पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुए कई खुलासे

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में जिस सात वर्षीय बच्चे की हत्या की गई उसके पोस्टमार्टम से पता चला है कि उस पर यौन हमला नहीं किया गया और ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हुई। बच्चे के शव का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर दीपक माथुर ने कहा कि बच्चे के शरीर पर कट के दो निशान थे और नस काटी गई थी जिस वजह से वह मदद के लिए चिल्ला नहीं सका। उन्होंने कहा, ‘‘रिपोर्ट में दूसरी बात यह सामने आई है कि बच्चे की मौत अधिक खून बहने की वजह से हुई है। बच्चे पर कोई यौन हमला नहीं हुआ और उसके स्कूली ड्रेस पर वीर्य का कोई निशान भी नहीं मिला।’’ गुरुग्राम प्रशासन की ओर से गठित तीन सदस्यीय तथ्यान्वेषी समिति ने जिला आयुक्त विनय प्रताप सिंह को रिपोर्ट सौंप दी है। सिंह ने बताया, ”समिति को स्कूल की तरफ से कई खामियों का पता चला है।

मसलन, खिड़की टूटी हुई थी, कंडक्टरों और ड्राइवरों का पुलिस सत्यापन नहीं किया गया।’’ उधर, पुलिस ने बच्चे के दो सहपाठियों के बयान रिकॉर्ड किए हैं। गुरुग्राम की इस जघन्य घटना के बाद केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोगों से आग्रह किया कि भय का कोई माहौल नहीं होना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि उनका ‘विनम्र निवेदन’ है कि देश में लाखों में स्कूल हैं और ऐसे में ‘भय का माहौल’ नहीं बनाया जाना चाहिए और बच्चों का स्कूल जाना जारी रखना चाहिए।

उधर, हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि नियमों को ताक पर रखने वाले निजी स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। सरकार बच्चों के भविष्य को लेकर गंभीर है। नियमों का पालन करने के लिए स्कूलों को आदेश दिए गए हैं।