पानी का हाहाकार,ज़िम्मेदार कौन?

आर.बी.एल.निगम

RBL Nigamदिल्ली से लेकर कश्मीर और कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी, जहाँ देखो पानी की हाहाकार मची हुई है। कहीं सूखा। कहीं सूखती नदियाँ।कहीं ज़मीन के नीचे पानी का गिरता स्तर। भारत में न विद्दानों की कमी हैं और न ही वैज्ञानिकों की। वैसे शोधकर्ताओं की भी कमी नहीं।

भारत में जितने टैक्स लिए जाते हैं शायद ही कहीं और वसूले जाते हों। जब भी देश में किसी भी स्तर पर चुनाव होते हैं, उसमें मुख्यः वायदे होते हैं :एक,पीने का पानी ;दो, सस्ती बिजली ; तीन,तेज़ भागते बिजली के मीटरों से मुक्ति; चार,बढ़ती महंगाई पर लगाम;पांच, रोज़गार आदि आदि। वोट पड़ते ही सत्ता हो या विपक्ष सभी भूल जाते हैं कि जनता से क्या वायदे किये थे। खैर, यह राजनीति का खेल है।

लेकिन इन वायदों में पानी अति महत्वपूर्ण हैं। जिसके मनुष्य तो क्या किसी पशु-पक्षी का भी जीवित रहना कठिन क्या असम्भव है। सरकार के सामने ऐसी कौन सी समस्या है किसी जनता पानी से तड़प रही है। मैं किसी विशेष क्षेत्र या राज्य की बात नहीं कर रहा। इसका निर्णय नगर निगम से लेकर केन्द्र सरकार को करना है।

जिस नेता को देखिये अपनी राजनीति चमकाने में व्यस्त है। चैनल भी राजनीतिक मुद्दों पर चौपाल लगाकर अपनी टीआरपी बढ़ाने में व्यस्त हैं। लेकिन इस बात पर किसी भी चैनल में चौपाल( ये डिबेट वगैरा ) बैठाने और न ही अन्ना एंड कम्पनी में साहस की आन्दोलन करें  या भूख हड़ताल करने का साहस।

सरकार किसी की भी हो ,जो जनता को स्वच्छ पीने योग्य जल नहीं दे सकती, उसे सत्ता में रहने का कोई अधिकार भी नहीं। क्या किसी नेता ने इस बात पर ध्यान दिया की “नदियाँ क्यों सूख रही हैं ?” या “जल स्तर क्यों कम हो रहा है ? “

यदि सरकार जनता को शुद्ध पीने योग्य पानी दे, शायद किसी को घर पर वाटर फ़िल्टर लगाने की जरुरत पड़े। अगर सरकार अपने स्तर पर स्वच्छ पीने योग्य पानी उपलब्ध करवाती है तो नदियों का स्तर उतनी तेजी से नीचे नहीं आएगा जितनी तेजी से आज नीचे आ रहा है। सरकार जनता से अधिक जल प्रयोग करने के नाम पर अधिक बिल वसूल कर रही है, परन्तु इस ओर ध्यान नहीं दे रही कि हर घर में आर.ओ. के माध्यम से कितना पानी नालिओं में बह रहा है। और नाली में गया पानी किसी काम का नहीं होता।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि इसके लगातार सेवन से हृदय संबंधी विकार, थकान, कमजोरी, मांसपेशियों में ऐंठन, सिरदर्द आदि दुष्प्रभाव पाए गए हैं , यह कई शोधों के बाद पता चला है कि इसकी वजह से कैल्शियम, मैग्नीशियम पानी से पूरी तरह नष्ट हो जाते हैं जो कि शारीरिक विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है॥

” राजीव भाई हमेशा सच कहते थे RO पानी की क्वालिटी नहीं मेन्टेन करता है बल्कि आपके जल के भीतर मौजूद मिनिरल को कम कर देता है ।

आपके घर पर जो भी सर्विस इंजिनियर आते हैं , उनसे पूंछिये कि कितने टीडीएस का जल पीना चाहिए तो बोलेंगे 50 टीडीएस का । RO कहाँ लगाना चाहिए तो कहेंगे कि आप लगवाइये हम पड़ोस में लगाकर गए हैं ।

