दो ही वर्षों में दिखा दिए तारे

भ्रष्टाचारी एवं साम्प्रदायिक तत्व फेंकू मोदी से दुःखी  

RBL Nigamआर.बी.एल.निगम

प्रधानमंत्री मोदी ने  इंडिया गेट से एक नयी सुबह के कार्यक्रम में देशवासियों को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने बहुत की बारीकी से देशवासियों को अपने कामकाज से रूबरू कराया। कुछ लोग जो कह रहे हैं कि मोदी से दो वर्षों में कुछ नहीं किया वो लोग इस खबर को पढ़कर शर्म से डूब मरेंगे। खासकर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेता देश में नकारात्मकता फैलाने के लिए कह रहे हैं कि मोदी ने दो वर्षों में कुछ नहीं किया। आज मोदी ने बहुत ही इत्मीनान से बताया कि उन्होंने दो वर्षों में क्या किया है और उनके कामकाज से देश कैसे बदल रहा है, देश कैसे आगे बढ़ रहा है।

nn30516-00 nn30516-01“फेंकू किसी को छोड़ना मत”

अभी कुछ ही समय पूर्व मेरे लेख शीर्षक “मोदी है ही फेंकू” को कुछ ने केवल शीर्षक देख कर उल्टी सीधे सर्वनामों से अलंकृत कर फेसबुक से नाम ही निकाल दिया। कुछ परिचितों ने तो मोबाइल पर आपत्ति दर्ज़ करवाने पर उनको कहा “पत्रकार हो, लेख तो पूरा पढ़िए” ;जहाँ तक विरोधिओं की बात है, शीर्षक देख पढ़ते  और अपना माथा ठोकते। वास्तव में इस तरह के शीर्षकों में मैं अपने दो सम्पादकों का अनुसरण करता हूँ प्रथम (स्व) श्री केवल रतन मलकानी और दूसरे डॉ आर.बालशंकर। अभी भी मैं शीर्षक “फेंकू किसी को छोड़ना मत” देना चाह रहा था। वास्तव में 1947 में स्वतन्त्रता प्राप्त कर नेता, व्यापारी और समाज वशीभूत हो कर देश को पाताल से भी नीचे धकेलने में प्रयत्नशील थे। जिसका प्रमाण ” दूध तो बस एक झांकी है, अन्य चीज़ें अभी बाकी हैं” लेख में भी दिया था। इसीलिए अपने अनेकों लेखों में ब्रिटिश काल से आज स्वतन्त्र भारत की तुलना करता रहता हूँ। सच्चाई यह है कि किसी भी मोदी विरोधी के पास कोई मुद्दा नहीं है। उल्टे-सीधे धरने, प्रदर्शन एवं सदन में अवरोध कर जनता का ध्यान परिवर्तित करने का प्रयास करते हैं। मोदी वास्तव में बेशर्म है, जो 13+2 =15 वर्षों से गालियाँ खाने के बावजूद जनहित एवं भारत का नाम उज्जवल करने में एक मस्त हाथी की तरह चल रहा है।

nn30516-02सेवानिर्वित हो एक पाक्षिक को सम्पादित करते उसमे जो लिखते, मोदी वही बात बोलते, प्रबन्धक एवं पाठकों को ऐसा आभास हो गया कि “निगम मोदी का आदमी है, जो यह लिखता है मोदी अपने भाषण में लगभग वही बोलता है”, ज़िन्दगी में मोदी से मिला नहीं।  बस इतना संतोष जरूर होता था कि “जो लिख रहा है, गलत नहीं है। कोई अँधेरे में लठ नहीं फेंक रहा। ” मेरी दृष्टि से मोदी राज नहीं कर रहा, बल्कि अभी तो सरकार में फैले गंद को साफ किया जा रहा है।

मोदी ने कहा कि जनता जनार्दन के हम पर दिनों दिन आशीर्वाद बढ़ते जा रहे हैं तो हमारे काम का उत्साह भी बढ़ता जा रहा है। उन्होंने कहा कि मै उन लोगों के लिए कुछ नहीं कह सकता जिसका राजनीतिक रूप से विरोध करना अनिवार्य होता है। उन्होंने कहा कि उनका विरोध करना स्वाभाविक भी है और लोकतंत्र में ऐसी बातें चलती रहती हैं।

