सरकारात्मक रूप से प्रशिक्षण में प्रतिभाग करें

devbhoomi-samachar-rudraprayag-dmरूद्रप्रयाग। सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 के संबंध में लोक सूचना अधिकारियों के दूसरे चरण का प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ उप जिलाधिकारी/नोडल अधिकारी सीएस चैहान ने किया। कहा कि सूचना देने की प्रकिया, लोक सूचना अधिकारी के दायित्वों आदि के बारे में मास्टर ट्रेनर्सो द्वारा बताई गई सभी बातों को भली-भांति समझें तथा सभी गंभीरता एंव सरकारात्मक रूप से प्रशिक्षण में प्रतिभाग करें।

जिला कार्यालय सभागार में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में उप जिलाधिकारी श्री चैहान ने उपथित 25 विभागों के लोक सूचना अधिकारियों को प्रशिक्षण का पूरा लाभ उठाने को कहा तथा सूचना देने की प्रकिया को भली-भांति समझें। कहा कि लोक सूचना अधिकारियों को सूचना का अधिकार अधिनियम के अनुसार कार्य करना है इसलिये प्रशिक्षण के दौरान अपनी शंकाओं का भी समाधान करा लें। साथ ही उत्तराखण्ड सूचना का अधिकार नियमावली-2013 के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर लें।

उन्होंने यह भी कहा कि आगामी 29 सितम्बर को राज्य सूचना आयुक्त श्री रावत द्वारा लोक सूचना अधिकारियों तथा अपीलीय अधिकारियों के साथ जिला कार्यालय सभागार में दो पालियों में सूचना का अधिकार अधिनियम को लेकर चर्चा की जायेगी। उन्होंने बताय कि प्रथम पाली में लोक सूचना अधिकारियों के साथ तथा द्वितीय पाली में अपीलीय अधिकारियों के साथ चर्चा की जायेगी। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को ऐसे सभी मामले जिनके निस्तारण करते समय किसी बिन्दु पर शंका रही है, उनको चर्चा में अपने साथ लायें और अवसर मिलने पर उन्हें राज्य सूचना आयुक्त के समक्ष प्रस्तुत करके उनके समाधान के संबंध में मार्गदर्शन प्राप्त करें।

इस अवसर पर मास्टर टेªनर्स/जिला सेवायोजन अधिकारी कपिल पाण्डेय ने सूचना का अधिकार अधिनियम की पृष्ठभूमि पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हक के तौर पर सूचना मांगना और उसका दिया जाना सूचना का अधिकार है, यह एक मौलिक अधिकार है, जो संविधान का हिस्सा है। उन्होंने लोक सूचना अधिकारियों के दायित्वों के बारे में विस्तार सेे जानकारी दी तथा उनकी शंकाओं का भी समाधान किया।

कहा कि सूचना लेने के लिये आवेदक किसी भी रूप में आवेदन दे सकता है इसके लिये निर्धारित कोई प्रारूप नहीं है। वहीं मास्टर टेªनर्स/अनुदेशक आईटीआई भाष्करानंद पुरोहित ने कहा कि केन्द्र सरकार, राज्य सरकार व स्थानीय प्रशासन के हर आॅफिस में सूचना देने के लिये लोक सूचना अधिकाधिकारियों को नामित किया गया है और लोक सूचना अधिकारी सूचना देने के लिये बाध्य है। इस अवसर पर लोक सूचना अधिकारियों को एक्ट के बारे में विस्तार से प्रोजेक्टर के माध्यम से भी जानकारी दी गई। इस अवसर विभिन्न विभागों के लोक सूचना अधिकारी उपस्थित थे