सरकारी लापरवाही के कारण गिरता  स्तर

pani-ka-hahakar11आर.ओ. से प्रतिदिन खाने-पीने का लगभग 20 लीटर पानी भरने में लगभग 35 लीटर पानी नाली में बहता है। यह एक चार सदस्यों के परिवार में व्यर्थ होते पानी की स्थिति है। और देश में कितने लाख, करोड़ नहीं, आर.ओ. प्रयोग में होंगे। इसी को आधार बनाकर अगर चिंतन किया जाये तो आसानी से गणना की जा सकती है कि प्रतिदिन कितने हज़ार-करोड़ लीटर पानी की बर्बादी हो रही है। और इस बर्बादी के लिए कोई और नहीं सरकार स्वयं ज़िम्मेदार है। सरकार की लापरवाही के ही कारण ज़मीन और नदियों का  जल स्तर तेज़ी से गिर रहा है। जनता से पानी बचाने की अपील करने पर जो सरकारी धन खर्च होता है, वह अलग , किसी गिनती में नहीं। जनता को स्वच्छ पानी देने के नाम पर सरकारी उपक्रम पर जो खर्च हो रहा सो अलग।

कुछ दिन पूर्व किसी न्यूज़ पोर्टल पर पढ़ रहा था कि 80 देशों ने आर.ओ. प्रतिबंधित किया हुआ है। गूगल पर सर्च करने पर देखा कि वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन की रिपोर्ट भी संतोषजनक नहीं है। आखिर फिर क्या विवशताएँ हैं, जो सरकार जनता को ऐसा पानी पीने को बाध्य कर रही है।

प्रस्तुत हैं गूगल से उदृत निम्न लेख :-

W.H.O. PROOF THAT R.O. WATER IS BAD FOR YOUR HEALTH UNLESS IT IS REMINERALIZED
JANUARY 5, 2013FEATURED144 COMMENTS

I can’t begin to tell you how much pleasure it gives me to write this article. I will never forget being severly chastized a few years ago by a senior executive of a company that sells thousands of RO systems per year for “not knowing what I’m talking about” and that my challenge to him and the industry about RO water being unhealthy was “preposterous”. At the time of the meeting I was not equipped to fend off his accusations because I hadn’t put in the research that I have now.

Despite being torn to shreds by the marketing executive at the meeting, I never believed the RO industry claim that it didn’t matter if their systems removed everything from the source water because the human body couldn’t absorb inorganic molecules anyway. After all, most of the supplements that are available on the market are inorganic, which means that either the RO industry was protecting its “ass-ets” or the entire supplement industry was a scam.

The RO industry has been disseminating inaccurate (that’s about as politically correct as I can get) information for years. Doctors and other health care professionals have unwittingly been endorsing the “RO water is the best drinking water” message for years which makes the myth worse because we trust these people with our health.

Proof that RO water is unhealthy

pani-ka-hahakarI could write about the dozens of interviews I have conducted with water industry experts and biochemists, or about the hundreds of scientific articles I have reviewed but nobody would take the time to read it. In order to keep things brief, I offer two sources of evidence that unequivically reveal the fact that the water produced by RO systems is bad for your health if you drink the water over the long term.

The American government’s online health website www.pubmed.gov is an arm of the National Institutes of Health. The site offers a collection of:……
Reverse Osmosis Water
Health Advantages & Disadvantages
Nancy Hearn, CNC

glass of purified water
20
The popularity of reverse osmosis water (R.O. water) has steadily grown since it was first introduced as a home water purification system in the 1970s.

In addition, the type of treated water most often used by bottled water companies is reverse osmosis water.

The R.O. water purification method involves forcing water through a semi-permeable membrane, which filters out a select number of water contaminants, depending on the size of the contaminants.

In general, if the contaminants are larger in size than water molecules, those contaminants will be filtered out. If the contaminants are smaller in size, they will remain in the drinking water.

Key Health Advantage

Many years ago I drank reverse osmosis water almost exclusively, believing that it was the best drinking water. However, since then I have discovered (through personal experience and research) that the health disadvantages outweigh the advantages.

The main health advantage R.O. water has over tap water is that an R.O. system removes some unhealthy contaminants.

A good R.O. system can remove contaminants such as arsenic, nitrates, sodium, copper and lead, some organic chemicals, and the municipal additive fluoride.

A Few Disadvantages

You might be interested to know that reverse osmosis was actually developed as a water treatment method over 40 years ago. The process was used primarily to de-salinate water.

The following are three of the main disadvantages of drinking R.O. water:

1. The water is demineralized.

Since most mineral particles (including sodium, calcium, magnesium, magnesium, and iron) are larger than water molecules, they are removed by the semi-permeable membrane of the R.O. system.

Even though you may find some contradictory information online about the health benefits of reverse osmosis water, I am convinced that drinking de-mineralized water is not healthy.

The World Health Organization conducted a study that revealed some of the health risks associated with drinking demineralized water.

Just a few of the risks include gastrointestinal problems, bone density issues, joint conditions, and cardiovascular disease. (See reference below to review the WHO study online.)