उन्होंने कहा कि देश ने पिछले 15 दिन में दो बातें स्पष्ट देखी हैं – एक तरफ विकासवाद है तो दूसरी तरफ विरोधवाद है, विकासवाद और विरोधवाद के बीच में जनता जनार्दन दूध का दूध और पानी का पानी करके क्या सत्य है और कितना सत्य है इसको भली भाँती नाप सकती है।

मोदी ने कहा कि विरोध की अनेक बातें हो रही हैं जिन्हें वे दोहराना नहीं चाहते लेकिन चिंता इस बात की जरूर होती है कि मुद्दों के आधार पर, हकीकतों के आधार पर, हर काम का कठोर तरीके से मूल्यांकन होना लोकतंत्र के लिए आवश्यक है लेकिन कहीं हम ऐसी गलती ना कर दें जो देश को बिना कारण निराशा की गर्त में धकेलने का प्रयास करती है।

nn30516-06उन्होंने कहा कि कहीं कहीं पर ये बातें सामने आती हैं जिनमें हकीकतों का कोई आधार नहीं होता है, लेकिन उस पर इस प्रकार की स्थितियां सवार हो जाँय, ये कभी कभी चिंता पैदा करती हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार के कामकाज का लेखा जोखा पुरानी सरकारों के कामकाज के सन्दर्भ में होता है, पहले क्या होता था, अब क्या हो रहा है, इसका तुलनात्मक अध्ययन होता है, अगर हम बीती हुई सरकारों की बातों को भुला दें और अचानक ही चीजों की चर्चा शुरू कर दें तो सही मूल्यांकन नहीं हो सकता।

कोयले की समस्या से देश को बाहर निकालना छोटा काम नहीं था: मोदी

nn30516-10उन्होंने कहा कि अगर हम यह कहें कि हमने कोयले की समस्या को हल कर दिया। क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि अगर अचानक ही सुप्रीम कोर्ट कोयले की खदानों के लाइसेंस रद्द कर दे और बिजली के कारखानों में कोयले का संकट पैदा हो जाय तो क्या होगा।

उन्होंने कहा कि ऐसी घटना जिसमें पूरी सरकार जो कोयले के भ्रष्टाचार के कारण बदनामी भुगत चुकी हो, दो वर्ष पहले कोई अख़बार, कोई टीवी, कोई चैनल, कोई चर्चा, कोई भाषण और कोई दिन ऐसा नहीं था जिसमें भ्रष्टाचार की बातें ना बोली जाती हों।

उन्होंने कहा कि हमने कोयले की पारदर्शी तरीके से नीलामी की, अब तक इसपर कोई सवालिया निशान नही लगा है, देश के खजाने में लाखों करोड़ रुपये आना तय है, राज्यों के खजाने में भी पैसा जा रहा है, इसके अलावा कोयले की खदानों के आसपास गरीब आदिवासी रहते हैं, उनके कल्याण के लिए फण्ड निकलने वाला है। उन्होंने कहा कि यह सभी बातें अगर मै ऐसे ही कह दूँ तो लगता है कि चलो भाई मोदी ने यह काम कर दिया लेकिन इसकी ताकत तब समझ में आती है जब आप सोचते हैं कि सुप्रीम कोर्ट को ऐसा क्यों करना पड़ा था, कोयले में इतना बड़ा भ्रष्टाचार क्यों हुआ था, वो कौन से तरीके थे जिसमें जमकर लूट हुई थी और उसमें से देश को बाहर लाना, तब जाकर समझ में आता है कि काम कितना बड़ा हुआ है, काम कितना महत्वपूर्ण हुआ है।

हमने भ्रष्टाचार के दीमक को ख़त्म कर दिया: मोदी

nn30516-05उन्होंने कहा कि जब तक हम बीती हुई सरकार के दिनों को स्मरण करके वर्तमान के निर्णयों को परखेंगे तो हमें ध्यान आएगा कि बदलाव कितना बड़ा आया है। इस बात से कौन इनकार कर सकता है कि दीमक की तरह भ्रष्टाचार ने इस देश को अन्दर से खोखला कर दिया है, तबाह कर दिया है, हमारे हर सपने को चूर चूर करने की ताकत अगर किसी दीमक में है तो उसका नाम भ्रष्टाचार है।

