पूंजी निवेश को आकर्षित करने के लिए इंवेस्टर्स मीट का आयोजन

देहरादून। पूंजी निवेश को आकर्षित करने के लिए इंवेस्टर्स मीट का आयोजन किया जायेगा। इसके लिए उद्योग विभाग सेक्टोरल प्रोफाइल तैयार कर रहा है। विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं को संकलित किया जा रहा है। इस बारे में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह ने कहा कि टारगेटेड मार्केटिंग पर फोकस करें। विभिन्न उत्पादों के संगठनों से सम्पर्क करें। तय करें कि उत्तराखंड में पूंजी निवेश किस क्षेत्र में आकर्षित किया जा सकता है। उन्होंने कहा विभिन्न विश्वविद्यालयों, संस्थानों में पढ़ रहे छात्रों की इंटर्नशिप सेवाएं जी जा सकती हैं। कैम्पस सेलेक्शन कर इन छात्रों की प्रतिभा का लाभ किया जा सकता है।

प्रमुख सचिव उद्योग श्रीमती मनीषा पंवार ने बताया कि राज्य गठन के समय 9000 करोड़ का निवेश बढ़कर 35,000 करोड़ रूपये हो गया है। 3.70 लाख लोगों को रोजगार के अवसर मिले हैं। सिंगल विंडो सिस्टम लागू होने के बाद राज्य में 4346 करोड़ रूपये पंूजी निवेश के प्रस्ताव मिले हैं। इनमें से ज्यादातर खाद्य प्रसंस्करण, रबर, प्लास्टिक, टैक्सटाइल के प्रस्ताव हैं। कृषि और वानिकी में वैल्यू चेन की कार्ययोजना बना ली गई है। क्लस्टर एप्रोच पर कार्य किये जा रहे है। इसके साथ ही बायों टेक्नालाजी, फर्मास्युटिकल, आयुर्वेद, योग, पंचकर्म, वेलनेस सेंटर, जड़ी-बूटी, सगंध पादप आदि में पंूजी निवेश की प्रचुर संभावना है। बताया गया कि उत्तराखंड ने भूमि को पट्टे पर देने के लिए लैंड लीजिंग पाॅलिसी बनाई है। निवेशक इसका लाभ भी ले सकते हैं।

बैठक में प्रमुख सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, सचिव वित्त श्री अमित नेगी, सचिव उर्जा श्रीमती राधिका झा, सचिव स्वास्थ्य नितेश झा, सचिव कृषि श्री डी.सैन्थिल पांडियन, एमडी सिडकुल सौजन्या, सचिव राजस्व श्री हरबंश सिंह चुघ सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।