Removing the naturally occurring minerals also leaves the water tasteless. Many people thus have to add liquid minerals to their R.O. water to improve the taste.

2. The water is usually acidic.

One of the primary reasons R.O. water is unhealthy is because removing the minerals makes the water acidic (often well below 7.0 pH). Drinking acidic water will not help maintain a healthy pH balance in the blood, which should be slightly alkaline……

Disadvantages of Reverse Osmosis Water Systems.
Reverse Osmosis water systems contain virtually no trace minerals that our body requires for good health.

Traditionally we have always consumed water with minerals in it. Stripping water of all minerals is not natural and we don’t know what the long term effects of drinking reverse osmosis water will be.

We do know that fresh water fish are known to die if you put them in pure reverse osmosis water. Although reverse osmosis water systems are recommended by aquarists, water changes need to be done gradually. If reverse osmosis water is used in fish tanks, the fish can obtain minerals  from plants, rocks, gravel, corral, and trace minerals in aquarium salt.

Since fish die in pure water without minerals, we need to ask ourselves what the water is doing to the cells inside our body when we drink it. Some people call reverse osmosis water ‘dead water’. There’s absolutely nothing good  in the water.

If a reverse osmosis system is working properly and all the minerals are removed, then the water should be acidic. Or blood pH is slightly alkaline at 7.365.

Reverse osmosis water is also oxidizing or ‘aging’. Oxidation causes living cells to age and die. The oxidation in reverse osmosis water can be measured with oxidation reduction potential (ORP) meter.

Lastly, reverse osmosis water without minerals does not taste as good as mountain spring water that’s rich in trace minerals. Water soluable minerals give water it’s ‘taste’.

Recommendations If You Drink Reverse Osmosis Water.
Maintain your system. Change the filters and membrane according to manufacturer specifications.
Add trace minerals to the water  or supplement with minerals with caution. *
* Although supplementation with trace minerals, or adding trace minerals to reverse osmosis water seems to be the best solution, a little bit of knowledge can be dangerous. Trace mineral drops an

Ro water is very harmfull for our body WHO report About RO water3

पानी माफिया सक्रिय

किसी अन्य व्यापार से कहीं अधिक मिनिरल पानी का व्यापार फलफूल रहा है। लगभग हर मोड़ एवं एक किलोमीटर में दो-तीन खोके केवल पानी बेचते हुए ही देखे जा सकते हैं। आपके घर अगर सरकारी पानी नही आया, फ़ोन पर वाटर कैन आपके घर पहुँच जायेगा। किसी सोसाइटी में पानी नहीं आया पानी सप्लायर को फ़ोन किया घंटाभर में टैंकर सोसाइटी के प्रवेश द्वार पर पहुँच जाएगा। कुछ वर्ष पूर्व कोका कोला के विरुद्ध चल रहे अभियान के दौरान इस कंपनी को गाज़ियाबाद स्थित किनले पानी का प्लांट ही चला रहा था। जो सिद्ध करता है कि पानी माफिया कितना फलफूल रह है। अभी कुछ दिन से दिल्ली पानी के त्रस्त चल रही है। लेकिन पानी माफिया के पास पानी की कोई कमी नहीं। जब सरकारी भंडार में पानी नहीं, इनके पास कहाँ से आ रहा है ? क्या नेताओं का इन पानी माफिया से सांठगांठ है ? मज़े की बात तो यह है कि कल तक जो दूध की दुकानें थीं आज पानी बेच रही हैं।

सोसाइटी द्वारा जब फ्लैट्स में पानी के लिए बोरिंग करवाई जाती है पुलिस से लेकर सरकारी अधिकारियों को रिश्वत दिए बिना (खासतौर पर पुलिस जिप्सी और बीट) कुछ करवा ही नहीं सकते। पुलिस भ्रष्टाचार का तो सभी जगह बुरा हाल है। अपने हैदराबाद प्रवास में देखा कि टेलीकॉम नगर, गचिबौली, तेलंगाना, में किसी न किसी सोसाइटी में बोरिंग होती रहती है। 4,000 रूपए पुलिस जिप्सी को देने होते हैं। आधे बोरिंग शुरू होने का शगुन और आधे पानी आने का शगुन के रूप में। सरकारी पानी के सुचारु व्यवस्था नहीं।

जहां एक तरफ एशिया और यूरोप के कई देश RO पर प्रतिबंध लगा चुके हैं वहीं भारत में RO की मांग लगातार बढ़ती जा रही है और कई विदेशी कंपनियों ने यहां पर अपना बड़ा बाजार बना लिया ।


यहां क्लिक करें और वीडियो देखें।

Click Here