मोदी ने कहा कि मैंने भ्रष्टाचार के खिलाफ बहुत ही सटीक तरीके से एक के बाद एक कदम उठाकर हिन्दुस्तान के जन मन को आंदोलित करने वाला ठोस प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि जब आप इनकी गहराई में जाओगे तो चौंक जाओगे।

जो बेटियां पैदा भी नहीं होती थी उसे विधवा बनाकर पेंशन दिया जाता था

मोदी ने कहा कि आप कल्पना कर सकते हो कि देश कैसे चला है, वो बेटी जो कभी पैदा भी नहीं हुई है, देश की सरकारों की फाइलों में वह बेटी विधवा भी हो जाती है और उस विधवा बेटी को पेंशन भी मिलना शुरू हो जाती है और उसे वर्षों तक पेंशन मिलती रहती है। उन्होंने कहा कि कभी ऐसे भ्रष्टाचारों की चर्चा भी नहीं होती।

फर्जी गैस कनेक्शन ख़त्म करके 15 हजार करोड़ रुपये बचाए

nn30516-08उन्होंने कहा कि हमने जब डायरेक्ट बेनिफिट ट्रान्सफर (DBT) के अंतर्गत रसोई गैस की सब्सिडी डायरेक्ट पहुँचाना शुरू किया, उसे जनधन और आधार कार्ड से लिंक किया तो बहुत ही गहरा राज सामने आया। उन्होंने कहा कि देशवासियों को जानकार हैरानी होगी कि अकेले रसोई गैस में इतने फर्जी नाम मिले, इतने फर्जी सिलेंडर दिए गए कि सुनकर पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। उन्होंने कहा कि जब हमने इन फर्जीवाड़े को ख़त्म किया तो करीब करीब 15 हजार करोड़ रूपया, जिसपर आपका हक था उसे हमने बचा लिया।

मोदी ने कहा कि अगर किसी के यहाँ रेड हो जाय और उसके यहाँ से 50 करोड़ रुपये भी मिल जाँय तो सभी अख़बारों में बड़ी हेडलाइन बन जाती है लेकिन हमने बड़ी मेहनत करके और योजना बनाकर देश के 15 हजार करोड़ बचा लिए जिसे देखकर मेरा देश कहेगा कि मोदी आपने सही काम किया।


इसे भी पढ़ें…

अत्यधिक पैमानों में सही पटरी पर मोदी सरकार


मोदी ने कहा कि आपको हैरानी होगी कि राशन कार्ड जिससे गरीबों के लिए सस्ते में अनाज मिलता है, कैरोसीन आयल मिलना है, उसकी थाली में जब चावल जाता है तो एक किलो पर 27 रूपया भारत सरकार के खजाने से जाता है और एक रुपये प्रति किलो उससे लिया जाता है लेकिन उस गरीब को यह बात पता नहीं है कि केंद्र सरकार उसके एक किलो चावल पर 27 रुपये खर्च कर रही है।

nn30516-03मोदी ने कहा कि अभी मेरा काम चल रहा है लेकिन जितना हुआ है अबतक, 1 करोड़ 62 लाख से भी ज्यादा फर्जी राशन कार्ड हमने खोजकर निकाले हैं। उन्होंने कहा कि उन राशन कार्डों पर जो भी राशन जाता था वह किसी के घर तो जाता था, कहीं तो बेईमानी होती थी, उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार ने एक DBT योजना के तहत एक मुहिम चलाई, मुझे बताया गया कि हरियाणा में फर्जी केरोसिन लेने वालों की संख्या 6 लाख निकली। इन 6 लाख लोगों के नाम पर सब्सिडी वाला केरोसिन जाता था, वो कैरोसिन कहाँ जाता होगा, डीजल में मिक्स करने के लिए जाता होगा, प्रदुषण करने के लिए जाता होगा, किसी केमिकल फैक्ट्री में जाता होगा। सरकार के खजाने से हजारों करोड़ रुपये गरीब के नाम से लूट लिया जाता होगा।

