लोगों को शौचालय बनाने के लिये प्रेरित किया जाय : खण्डूडी

DSC00028रूद्रप्रयाग। जिला कार्यालय सभागार में जिला सर्तकता एवं अनुश्रवण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए गढ़वाल सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री मेजर जनरल भुवन चन्द्र खण्डूडी एवीएसएम (से0नि0) ने कहा कि लोगों को शौचालय बनाने के लिये प्रेरित किया जाय। गांवों को शौचालययुक्त बनाने पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि शौचालयों के निर्माण कार्य समय से पूरे होने चाहिए। कहा कि न्याय पंचायत व ग्राम पंचायतों को पूर्णरूप से शौचालय युक्त बनाएं जाने के प्रयास होने चाहिए। इससे पूर्व सांसद श्री खण्डूडी ने देवलीभणिग्राम पहॅुचकर सांसद आर्दश ग्राम योजना के तहत सांसद आर्दश ग्राम देवलीभणिग्राम की विकास योजनाओं के बारे में अधिकारियो से चर्चा की और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये।

कलक्टेट में आयोजित बैठक में सांसद श्री खण्डूडी ने कहा कि कोई भी परिवार शौचालय बिहीन न रहे इसके लिये शौचालय, पानी व स्वच्छता पर ध्यान दिया जाना चाहिए। बैठक में परियोजना प्रबन्धक स्वजल ने अवगत कराया कि ऊखीमठ ब्लाक को इस वर्ष खुले से शौचमुक्त कराने का लक्ष्य रखा गया है जिसके लिये कार्ययोजना स्वजल द्वारा तैयार कर न्याय पंचायत व ग्राम पंचायत स्तर पर ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों के सहयोग से पूर्ण किया जाना है। पीएमजीएसवाई की समीक्षा में सांसद ने कहा कि पहले से स्वीकृत सडकों का निर्माण पूरा करने के प्रयास किये जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि सड़कें मानकों के अनुरूप निर्मित हों और आधी-अधूरी सड़कों के कार्य पूर्ण किये जांय। उन्होंने पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियन्ता से जनपद में 05 वर्षो के भीतर ठेकेदारों द्वारा मेंटीनेंस की गई सडकों की जानकारी ली गई।

इस पर अधिशासी अभियन्ता पीएमजीएसवाई ने बताया कि 2 वर्षो से सडकों की मेंटीनेंस मद के लिये धनराशि नहीं मिलने के कारण मेंटीनेंश का कार्य नहीं कराया गया जबकि इस वर्ष इस मद में धनराशि प्राप्त हो चुकी है और सडकों पर मेंटीनेंस का कार्य कराया जा रहा है। सांसद ने कहा कि यदि मानकों के अनुसार सड़कें निर्मित की गई हैंै तो टीम भेजकर सडकों का निरीक्षण कराया जायेगा। पीएमजीएसवाई की सडकों के रख-रखाव पर सांसद श्री खण्डूडी ने अधिशासी अभियन्ता को स्थिति साफ करने के निर्देश दिये। शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान प्रधानाचार्यो एवं शिक्षकों की कमी पर उन्होंने कहा कि उपलब्ध प्रधानाचार्यो और शिक्षकों के वेहतर उपयोग कैसे किया जा सकता है, इसके लिये प्रयास किये जाने चाहिए। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में पीपीपी मोड में संचालित जखोली हास्पिटल में कर्मचारियों की मनमानी की शिकायत पर सांसद ने मुख्य चिकित्साधिकारी को समस्या के समाधान के निर्देश दिये।

बैठक में ग्राम्य विकास विभाग की समीक्षा के दौरान ब्लाक प्रमुख जगमोहन सिंह रौथाण ने कहा कि एनआरएलएम के तहत जिले के तीनों ब्लाक अभी तक असघन श्रेणी में होने के कारण नये ग्रुपों का गठन नहीं हो पा रहा है। उन्होंने सांसद से तीनों ब्लाकों को सघन श्रेणी में लाने का अनुरोध किया, वहीं उन्होंने दीनदयाल उपाध्याय विद्युतीकरण में बजट कम मिलने एवं इंदिरा आवास में केन्द्र और राज्य का अनुदान पूर्व की भांति रखने का सुझाव भी दिया।

इस अवसर पर ब्लाक प्रमुख ऊखीमठ संतलाल शाह, जिला पंचायत उपाध्यक्ष लखपत सिंह भण्डारी, जिला पंचायत सदस्य महावीर सिंह पंवार, देवेश्वरी देवी, मीना पुण्डीर, योगम्बर सिंह, समिति सदस्य श्रीमती अनुसूइया पटवाल, डाॅ संजय वशिष्ठ, मोहन लाल, लक्ष्मण सिंह सजवाण, जिलाधिकारी डाॅ राघव लंगर, मुख्य विकास अधिकारी सुनील कुमार, सीएमओ डाॅ आरपी बडोनी, परियोजना निदेशक मोहन सिह नेगी सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।