प्रथम बार पिथौरागढ़ पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री

pith20417-1पिथौरागढ़। प्रथम बार जनपद पिथौरागढ़ पहुंचे प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा जनपद मुख्यालय में 18 करोड़, 16 लाख, 14 हजार रूपये की कुल 10 योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया गया जिसमें 10 करोड़, 18 लाख, 14 हजार रूपये की 07 योजनाओं का शिलान्यास एवं 7 करोड़, 98 लाख रूपये की लागत से निर्मित 3 योजनाओं का लोकार्पण किया गया। लोकार्पण कार्यक्रम के पश्चात् मा0 मुख्यमंत्री द्वारा लोनिवि निरीक्षण भवन में आयोजित जनता से भंेट कार्यक्रम मेें प्रतिभाग कर जनता की समस्याऐं सुनी एवं उनके समाधान के निर्देश जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को दिये।

जनता भेंट कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कुल 18 घोषणाऐं की जिनमें पिथौरागढ़ जलोत्सारण (सीवर) फेज-2 निर्माण की घोषणा, पिथौरागढ जल़ वितरण प्रणाली की घोषणा, गोरंगघाटी ग्राम समूह पेयजल निर्माण की घोषणा, बेस चिकित्सालय का कार्य पूर्ण कराये जाने की घोषणा, मेडिकल काॅलेज का कार्य प्रारम्भ कराये जाने की घोषणा, रई झील निर्माण की घोषणा, औद्यौगिक आस्थान का विकास कराये जाने की घोषणा, जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ में आई.सी.यू./ट्रामा सेण्टर का निर्माण कराये जाने की घोषणा, बी.डी. पाण्डे चिकित्सालय, पिथौरागढ़ में 50 अतिरिक्त शैय्याओं का निर्माण कराये जाने की घोषणा, थरकोट झील का निर्माण कराये जाने की घोषणा, गंगोलीहाट व धारचूला में वन विभाग का गेस्ट हाऊस निर्माण की घोषणा, गर्खा लिफ्ट पेयजल योजना-डीडीहाट का निर्माण कराये जाने की घोषणा, बुंगाछीना नगरोड़ा अलगड़ा मोटर मार्ग डामरीकरण कराये जाने की घोषणा, सुवालेख-रसैपाटा डामरीकरण कराये जाने की घोषणा, डा0 भीमराव अम्बेडकर पार्क व प्रेरणा केन्द्र बेरीनाग का निर्माण कराये जाने की घोषणा, कठपतिया कुनकू-धुर्चू मोटर मार्ग का निर्माण कराये जाने की घोषणा, गणाई-बासुकीनाग पेयजल योजना का निर्माण कराये जाने की घोषणा, गंगोलीहाट महाविद्यालय का राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में उच्चीकरण कराये जाने की घोषणा।

उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि हम जिन कार्यों की घोषणाओं कर रहे है उन पर निर्धारित समय पर सभी कार्य पूर्ण किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आम जनता की जरूरतमंद के जिनते भी कार्य होंगे उन्हें प्राथमिकता के साथ पूर्ण किया जाएगा। उन्होंने शिक्षा के सुधार के लिए कहा कि सरकार प्रत्येक के हर विद्यालय में अध्यापकों की व्यवस्था करा रही है। उन्होंने जिलाधिकारी पिथौरागढ़ को निर्देश दिए कि जनपद पिथौरागढ़ में कोई भी विद्यालय अध्यापक विहीन न हो, एक सप्ताह के भीतर शिक्षा विभाग के साथ बैठक कर समीक्षा कर ली जाए। मुख्यमंत्री श्री रावत जनता के बीच में जाकर उनकी समस्याओं से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि जनता भेंट कार्यक्रम में केन्द्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा ने उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए कि छोटी से बड़ी समस्त समस्याओं का समाधान सरकार द्वारा किया जायेगा तथा आवंलाघाट पेयजल योजना में अब तक 46 करोड़ रू0 की धनराशि खर्च की जा चुकी है तथा 5 करोड़ रू0 की धनराशि की अतिरिक्त आवश्यकता है।