मोदी ने बताया कि 6 लाख केरोसिन कार्ड, 1 करोड़ 62 लाख राशन कार्ड फर्जी मिले हैं, अभी हमने इसी योजना के तहत एक राज्य में 540 करोड़ रुपये बचाए हैं, वहां पर फर्जी टीचर के नाम पर 1 हजार करोड़ रुपये की लूट रुक गयी है। ये भ्रष्टाचार हो रहा था लेकिन अब रुक गया है।


इसे भी पढ़ें…

कांग्रेस को दिखाये मोदी ने तारे


मोदी ने कहा कि हजारों करोड़ रूपया केवल एक वर्ष नहीं बल्कि हर वर्ष बचने वाला है। अभी तो यह शुरुआत है, एक नयी सुबह है, आगे तो बहुत कुछ होना है।

nn30516-07मोदी ने बताया कि कुछ लोग मुझसे कहते हैं, मुझे बहुत समझाते हैं कि मोदी जी आप इतना मेहनत करते हैं, काम में लगे रहते हैं तो रोज आपका विरोध क्यों होता रहता है, इतना तूफ़ान क्यों चलता रहता है, आप अपना कोई संपर्क नीति बनाओ, मीडिया से बात करो, अब ऐसे लोगों को मै कैसे समझाऊं कि भाई जिन लोगों की जेब में 36 हजार करोड़ रुपये जाता है उसे मोदी ने बंद करवा दिया तो मोदी गाली नहीं खाएगा तो क्या खाएगा।

मोदी ने कहा कि लूट चलाने वालों को कैसी कैसी परेशानियां होती होंगी इसका अंदाजा हम भली भाँती कर सकते हैं। मै कई ऐसे विषय बताता हूँ जिसमें हमने सटीक तरीके से काम किये हैं जिसका हमें आज परिणाम देखने को मिला है।

उन्होंने कहा कि आप देखिये, पहले LED Bulb कितने रुपये में मिलता था, आज कितने रुपये में मिलता है, कहीं पर 200, 300, 350 रुपये LED की कीमत थी लेकिन आज वह 60, 70, 80 रुपये में आ गया है।

उन्होंने कहा कि अगर हम किसी स्थान पर बिजली का कारखाना लगाएं और हम घोषणा करें कि 2 लाख करोड़ के बिजली के कारखाने लगेंगे, इस घोषणा को करने के बाद हमारे देश के सभी अखबार इसे हेडलाइन बनाएंगे कि मोदी ने बहुत भारी सपना देखा है कि दो लाख करोड़ के बिजली के कारखाने लगायेंगे। कोई यह भी लिखेगा कि मोदी बातें करता है लेकिन रुपये कहाँ से आयेंगे। ऐसी बहुत सी बातें हो सकती हैं लेकिन इस बात की चर्चा नहीं होगी कि LED बल्ब के अभियान के कारण जिन पांच सौ शहरों को हमने टारगेट किया है, अगर हम शत प्रतिशत LED पहुँचाने में सफल हो जाएंगे और हम सफल होने भी वाले हैं, जिन दिन भी यह काम पूरा होगा इस देश में करीबी करीब 20000 मेगावाट की बिजली बचने वाली है जिसका मतलब यह हुआ कि एक लाख करोड़ की बिजली बच जाएगी, मतलब देश का 1 लाख करोड़ रूपया जो बिजली का कारखाना लगाने में खर्च होना था वह बच गया।

nn30516-04उन्होने कहा कि 60-70 रुपये का LED बल्ब क्या कोई न्यूज का विषय हो सकता है क्या, उसमे क्या खबर है जी, न्यूज चैनल नहीं दिखाएगा। उन्होंने कहा कि हम लोग जो तेज गति से बदलाव ला रहे हैं, उसे यह देश अनुभव कर रहा है।

मोदी ने कहा कि पिछले चुनावों में एक चर्चा होती रहती थी कि गैस सिलेंडर 12 होने चाहियें कि 9 होने चाहियें, बड़े बड़े नेता घोषणा करते थे और अख़बारों में हेडलाइन बनती थी कि अब 9 की जगह 12 सिलेंडर दिए जाएंगे। ये नेता 9 सिलेंडर से 12 सिलेंडर करने के वोट मांगते थे। उन दिनों को याद कीजिये जब सांसदों को गैस सिलेंडरों के 25 कूपन मिलते थे और वो 25 कूपन से अपने साथियों और कार्यकर्ताओं को खुश करता था।

उन्होंने कहा कि जिस देश में सांसदों को गैस सिलेंडरों के 25 के मिलते थे उस देश के लोगों से हमने रसोई गैस की सब्सिडी छोड़ने का आग्रह किया और करीब करीब 1 करोड़ 13 लाख लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ दी।

हमने तय किया है कि आने वाले तीन वर्षों में हम पांच करोड़ लोगों को फ्री गैस कनेक्शन दे देंगे, हमने पिछले वर्ष 3 करोड़ लोगों गैस कनेक्शन दे दिया। जहाँ सांसदों को केवल 25 गैस सिलेंडरों के कूपन मिलते थे और उसे बहुत गर्व होता था उसी देश में हम 5 करोड़ लोगों को फ्री गैस कनेक्शन देने का ऐलान करते हैं।

*मोदी सरकार के दो साल का रिपोर्ट कार्ड  का  विश्लेषण :–*

दो साल में अनेको योजनाओं की शुरुआत की गयी है जिनका लाभ सीधा भारत की जनता को मिल रहा है।

*1-प्रधानमंत्री जन धन योजना*
*2-प्रधानमंत्री आवास योजना**
*3-प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना*
*4-प्रधानमंत्री मुद्रा योजना*
*5-प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना*
*6-प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना*
*7-अटल पेंशन योजना*
*8-सांसद आदर्श ग्राम योजना*
*9-प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना*
*10-प्रधानमंत्री ग्राम सिंचाई योजना*
*11-प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजनाये*
*12-प्रधानमंत्री जन औषधि योजना*
*13-मेक इन इंडिया*
*14-स्वच्छ भारत अभियान*
*15-किसान विकास पत्र*
*16-सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम*
*17-डिजिटल इंडिया*
*18-स्किल इंडिया*
*18-बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना*
*20-मिशन इन्द्रधनुष*
*21-दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना*
*22-दीन दयाल उपाध्याय* *ग्रामीण 23-कौशल्या योजना*
*24-पंडित दीनदयाल उपाध्याय श्रमेव जयते योजना*
*25-अटल इनोवेशन मिशन फंड
* 26-अर्बन ट्रांसफॉर्मेशन (अमृत योजना)*
*27-स्वदेश दर्शन योजना*
*28-पिल्ग्रिमेज रेजुवेनशन एंड स्पिरिचुअल ऑग्मेंटशन ड्राइव (प्रसाद योजना)*
*29-नेशनल हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑग्मेंटशन योजना (ह्रदय योजना)*
*30-उड़ान स्कीम*
*31-नेशनल बाल स्वछता मिशन*
*32-वन रैंक वन पेंशन (OROP) स्कीम*
*33-स्मार्ट सिटी मिशन*
*34-गोल्ड मोनेटाईजेशन स्कीम*
*35-स्टार्टअप इंडिया, स्टन्डप इंडिया*
*36-डिजिलोकर*
*37-इंटीग्रेटेड पावर डेवलपमेंट स्कीम*
*38-श्यामा प्रसाद मुखेर्जी* *रुर्बन मिशन*
*सागरमाला प्रोजेक्ट*
*39-‘प्रकाश पथ’ – ‘वे टू लाइट’*
*40-उज्वल डिस्कॉम असुरन्स योजना*
*विकल्प स्कीम*
*41-नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम*
*42-राष्ट्रीय गोकुल मिशन*
*43-पहल – डायरेक्ट बेनिफिट्स ट्रांसफर फॉर LPG (DBTL) कंस्यूमर्स स्कीम*
*44-नेशनल इंस्टीटूशन फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया (नीति आयोग)*
*45-प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना*
*46-नमामि गंगे प्रोजेक्ट*
*47-सेतु भारतं प्रोजेक्ट*
*48-रियल एस्टेट बिल*
*49-आधार बिल*
*50-क्लीन माय कोच*
*51-राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान – Proposed*
*52-प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना*

