स्वाति मालीवल के खिलाफ रेप पीड़िता की पहचान बताने पर केस दर्ज

RBL Nigamआरबीएल निगम, दिल्ली ब्यूरो चीफ

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के खिलाफ दिल्ली के थाने में एफआइआर दर्ज कराई गई है। एफआइआर रेप पीड़िता का नाम सार्वजनिक करने के आरोप में दर्ज की गई है। दिलचस्प पहलू यह है कि स्वाति ने पुलिस को जो नोटिस भेजा था, उसमें पीड़िता का नाम था। पुलिस ने इसी को आधार बनाकर स्वाति के खिलाफ रेप का शिकार हुई बुराड़ी की दलित बच्ची का नाम उजागर करने के लिए आइपीसी की धारा 228 ए के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पीड़िता की हो चुकी है मौत

lawदिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक 14 साल की रेप पीड़िता को पहले महिला आयोग, कोर्ट, लीगल सेल अथॉरिटी के सामने पेश किया गया था। तब उसने किसी भी तरह की ज्यादती की शिकायत नहीं की थी। महिला आयोग के सामने उसने अपनी मां के साथ अपने मतभेद की शिकायत की थी। मेडिकल जांच के बाद वो घर चली गई। मेडिकल जांच भी उसने पूरी नहीं कराई। उसके एक महीने बाद उसे भर्ती कराया गया। आंतरिक चोटों के चलते शनिवार को उसकी मौत हो गई।

आइपीसी की धारा 228 के तहत केस दर्ज

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि आइपीसी की धारा 228 के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि डीसीडब्लू की प्रमुख ने एसएचओ को जो नोटिस भेजा उसमें रेप पीडि़ता का नाम का जिक्र किया गया था। उन्होंने बताया कि एफआईआर में यह भी लिखा गया है कि नोटिस वाट्स ग्रुप पर भेजा गया और न्यूज चैनल पर भी दिखाया गया।