पर्यटन में अव्वल देवभूमि

कसौनी : भारत के उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमाऊं मण्डल के बागेश्वर जिले का एक गाँव है कसौनी। दिल्ली से इस खूबसूरत जगह की दूरी बस 417 किलोमीटर की है और एक बार यहां आने के बाद आपका मन जल्दी जाने को नहीं करेगा। यहां के नजारे जल्द वापसी का आपसे वादा भी ले लेंगे।

पनगोट : यह खूबसूरत हिल स्टेशन नैनीताल जिले में स्थित है। जहां आपको लगेगा, आप किसी जन्नत में आ गए हैं।

कनातल : कनातल उत्तराखंड में मसूरी और चंबा के बीच में पड़ता है। यह बिलकुल शांत जगह है। यहां आप एडवेंचर कैम्प का भी लुत्फ उठा सकते हैं। कनातल बर्फ और हरियाली भरी पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यहां का नजारा मनमोहक होता है।

बिनसर : रोज की भागदौड़ से दूर जाना चाहते हैं तो दौड़ कर प्लान बना लें बिनसर जाने का। इस छोटे-से हिल स्टेशन के बारे में लोग कम ही जानते हैं। लिहाजा सुकून भरी छुट्टी के लिए यह जगह बेस्ट रहेगी।

लैंसडाउन : प्रकृति की गोद में कुछ समय बिताना चाहते हैं तो एक बार यहां जरूर जाएं। दिल्ली से इस हसीन वादियों वाली जगह की दूरी मात्र 279 किलोमीटर है।

मुनस्यारी : राज्य के पिथौरागढ़ जिले की छोटी सी जगह है मुनस्यारी जहां पर चारों तरफ बर्फ की चादर देखने को मिल जाएगी। कैम्पिंग और ट्रैकिंग के लिए जगह बेहतरीन है।

रानीखेत : यह दिल्ली से 279 किमी दूर व समुद्र तल से 1,869 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। रानीखेत आसपास के घने जंगलों, वन्य जीवों, झूला देवी मन्दिर, राम मन्दिर के लिए अत्यधिक प्रसिद्ध है। रानीखेत का वातावरण गर्मियों में सामान्य रहता है।

मसूरी : इसे लोग पर्वतों की रानी के नाम से भी जानते हैं, इसका प्राकृतिक सौन्दर्य व मनोरम जलवायु लोगों के आकर्षण का केन्द्र है। शिवालिक पर्वतमाला व दून घाटी इसे और भी सुन्दर व आकर्षक बनाती है। लोग यहां पर ट्रैकिंग, नौका विहार, रोपवे सवारी करने के लिए आते हैं।

हरिद्वार : हरिद्वार गंगा माँ और अपने घाटों व मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है, यह शहर अध्यात्म व धार्मिक महत्व के कारण त्योहारों में लोगों को बड़ी संख्या में आकर्षित करता है। शहर आयुर्वेदिक उपचार व योग के लिए भी प्रसिद्ध है। यह शहर अपने शाकाहारी भोजन के लिए भी जाना जाता है।

नैनीताल : उत्तराखंड का नैनीताल क्षेत्र भी पर्यटकों द्वारा काफी पसंद किया जाता है। यहां की नैना झील खासतौर पर आकर्षण का केंद्र है। नैनीताल से लगभग 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पनगोट क्षेत्र भी बर्फबारी के कारण काफी पसंद किया जाता है। इसके अलावा यहां आकर्षण का केंद्र यहां पाई जाने वाली लगभग 150 प्रकार की पक्षियों की प्रजातियां भी हैं।

औली : औली उत्तराखण्ड का एक खूससूरत क्षेत्र है। औली 5 से 7 किलोमीटर की रेंज में फैला एक स्की रिसोर्ट है। यहां का आकर्षण भी बर्फ से भरी चोटियां हैं। इसके अलावा यहां आपको बांज बुरांस और देवदार के पेड़ भी मिलेंगे। इससे आप हवा में बेहद ताजगी महसूस करेंगे।