nn30516-11★ 1 भी घोटाला मोदी सरकार के किसी मंत्री ने किया नही है और सबसे महत्वपूर्ण है की 2 साल में पारदर्शी एडमिनिस्ट्रेशन दिया।
★ ना पैसा लिया ना लेने दिया जो चरितार्थ करता है की, “ना खाऊंगा ना खाने दूंगा।”
★ कई ऐसे घोटाले जो की UPA के समय में बाहर नही आये थे वो अब बाहर आ रहे है।
★ CBI, IB, NIA को स्वायत्त रूप से काम करने की छुट दी गई है।
★ प्रमाणिक और विद्वान रक्षा मंत्री पाकर भारतीय आर्मी का मोरल सबसे ऊपर है।
★युवा और महिलाओ की क्षमता को पहचाना और देश के विकास में उनकी सहभागीता बढ़ाने का अभिनव प्रयास किया।
★ भारतीय योग को विश्व में पहचान दिलाई और आयुष मंत्रालय द्वारा हमारे प्राचीन औषधीय वनस्पति शास्त्र को नई पहचान दी ।
और भी देखिये :-

1. जम्मू कटरा प्रोजेक्ट पिछले 10 सालो से बंद था उसे 1 साल में पूरा किया और आप जम्मू से माता वैष्णव देवी 20 रु में जा सकते हो। वर्ना टैक्सी वाले 400/500 रु लेते है।
2. आज तक भारत अरुणाचल में हाईवे नहीं बना सका, पर मोदी सरकार ने 1 साल में रोड बनाके पूर्ण किया (China के काफी विरोध के बाद भी).. और अरुणाचल प्रदेश को पूर्ण रूपसे भारत को जोड़ दिया।
3. आज भारत की अपनी navigation सिस्टम (IRNSS) है। ये मोदी की अबतक की सबसे बड़ी उपलब्धि है.. क्योंकी करगिल वॉर में अमेरिका ने भारत को GPS डाटा नहीं दिया था। आज भारत का अपना GPS लॉन्च हुआ है जिसका नाम है IRNSS.
4. अब तक 10,00,00,000 LED बल्ब वितरित किये गए, 21% बिजली बचत हो गयी है। 5. अब तक 7500+ गांव में बिजली पहुंचाई गयी। 6. इलेक्ट्रिसिटी निर्माण में 38% की बढ़ोतरी हुई.
7. रेलवे ट्रैक बनाने का काम कांग्रेस में 0.6 km/day होता था। मोदी सरकार का 3.4 km/day है। (8) रोड कंस्ट्रक्शन कांग्रेस में 3.7 km/day थी। मोदी सरकार 10.3 km/day है। सिर्फ 2 साल में 7063 km रोड बन चुकी है।
9. संजय गांधी निराधार योजना में केंद्र सरकार निराधार लोगो को 100 रु महीना देती थी ओ आज 600 रु महीना हो गया। 2014 तक वो पैसा केंद्र से राज्य सरकार को आता था और राज्य सरकार 3 महीने का गैप रखके वो पोस्ट के द्वारा निराधार व्यक्ति तक पहुँचाता था। (3 महीने वो पैसा हजारो करोड़ कौन और कंहा प्रयोग होता था नहीं पता)
मोदीजी ने 24 करोड़ बैंक अकाउंट खोले (गिनिस बुक वर्ल्ड रिकार्ड) और गरीब का पैसा सीधा बैंक अकाउंट में। 0 भ्रस्टाचार!
10. मुस्लिम बुनकर बनारस, कोल्कता, लखनऊ से एक यूनियन बनाई गई उनके माल का एक ब्रांड बनाया गया और वह ब्रांड अभी अमेरिका या यूरोपियन देशो में काफी महंगे भाव में बिकता है। फायदा बुनकरों को हुआ और देश को भी.
11. कैलास मानसरोवर का रास्ता 1962 से बंद था। मोदीजी के डिप्लोमेटिक वे से China ने वह रास्ता खोल दिया, अब यात्रा 24 घंटे में होती है पहले 93 घंटे लगते थे।
12. कोयला घोटाला कांग्रेस ने 230 कोयला खदाने 1,80,000 करोड़ में बेचीं थी। सारे कॉन्ट्रैक्ट सुप्रीम कोर्ट ने cancel किये… मोदी सरकार ने सिर्फ 24 खदाने 2,20,000 करोड़ में बेचीं…!
13. ये ऐसा पहला PM है जिसने पुरे देश के अंदर एक भावना जागृत की, की महिलाएं हमारी इज़्ज़त है और हम उन्हें खुले में शौच के लिए भेजते है. जिसे बीमारिया भी फैलती है. सिर्फ 2 साल में 7,00,00,000 टॉयलेट्स बन चुके है पुरे देश में । 14. मोदीजी ने स्कूल में बच्चियों के लिए टॉयलेट कम्पलसरी किये।