मा0 केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि 5 करोड़ रू0 की धनराशि केन्द्र सरकार के माध्यम से तत्काल उक्त कार्य के निर्माण हेतु उपलब्ध करायी जायेगी तथा प्रस्तावित पंचेश्वर बांध में भविष्य में परिवहन की भी व्यवस्थ की जायेगी तथा एटीआर 42 पंतनगर-दिल्ली-पिथौरागढ़ को एयर कैनैक्टिविटी से जोड़ा जायेगा। उन्होंने पिथौरागढ़ हेतु सीवरेज योजना हेतु केंद्र सरकार से धन आवंटित करने की भी बात कही। वित्त, संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि जनता की समस्याओं के समाधान हेतु दुरस्थ क्षेत्रों में बहुउदेशीय शिविरों का आयोजन किया जाएगा साथ ही जनउपयोगी योजनाओं को प्राथमिकता देते हुए निर्धारित समय पर उन्हें पूर्ण कराया जाएगा। इस अवसर पर कृषि, उद्यान एवं जनपद प्रभारी मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि जनपद पिथौरागढ़ में विकास कार्याे को आगे बढ़ाया जाएगा वह स्वयं शीघ्र ही जनपद में आकर विकास कार्यों की समीक्षा बैठक लेंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने इस अवसर पर जनता को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार प्रदेश के विकास हेतु कटिबद्ध है, इसी सोच के साथ राज्य सरकार योजनाबद्ध ढंग से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार भय और भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने हेतु कार्य कर रही है। प्रदेश में जनता के जो भी आवश्यकीय कार्य होंगे उन्हें प्राथमिकता से पूर्ण कराया जाएगा।

भ्रमण के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा निर्माण शाखा उत्तराखंड पेयजल निगम द्वारा निर्मित कुल 05 पेयजल योजनाओं जिनमें खतीगांव पेयजल योजना का शिलान्यास, योजना की लागत 2668 लाख,रू0, बकसिल पेयजल योजना योजना की लागत 76.3लाख रू0,छाना पाण्डेय पेयजल योजना योजना की लागत 24.42 लाख रू0,गैठीगाड़ पेयजल योजना योजना की लागत 55.1 लाख रू0, खुना पेयजल योजना, योजना की लागत 64.14 लाख रू0 तथा ग्रा0 नि0 वि0 पी0एम0जी0एस0वाई0 डीडीहाट द्वारा निर्मित भट्टीगांव-क्वैराली मो0 मा0 स्टेज-2 का शिलान्यास योजना की लागत 1 करोड़, 84 हजार, 89 लाख रू0, एवं पी0एम0जी0एस0वाई0 खण्ड लोनिवि, पिथौरागढ़ द्वारा निर्मित ऐंचोली से स्यूनी मो0मा0 निर्माण स्टेज-1 एवं 2 का शिलान्यास योजना की लागत 5 करोड़, 86 लाख, 61 हजार रू0। इसके अतिरिक्त 7 करोड़, 98 लाख रूपये की लागत से निर्मित 3 योजनाओं का लोकार्पण किया गया जिनमें 434.22 लाख लागत की ग्रा.नि.वि., पी.एम.जी.एस.वाई. डीडीहाट की हलियाजाॅब से गराऊ मो.मा. स्टेज-1, 209.95 लाख लागत की उत्तराखण्ड जल संस्थान की धारचूला नगरीय पेयजल योजना का पुनर्वास एवं पुर्ननिर्माण कार्य, 153.83 लाख लागत की चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की मातृ-शिशु परिवार कल्याण केंद्र बलुवाकोट का भवन निर्माण सम्मिलित है ।

इस अवसर पर केन्द्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा, वित्त एवं पेयजल मंत्री प्रकाश पंत, कृषि मंत्री/जनपद प्रभारी मंत्री सुबोध उनियाल, विधायक डीडीहाट बिशन सिंह चुफाल, विधायक गंगोलीहाट मीना गंगोला, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, विधायक डीडीहाट विशन सिंह चुफाल, विधायक गंगोलीहाट मीना गंगोला, भाजपा प्रदेश के अध्यक्ष अजय भट्ट, जिलाध्यक्ष भाजपा वीरेन्द्र वल्दिया, जिलाधिकारी सी.रविशंकर, एसपी अजय जोशी, सीडीओ आशीष कुमार चैहार, अपर जिलाधिकारी मोहम्मद नासिर समेत अन्य जनप्रतिनिधि, जनमानस एवं  विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।