पीडब्लूडी कर रहा है पैदल मार्ग निर्माण का कार्य

रूद्रप्रयाग। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने केदारनाथ धाम में चल रहे पुर्ननिर्माण कार्यों का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने लोक निर्माण विभाग और नेहरू पर्वतारोहण संस्थान, निम को निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। केदारनाथ धाम में निम द्वारा सरस्वती नदि पर बाड सुरक्षा कार्य किया जा रहा है, जबकि पीडब्लूडी पैदल मार्ग निर्माण का कार्य कर रहा है।

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि केदारनाथ मंदिर गेट से लेकर सर्किल प्वाइंट तक पैदल मार्ग को नये स्वरूप में तैयार किया जाएगा। भगवान केदारनाथ के दर्शनों को आने वाले श्रद्वालुओं को दूर से ही मंदिर के भव्य स्वरूप के दर्शन हो सकेे इसके लिए पुराने पैदल मार्ग को चार से पांच मीटर तक खोदकर मलबे को हटाया जाएगा। जिसके बाद 250 मीटर लम्बे और 50 फीट चैडे सीसी मार्ग का निर्माण किया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि यदि मौसम ने साथ दिया तो पीडब्लूडी द्वारा आगामी पांच दिसम्बर तक पूरा मलबा हटाया लिया जाएगा और पन्द्रह दिसम्बर तक खडिंचा मार्ग का निर्माण कर दिया जाएगा। जिसके बाद यात्रा शुरू होने के एक माह पूर्व मार्ग को सीसी मार्ग के रूप में तैयार दिया जाएगा।

जिलाधिकारी ने सरस्वती नदी पर चल रहे बाढ सुरक्षा कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर निम के टीम लीडर देवेन्द्र सिंह ने बताया कि निम द्वारा प्रोटेक्शन वाल का निर्माण तेजी से किया जा रहा है और यदि बर्फवारी नहीं हुई तो जल्द से जल्द कार्य पूरा कर दिया जाएगा। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने पीडब्लूडी के सहायक अभियंता हीरा सिंह को निर्देशित किया कि वह लेबरों के लिए पूरे गर्म कपडे मुहैया कराए ताकि उन्हें किसी भी परेशानी का सामना न करना पडे और निर्माण कार्यों में भी तेजी आ सके। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने उरेडा विभाग को जल्द से जल्द पावर प्लांट शुरू करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने बताया कि पुर्ननिर्माण कार्य में तेजी आ सके इसके लिए संसाधनों को बढाया जाएगा। जरूरत पडी तो टिपर और पोकलैंण्ड मशीनों की संख्या बढाई जाएगी, ताकि निर्माण कार्य जल्द से जल्द पूरे किए जा सके और अगली यात्रा तक श्रद्वालुओं को बेहतर से बेहतर सुविधाएं मुहैया हों। उन्होंने कहा कि लिंनचैली और केदारनाथ के बीच कुछ जगहों पर पैदल मार्ग की स्थिति खराब है, जिसे जल्द से जल्द ठीक दिया जाएगा ताकि इस पर श्रद्वालु और घोडे खच्चरों की सुगमता से आवाजाही हो सके। इसके साथ ही केदारनाथ में मंदाकिनी नदी पर घाट निर्माण कार्य के लिए ई-टेंण्डरिंग की कार्यवाही चल रही है और आने वाले पन्द्रह दिनों के भीतर यह कार्य भी शुरू कर दिया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि शनिवार को जिंदल ग्रुप और आरकेटैक्ट की टीमें केदारनाथ में पहुंच रही और जो अन्य पुननिर्माण कार्य होने वह भी जल्द से जल्द शुरू कर दिए जाएगे।