15. ये ऐसा पहला प्रधान मंत्री है जो जी तोड़ कोशिश कर रहा है की भारत को UN में स्थाई सदस्यता मिले।
16. अब तक ये सरकार पे कोई भ्रस्टाचार का दाग नहीं लगा।
17. congress के 65 सालो तक हमें भगतसिंह अशपक उल्लाह खान राजगुरु सुखदेव “आतंकवादी” करके पढ़ाया गया। पहली बार इतिहास सच्चा लिखकर इन्हे “शहीद” बताया.
18. महात्मा गांधी के बाद कोई पहला व्यक्ति आया जिसने बोला की स्वच्छ भारत होना चहिये। स्वछता अभियान की शुरूआत की।
19. आज तक ट्रांसपोर्ट देश के अंतर्गत मामले में रोड से या ट्रैन से या एयर से होता था पहली बार पब्लिक ट्रांसपोर्ट और गुड्स ट्रांसपोर्ट पानी के द्वारा हो रहा है।
जिसमे टाइम पैसा और अंतर कम हो गया है।
20. आज तक सिलेंडर की सब्सिडी अम्बानी को और हमको सामान थी, पहला PM जिसने बोला की आपको सब्सिडी की जरूरत नहीं है तो उसे वापस करिये।
लोगो में एक चेतना जगी और देखते देखते 1,32,00,000 लोगो ने सब्सिडी छोड़ दी।
21. इंडिया पाक बॉर्डर पर Laser Wall बैठाए गए।
22. स्वच्छ गंगा :- केमिकल इंडस्ट्रीज का पोलुटेड पानी अब गंगा में नहीं समाता है। जिससे 9 करोड़ लोगो को पिने का और खेती के लिए पानी उपलभ्ध हो गया
23. दलितों के ऊपर होनेवाले अत्याचारों का फैसला 60 दिनोके अंदर हो ऐसा पहली बार कानून बना।
24. भारत बांग्लादेश सीमा समजौता
25. इंडिया पहले पेट्रोल इंटरनेशनल मार्किट से खरीदता था जिसमे दलाली देनी पड़ती थी.., अब इंडिया 35 % से ज्यादा सऊदी से डायरेक्ट खरीदता है।
और 19 देशो के साथ क्रूड आयल इम्पोर्ट का इंडिया का कॉन्ट्रैक्ट सुषमा स्वराज ने किया है।
26…. 6 IIT और 3 IIM 2 साल में शुरू हो जायेंगे बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन काम शुरू है.
27. मेक इन इंडिया के माध्यम से अब तक भारत में 9,00,000 करोड़ का इन्वेस्टमेंट आ चूका है। जिसमे UAE का 4,00,000 करोड़ का है।
28. कांग्रेस सरकार में BSNL 10 साल में 8000 करोड़ Loss में था। मोदी सरकार में BSNL 2 साल में 672 करोड़ “प्रॉफिट” में है.
29. Congress एविएशन मंत्रालय 600 करोड़ प्रतिु माह Loss में था.., अभी नो लोस्स नो प्रॉफिट में है
30. देश की 17 रेलवे स्टेशन्स Wi Fi फ्री हुए है।
31. पहली बुलेट ट्रैन ट्रैक बनने का काम शुरू
32. वाराणसी 80 घाट एकदम स्वछ हो गया है।
33. जम्मू से कश्मीर अब सिर्फ 2 घंटे में सफर तय होगा हिमालय को सुरंग बनके ट्रैन हिमालय के निचे से जाएगी। सुरंग बनने का काम IRB कर रही है।
34. गरिब का और किसानो का बीमा २ लाख तक सिर्फ 20 रु में !
35… 3.5 करोड़ LPG बोगस कस्टमर को ढूंढ के निकल गया और उनके कनेक्शन्स कैंसल किये गए।
36… 6 करोड़ लीटर पानी पहुंचाया गया सुरेश प्रभु द्वारा महाराष्ट्र में !
37. स्किल इंडिया में 50000 तक लोन बिना किसी गारंटी के। 37,00,000 लोगो को अब तक लाभ मिल चूका है।
38. प्रोविडेण्ट फण्ड का अकाउंट परमानेंट कर दिया। अब आप कितनी भी कंपनी बदलो आपका PF अकाउंट एक ही रहेगा, बदलेगा नहीं।
39. डिजिटल इंडिया के तहत स्कूल में डिजिटल क्लास रूम का निर्माण.. अब तक 81,00,000 क्लास रूम डिजिटल हो चुकी है.
40. सरकार किसानो को यूरिया सब्सिडी देती थी, लेकिन वह यूरिया किसानो तक पहुंचने के बजाय केमिकल फैक्ट्रीज में जाता था.. मोदीजी ने उस का नीम कोटिंग करके उसे किसी काम का नहीं रखा वह सिर्फ खात ही उपयोग हो सकता है। भ्रस्टाचार की सम्भावनाएं ख़त्म कर दी. भ्रष्टाचार का सालाना 10,000 करोड रु बच गया..!

