहा कि प्रगणकों का कार्य महत्वपूर्ण है लिहाजा वे चैकसी पूर्वक परिवारों के सदस्यों की छानबीन करें तथा कोई भी सदस्य डाटा बेस कार्य से न छूटने पाये। उन्होंने बताया कि तहसील स्तर पर प्रगणकों को 02 नवम्बर से 06 नवम्बर तक प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रगणक द्वारा घर-घर जाकर परिवारों के अपडेशन का कार्य किया जायेगा।  उन्होंने बताया कि 17 नवम्बर से 16 दिसम्बर तक डाटा बेस को अद्यतन किये जाने का कार्य प्रगणकों द्वारा किया जायेगा। श्री रावत ने बताया ने प्रगणकों हेतु मानदेय की व्यवस्था भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस महत्वपूर्ण कार्य के लिये राज्य स्तर पर गढवाल मण्डल के आयुक्त सीएस नपलच्याल को स्टेट कोआर्डीनेटर बनाया गया है।

प्रशिक्षण में जिला समन्वयक प्रवीण कुमार, तहसीलदार एचसी मुरारी, धनीराम आर्य, रमेश गौतम, खीम सिह बिष्ट, ईओ सरिता राणा, प्रतिभा कोहली के अलावा, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी धरम सिंह राणा, प्रभाष चन्द्र मण्डल समेत नगर निगम रूद्रपुर के वाईएस रावत, काशीपुर के सुरेश बेदी सहित अन्य तहसीलो से आये हुये अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।