अपनी पहचान बनाने के लिए लोगों को आना होगाः सीएम

4पिथौरागढ़। प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत आज जनपद पिथौरागढ़ के तहसील विधान सभा क्षेत्र धारचूला के मदकोट पहंुचे। मदकोट में मुख्यमंत्री ने क्षेत्र की स्थानीय जनता के साथ मुलाकात की तथा उनका हाल जाना। मुख्यमंत्री हैलीपैड से सीधे मदकोट बाजार पैदल चलकर पहुंचे जहा उन्होंने स्थानीय लोगों से मुलाकात की तथा वार्ता कर उनके हाल जाने इसके उपरान्त् मुख्यमंत्री ने वन विकास निगम के अध्यक्ष हरीश धामी की पुत्री के विवाह समारोह में सिरकत कर नवदंपति को आर्शीवाद देकर उनके खुशहाल जीवन की मंगलकामना की।

मा0 मुख्यमंत्री ने विवाह समारोह में स्थानीय लोक संस्कृति पर आधारित कार्यक्रमों का भी आनन्द लिया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने स्थानीय व्यंजनों मड़वे की रोटी, लाइ की सब्जी, भट की चुड़कानी, गहत की दाल का स्वाद लेते हुए कहा कि पर्वतीय खान-पान को सरकार हर स्तर पर प्रोत्साहित कर रही है और उन्हें उम्मीद है कि जल्दी ही पर्वतीय खान-पान व व्यंजनों से देश-विदेश के लोग रूबरू होगें। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड की संस्कृति कला व शिल्प को बचाने के लिए सभी को एकजुट होकर प्रयास करना होगा।

उन्होंने कहा कि हमे यहां के व्यजंनों की अलग-अलग रेस्पी तैयार कर अपनी पहचान बनानी होगी इस हेतु समाज के अगवा लोगों को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार गांव से हो रहे पलायन को रोकने के लिए ग्रामीण स्तर पर अनेक विकास कार्य कराने के साथ ही गांव के उत्पादों को प्रोत्साहित कर रही है। इसके अतिरिक्त गांव में स्वरोजगार के संसाधनों को बढ़ाये जाने हेतु तेजी से कार्य किया जा रहा है।

इस अवसर पर उपस्थित अध्यक्ष विधान सभा उत्तराखण्ड गोविन्द सिंह कुंजवाल, पशुपालन, नगर विकास, होमगार्ड मंत्री प्रीतम पवार, उत्तराखण्ड कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, विधायक/संसदीय सचिव मनोज तिवारी, विधायक कपकोट ललित फर्सवाड़, मुख्यमंत्री के औद्यौगिक सलाहकार रणजीत रावत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राकेश शर्मा, अपर सचिव उद्योग आर राजेश कुमार, जिलाधिकारी नैनीताल दीपक रावत, अध्यक्ष जिला पंचायत पिथौरागढ़ प्रकाश जोशी, अध्यक्ष जिला पंचायत बागेश्वर, पूर्व संासद प्रदीप टम्टा, एसपी0 पिथौरागढ़ आर0एल0शर्मा, सीडीओ विनोद गोस्वामी, समेत विभिन्न अधिकारी, जनप्रतिनिधि, क्षेत्रीय जनता उपस्थित थे।