काले धन पर कार्यवाही

nn30516-09HSBC में जमा 6,000 करोड़ का आकलन पूरा, काला धन रखने वालों पर होगी कार्रवाई: जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने28 मई को कहा कि अवैध ढंग से धन रखने वालों के खिलाफ अभियोजन की कार्रवाई शुरू की जाएगी। काला धन रखने वालों और पनामा दस्तावेज में सामने आए नामों के मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने यहां मोदी सरकार के दो साल पूरे होने के मौके पर आयोजित एक समारोह में कहा, ‘पनामा मामले में जिनका नाम आया है, यदि उनके खाते में गैरकानूनी धन पाया जाता है तो उन पर एचएसबीसी खातों की तरह ही कार्रवाई की जाएगी।’ हाल में सामने आए ‘पनामा दस्तावेज’ में ऐसे सैंकड़ों भारतीयों के नाम हैं जिनकी कर चोरों की पनाहगाह स्थित इकाइयां में खाते हैं।

द हिंदू के मुताबिक जेटली ने कहा कि सरकार पिछले वित्त वर्ष के दौरान एक कानून लेकर आई है ताकि विदेश में जमा काले धन से निपटा जा सके और अब घरेलू काले धन पर ध्यान दे रही है। विदेश में जमा काले धन की समस्या से निपटने से जुड़े कानून के जरिए 4,000 करोड़ रुपए की वसूली हो सकती है।

dd-nationalजेटली ने कहा, ‘‘हमने स्विट्जरलैंड के साथ समझौता किया है और उन लोगों का ब्यौरा हासिल किया है जिनके एचएसबीसी में खाते हैं। हमने उन लोगों के आकलन का काम पूरा कर लिया है जिनके एचएसबीसी, स्विट्जरलैंड में खाते थे। हमने एचएसबीसी में जमा 6,000 करोड़ रुपये के काले धन का आकलन किया है। हमने उनके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया है।’’

मोदी के कामों का असर मेरे अनुमान से लगभग छह अथवा सात वर्षों के बाद दिखाई देखा। जब भ्रष्टाचार एवं साम्प्रदायिकता से ग्रस्त सरकारी तंत्र सभी को एक भारतीय के रूप में समझ कार्य करेगा। क्योंकि यह सरकार भी अभी पिछली सरकारों की भांति तुष्टिकरण को अपनाए हुए है। वैसे  इस विषबेल को समाप्त करना असम्भव तो नहीं है, परन्तु अभी बहुत कठिन है। हबीब पेंटर की एक कव्वाली है “बहुत कठिन है डगर पनघट की। … ” जब प्रत्येक हिन्दू,मुस्लिम,सिख एवं ईसाई एक धर्म नहीं बल्कि एक भारतवासी के नाते रहेंगा।आज मोदी राज से जनता को नहीं बल्कि भ्रष्टाचार और साम्प्रदायिक नीति अपनाने वालों को ही सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है।