कुमाऊं विश्वविद्यालय में होगी योग से पीएचडी

स्नातक में भी योग विषय को एक अतिरिक्त विषय के रूप में चुन सकेंगे छात्र
  • कुमाऊं विश्वविद्यालय का एस एस जे परिसर योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा के वेलनेस सेंटर के रूप में होगा स्थापित,भारत सरकार ने दी सैदान्तिक स्वीकृति
डॉ नवीन भट्ट, विभागाध्यक्ष योग, कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल.

कुमाऊं विश्वविद्यालय से अब योग विषय में पीएचडी व स्नातक स्तर पर छात्र अब योग को अतिरिक्त विषय के रूप में चयन कर सकेंगे।कुमाऊं विश्वविद्यालय योग विभाग के अध्यक्ष डॉ नवीन भट्ट ने बताया कि प्रशासनिक भवन नैनीताल में हुई पाठ्यक्रम समिति व शोध समिति की बैठक में सर्वसम्मति से आगामी सत्र से योग विषय मे पीएचडी प्रारम्भ करने हेतु पाठ्यक्रम का निर्माण किया गया साथ ही आगामी सत्र से स्नातक में योग को एक अरीरिक्त विषय के रूप में प्रारम्भ करनेहेतु भी पाठ्यक्रम निर्माण किया गया।

जिससे अब कुमाऊं विश्वविद्यालय से पीएचडी व स्नातक में योग विषय एक अतिरिक्त विषय के रूप में छात्र ले सकेंगे।समिति ने सम्पूर्ण देश मे योग विषय के पाठ्यक्रमों में एकरूपता के उद्देश्य से योग एवं वैकल्पिक चिकित्सा की जगह इसका नाम योग विज्ञान में स्नात्कोत्तर डिप्लोमा व योग विज्ञान में स्नात्कोत्तर उपाधि करने का निर्णय किया।

इसके अतिरिक्त समिति द्वारा स्नातक ,स्नात्कोत्तर डिप्लोमा व स्नात्कोत्तर उपाधि का पाठ्यक्रम सीबीसीएस में स्वीकृत किया गया।योग विषय मे पीएचडी व स्नातक में योग विषय फिलहाल कुमाँऊ विश्वविद्यालय के एस एस जे परिसर में प्रारम्भ होगा।समिति द्वारा योग विभाग के उन्नयन हेतु अनेक निर्णय पारित किए गए।

योग विभागद्वारा केंद्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषदआयुष मंत्रालय,भारत सरकार द्वारा कुमाऊं विश्वविद्यालय के एस एस जे परिसर को योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा के वेलनेस सेंटर के रूप में स्थापित करने हेतु प्रस्ताव दिया गया था जिसे सैदान्तिक स्वीकृति भारत सरकार द्वारा दे दी गयी है।शीघ्र ही कुमाऊं विश्वविद्यालय के एस एस जे परिसर में स्वास्थ्य की दृष्टि से वेलनेस सेंटर स्थापित होगा।जिसमें समाज के आम लोगो की भी प्राकृतिक चिकित्सा की जा सकेगी।साथ ही योग के छात्र उपकरणों के साथ प्राकृतिक चिकित्सा में महारत हासिल कर सकेंगे।

समिति की बैठक में योग विभाग के समन्वयक प्रो देव सिंह पोखरिया,केंद्रीय योग एवम प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद, आयुष मंत्रालय के सहायक निदेशक डॉ राजीव रस्तोगी,कुमाऊं विश्वविधालय योग विभाग के अध्यक्ष डॉ नवीन भट्ट, डी एस बी परिसर के योग विभाग के प्रभारी प्रो डी एस बिष्ट,एमबीपीजी हल्द्वानी के योग प्रभारी प्रो विद्यालंकार मिश्रा, डॉ नीमा बोरा पडियार,डॉ मलिक प्रताप ,डॉ संजय सिंह आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply